अन्य
    Friday, March 1, 2024
    अन्य

      चंपारण के इन महत्वपूर्ण स्थलों को राष्ट्रीय धरोहर घोषित कर संरक्षित करे सरकार

      बेतिया (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। भारत की स्वाधीनता आंदोलन से जुड़े चंपारण के महत्वपूर्ण स्थलों विशेष रुप से ऐतिहासिक हजारीमल धर्मशाला , ऐतिहासिक राज इंटर कॉलेज एवं ऐतिहासिक मीना बाजार को आजादी का अमृत महोत्सव वर्ष पर राष्ट्रीय धरोहर घोषित कर संरक्षित करे सरकार।

      राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के नेतृत्व में चंपारण सत्याग्रह के समय 10,000 से ज्यादा किसानों एवं श्रमिकों द्वारा ऐतिहासिक हजारीमल धर्मशाला एवं ऐतिहासिक ऐतिहासिक राज इंटर कॉलेज के प्रांगण में नील की खेती के अभिशाप एवं अंग्रेजों के अत्याचार के विरुद्ध लामबंद होकर चंपारण जांच कमेटी के समक्ष महात्मा गांधी के नेतृत्व में बयान दर्ज कराए जाने की 105 वर्ष पूर्ण होने की वर्षगांठ पर सत्याग्रह रिसर्च फाउंडेशन एवं विभिन्न सामाजिक संगठनों द्वारा सत्याग्रह रिसर्च फाउंडेशन के सभागार सत्याग्रह भवन में एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया ।

      इस अवसर पर सर्वप्रथम राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, कस्तूरबा गांधी ,राजकुमार शुक्ल, पीर मोहम्मद मुनीश, शेख गुलाब, शीतल राय ,बाबा खेनर राव, अकलू देवान, शेर मोहम्मद एवं चंपारण सत्याग्रह के उन हजारों स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई, जिन्होंने नील की खेती के अभिशाप एवं अंग्रेजों के अत्याचार के विरुद्ध 16 जुलाई 1917 को ऐतिहासिक हजारीमल धर्मशाला एवं 17 जुलाई 1917 को ऐतिहासिक राज इंटर कॉलेज के प्रांगण में 10,000 से अधिक किसानों एवं मजदूरों ने अपना बयान चंपारण जांच कमेटी के समक्ष महात्मा गांधी के नेतृत्व में दर्ज कराया था। इसमें मीना बाजार के व्यवसायियों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए अंग्रेजों के अत्याचार के विरुद्ध बयान देने वाले स्वतंत्रता सेनानियों की हर तरह से मदद की थी।

      इस अवसर पर स्वच्छ भारत मिशन के ब्रांड एंबेसडर सह सचिव सत्याग्रह रिसर्च फाउंडेशन डॉ एजाज अहमद अधिवक्ता ,डॉ सुरेश कुमार अग्रवाल चांसलर प्रज्ञान अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय झारखंड, डॉ शाहनवाज अली, अमित कुमार लोहिया, वरिष्ठ अधिवक्ता शंभू शरण शुक्ल, सामाजिक कार्यकर्ता नवीदू चतुर्वेदी, पश्चिम चंपारण कला मंच की संयोजक शाहीन परवीन ने संयुक्त रूप से सरकार से मांग करते हुए कहा कि देश आज भारत की स्वाधीनता की 75 वीं वर्षगांठ आजादी का अमृत महोत्सव वर्ष मना रहा है। इस मौके पर सरकार भारत की स्वाधीनता आंदोलन से जुड़े चंपारण के महत्वपूर्ण स्थलों विशेष रुप से ऐतिहासिक हजारीमल धर्मशाला, ऐतिहासिक राज इंटर कॉलेज एवं ऐतिहासिक मीना बाजार को  राष्ट्रीय धरोहर घोषित कर संरक्षित करे। 

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      - Advertisment -
      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      - Advertisment -
      error: Content is protected !!