अन्य
    Thursday, May 30, 2024
    अन्य

      सुशासनः बालू माफियाओं ने खनन अधिकारी समेत पुलिस बल को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा !

      एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क (बांका लाइव)। बिहार के बांका से इस वक्त एक बड़ी खबर है। बांका के दुस्साहसी बालू माफियाओं ने अवैध बालू कारोबार के खिलाफ कार्रवाई करने गए खनन विभाग के एक अधिकारी और पुलिस बल पर हमला कर दिया।

      बालू माफियाओं और उनके गुर्गों ने खनन अधिकारी एवं पुलिस बल के जवानों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा तथा उनके वाहन को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। इस घटना के बाद बांका के प्रशासनिक महकमे में खलबली मच गई है।

      बताया गया कि खनन विभाग की टीम एक विभागीय पदाधिकारी एवं सुरक्षा बलों के साथ बुधवार को सबेरे नियमित गश्ती पर निकली थी। इस दौरान बाराहाट- रजौन मार्ग पर टीम ने एक बालू लोड ट्रक को पकड़ा।

      इसके बाद मिली सूचना के आधार पर यह टीम बालू के अवैध कारोबार की टोह लेने बाराहाट प्रखंड के मिर्जापुर गांव की ओर बढ़ी। इस दौरान एक बालू लोड ट्रैक्टर उधर से गुजर रहा था। जिसके चालक ने खनन विभाग की टीम को देख लिया। खनन विभाग की टीम को देखते ही चालक ट्रैक्टर को खड़ा कर भागने लगा।

      लेकिन बालू माफियाओं का दुस्साहस देखिए कि वहां पहले से खड़े कुछ बालू तस्करों ने खनन पदाधिकारी एवं सुरक्षा बलों को देखकर उनकी गाड़ी रोक दी और उनसे उलझ गए।

      इसी दौरान बड़ी संख्या में अन्य बालू कारोबारी भी वहां पहुंच गए तथा उन्होंने खनन विभाग के अधिकारी एवं सुरक्षाकर्मियों पर हमला कर दिया। पहले तो उन्होंने उनके साथ दुर्व्यवहार किया, फिर उनके साथ मार पिटाई शुरू कर दी।

      स्थानीय सूत्रों के मुताबिक जब खनन अधिकारी एवं सुरक्षा बलों ने वहां से निकलने की कोशिश की तो बालू माफियाओं ने उन्हें दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। इस हमले में होमगार्ड के एक जवान के जख्मी होने की भी खबर है।

      हमलावर बालू माफियाओं ने खनन अधिकारी के वाहन को भी लाठी डंडे से मार मार कर बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया। बालू माफियाओं के हमले में किसी तरह अपनी जान बचाकर खनन विभाग के पदाधिकारी एवं सुरक्षा कर्मी वहां से निकले तथा घटना की सूचना अपने वरीय पदाधिकारियों को दी।

      पुलिस पदाधिकारियों के मुताबिक इस मामले में बाराहाट थाना को हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए छापामारी करने का आदेश दिया गया है। हालांकि अब तक किसी की गिरफ्तारी की खबर नहीं है।

      खास बात है कि जिले में बालू माफियाओं के दुस्साहस की वजह से इतनी बड़ी घटना हो गई, लेकिन सबेरे से ही इस मामले में घटना को लेकर यहां कन्फ्यूजन की स्थिति बनी रही।

      बुधवार को सुबह से ही यहां इस बात की चर्चा रही कि बालू माफियाओं ने हमला जिला खनन पदाधिकारी संजय कुमार और उनके साथ गए सुरक्षा दस्ते पर किया है। कई न्यूज़ प्लेटफार्म पर इस तरह की खबरें भी चलाई गईं।

      हालांकि अब जिला खनन पदाधिकारी संजय कुमार ने स्पष्ट किया है कि मिर्जापुर में बालू माफियाओं ने उनपर नहीं, बल्कि माइनिंग इंस्पेक्टर अवधेश कुमार तथा उनके साथ गए सुरक्षा बालों पर की है। इस बात की पुष्टि माइनिंग इंस्पेक्टर अवधेश कुमार ने भी की है।

      उन्होंने बताया कि जब बालू माफियाओं ने उन पर और सुरक्षाबलों पर हमला किया उस वक्त माइनिंग अफसर संजय कुमार वहां नहीं थे। इस बीच इस घटना की रिपोर्ट बुधवार को अपराह तक थाना में दर्ज नहीं हो सकी थी।

       

      2 COMMENTS

      Comments are closed.

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!