अन्य
    Saturday, March 2, 2024
    अन्य

      जदयू-रालोसपा घुलन तय, पत्नी को विधान परिषद में रख राज्यसभा जाएंगे उपेन्द्र कुशवाहा !

      पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज़)। कभी नीतीश सरकार के खिलाफ ‘शिक्षा बचाओ रैली’ निकालने वाले उपेन्द्र कुशवाहा एक दशक बाद आखिरकार घर वापसी करने जा रहे हैं।

      उनकी पार्टी रालोसपा का जदयू में विलय की शुभ घड़ी आ ही गई। रविवार को रालोसपा का विधिवत विलय जदयू में हो जाएगा।

      इसके साथ ही उपेन्द्र कुशवाहा जदयू का हिस्सा बन जाएंगे। इतना ही नहीं  उपेन्द्र कुशवाहा की पत्नी स्नेहलता को जदयू का स्नेह भी मिलने की संभावना है।  जदयू कार्यालय में विलय की सारी तैयारी पूरी कर ली गई है।

      जदयू में विलय से पहले रालोसपा की बैठक हुई, जिसमें उपेन्द्र कुशवाहा की पत्नी समेत दल के की नेता भी सम्मिलित हुए। दल के नेताओं ने उन्हें फैसला लेने के लिए अधिकृत किया है।

      कहा जा रहा है कि रालोसपा प्रमुख फिलहाल बिहार की राजनीति में नहीं आना चाह रहे हैं। उनकी नजर राज्यसभा सीट पर है। जदयू में शामिल होने के बाद उन्हें यह सीट मिलने की उम्मीद है।

      वहीं राजनीतिक चर्चा है कि पेन्द्र कुशवाहा की पत्नी स्नेहलता राज्यपाल कोटे से विधान परिषद की सदस्य बनकर विधान परिषद में जा सकती हैं। साथ ही उन्हें मंत्री पद भी मिलेगा। ऐसी अटकलें है कि स्नेहलता को शिक्षा मंत्री का पद दिया जा सकता है।

      उपेन्द्र कुशवाहा ने जदयू से अलग होने के बाद ‘नवनिर्माण मंच’ का गठन किया था। बाद में वह एनसीपी में भी गए। 2013 में उन्होंने “राष्ट्रीय लोक समता पार्टी” का निर्माण किया।

      जदयू में विलय के बाद रालोसपा के अन्य नेताओं को भी जदयू में महत्वपूर्ण पद देने की कवायद चल रही है। इससे पहले जदयू में विलय की खबर के बाद रालोसपा के की बड़े नेता राजद का दामन थाम लिए थे।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      - Advertisment -
      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      - Advertisment -
      error: Content is protected !!