अन्य
    Sunday, June 16, 2024
    अन्य

      गया इवनिंग कॉलेज के प्रिंसिपल ने किया था बीपीएससी पीटी का पेपर लीक, गिरफ्तार

      गया (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)।  बीपीएससी की पीटी का प्रश्न पत्र गया के डेल्हा राम शरण सिंह इवनिंग कॉलेज के प्रिंसिपल शक्ति कुमार ने लीक किया था। परीक्षा के दिन वह केन्द्राधीक्षक की भूमिका में था और सुबह सेंटर पर प्रश्न पत्र पहुंचते ही उसने उसे मोबाइल एप से स्कैन कर लीक कर दिया था।

      ईओयू की एसआईटी ने गया में छापेमारी के बाद शक्ति कुमार को गिरफ्तार कर लिया। 67वीं बीपीएससी पेपर लीक में यह सबसे बड़ी गिरफ्तारी है। अभी तक यह बड़ा सवाल था कि प्रश्न पत्र लीक किसने किया था, जिसे ईओयू ने सुलझा लेने का दावा किया है।

      हालांकि ईओयू शक्ति के लिंक को खंगाल रही है और यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि और कौन लोग हैं, जो इस खेल का हिस्सा हैं।

      शक्ति ने कपिलदेव नाम के जिस शख्स को पेपर भेजा था, वह इलाहाबाद में केन्द्र सरकार के कार्यालय में क्लर्क है और बिहार के गया का रहने वाला है। कपिलदेव भी पीटी दे रहा था। फिलहाल वह फरार है।

      शक्ति ने स्वीकार किया है कि उन्होंने ही डॉक स्कैनर मोबाइल एप के माध्यम से पेपर का सी सेट स्कैन किया था और कपिलदेव को व्हाट्सएप के जरिए भेजा था।

      सिर्फ कपिलदेव से ही बात करता था प्रिंसिपल शक्ति कुमारः ईओयू के सूत्रों के अनुसार राम शरण सिंह इलनिंग कॉलेज में प्रश्न पत्र पहुंचने के साथ ही प्रिंसिपल शक्ति कुमार ने उसे मोबाइल एप से सुबह करीब सवा दस बजे स्कैन कर लिया था और साढ़े 10 बजे कपिलदेव को व्हाट्सएप पर भेज दिया था।

      दिलचस्प यह है कि कपिलदेव खुद भी बीपीएससी की पीटी दे रहा था और उसका सेंटर डुमरांव था।

      ईओयू के सूत्रों के अनुसार जांच में यह बात सामने आई है कि प्रिंसिपल शक्ति कुमार बेहद चालाक है और वह सिर्फ कपिलदेव से ही बात करता था। वह कपिलदेव के लगातार संपर्क में था और तकनीकी जांच के दौरान उसकी भूमिका सामने आई।

      ऐसे काम कर रही थी प्रश्न पत्र लीक की पूरी चेनः राम शरण सिंह इवनिंग कॉलेज के प्रिंसिपल शक्ति कुमार ने कपिलदेव को प्रश्न पत्र भेजा। कपिलदेव ने दिल्ली में काम कर रहे गैंग को भेजा।

      इलाहाबाद में तैनात क्लर्क और दिल्ली से गिरफ्तार किए गए गैंग के शातिर एक कॉमन फ्रेंड के जरिए तीन साल से संपर्क में थे।

      प्रश्न पत्र लीक मामले में वांटेड बिहार के एनआईटी से पासआउट पिंटू यादव गिरोह को दिल्ली से गिरफ्तार गैंग ने प्रश्न पत्र सप्लाई की।

      सेंटर पर तैनात मजिस्ट्रेट से भी पूछताछ करेगी ईओयूः ईओयू के सूत्रों के अनुसार राम शरण सिंह इवनिंग कॉलेज में बीपीएससी की परीक्षा के दिन जो मजिस्ट्रेट तैनात थे उनको नोटिस जारी की गई है।

      नियमत: प्रश्न पत्र का सील खोले जाने के वक्त मजिस्ट्रेट भी वहीं होते हैं, लेकिन इस मामले में ऐसा कैसे हुआ कि केन्द्राधीक्षक की भूमिका में रहे प्रिंसिपल ने सील खोला और प्रश्न पत्र का सी सेट स्कैन कर लीक कर दिया। कहा यह भी जा रहा है कि वहां मजिस्ट्रेट थे ही नहीं।

      दिल्ली से गिरफ्तार गैंग को कपिलदेव ने भेजा था पेपरः ईओयू के सूत्रों के अनुसार पिछले दिनों दिल्ली से गिरफ्तार किए गए प्रश्न पत्र लीक से जुड़े गैंग के तीन शातिरों उत्तर प्रदेश के अभिषेक त्रिपाठी, मधुबनी के महेश पूर्वे और प्रवीण कुमार यादव ने कपिलदेव से ही प्रश्न पत्र हासिल किए थे।

      इस गैंग को परीक्षा से करीब 1 घंटे पहले प्रश्न पत्र मिल गया था। शक्ति कुमार ने प्रश्न पत्र लीक करने के एवज में कितने पैसे वसूले इसकी जांच चल रही है। ईओयू मनी ट्रांजेक्शन खंगाल रही है।

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!