अन्य
    Saturday, May 25, 2024
    अन्य

      कोविड से मौत का सिलसिला जारी, नहीं रहे मौसम विज्ञान केन्द्र के निदेशक

      कोरोना महामारी को देखते हुए झारखंड सरकार ने बतौर कल 22 अप्रैल से 29 अप्रैल तक स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह लॉकडाउन लगाया है...

      21 अप्रैल, राँची (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। समूचे देश में जारी कोरोना कहर के बीच झारखंड में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ता जा रहा है। अब तक कई सरकारी अधिकारी और कर्मचारियों की मौत भी कोरोना के कारण हो गयी है।

      इसी बीच कोरोना से मौत का दो और मामला सामने आया है, जहां रांची में मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक डॉ. के.वी. पडलवार की कोरोना से मौत हो गयी है।

      इससे पहले 20 अप्रैल को मौसम केंद्र के एक अन्य कर्मचारी जे.के.साह की भी मौत कोरोना से हो गयी थी। दो दिनों में लगातार दो कर्मचारी की मौत से मौसम केंद्र के कर्मियों में दहशत का माहौल है। वही आरपीएफ इंस्पेक्टर आर.के.तिवारी की रिम्स में कोरोना से मौत हो गयी।

      गौरतलब है कि कोरोना से झारखंड में भी हाहाकार मचा हुआ है। झारखंड में अब तक कोरोना से एक दर्जन से अधिकारियों की मौत हो चुकी है।

      यहाँ नगर विकास विभाग के सहायक निदेशक मेघना रूबी कश्यप की मौत हो गयी। वही इससे पूर्व राज्य सरकार के कोयला नियंत्रक अशोक तिवारी, जल संसाधन विभाग के अवर सचिव गजेश्वर महतो व राजस्व निबंधन व भूमि सुधार विभाग के संयुक्त सचिव रामा शंकर प्रसाद की मौत कोरोना संक्रमण के कारण हुई थी।

      वहीं पर्यटन विभाग के उप निदेशक विजय पासवान, स्कूली शिक्षा व साक्षरता विभाग के प्रधान सचिव अवधेश पासवान, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के कार्यपालक अभियंता मनोज चौधरी, गढ़वा में रमना प्रखंड में अंचलाधिकारी संजीव भारती, वाणिज्य कर विभाग के राज्य कर उपायुक्त राजेश प्रसाद, लोहरदगा के जिला खनन पदाधिकारी भोला हरिजन, रांची जिला परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी रुंगटू लोहरा की भी मौत कोरोना से हुई थी।

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!