अन्य
    Sunday, February 25, 2024
    अन्य

      बिहार में भाजपा-जेडीयू का गठबंधन टूटा, कांग्रेस-राजद देंगे साथ, 4 बजे राज्यपाल से मिलेंगे सीएम

      एक्सपर्ट मडिया न्यूज नेटवर्क डेस्क। बिहार में भाजपा और जदयू का गठबंधन टूट गया है। सीएम नीतीश शाम चार बजे राज्यपाल फागू चौहान से मुलाकात करेंगे।

      वहीं इससे पहले जेडीयू की आज हुई बैठक में पार्टी के सभी विधायकों और सांसदों ने सीएम नीतीश कुमार के फैसले का समर्थन किया और कहा कि वे उनके साथ हैं। उन्होंने कहा कि वे हमेशा उनके साथ रहेंगे, जो कुछ भी वह तय करेंगे।

      बिहार में भाजपा और जेडीयू का गठबंधन टूटाः बिहार की राजनीति में बड़े उलटफेर की खबर आ रही है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बिहार में भाजपा और जेडीयू का गठबंधन टूट गया है।

      वहीं नीतीश कुमार चार बजे राज्यपाल फागू चौहान से मुलाकात करेंगे। वहीं जेडीयू की आज हुई बैठक में पार्टी के सभी विधायकों और सांसदों ने सीएम नीतीश कुमार के फैसले का समर्थन किया और कहा कि वे उनके साथ हैं। उन्होंने कहा कि वे हमेशा उनके साथ रहेंगे, जो कुछ भी वह तय करेंगे।

      लालू की बेटी रोहिणी आचार्या ने किया ट्वीटः लालू की बेटी रोहिणी आचार्या ने ट्वीट करते हुए लिखा कि राजतिलक की करो तैयारी, आ रहे हैं लालटेनधारी।BJP JDU alliance broken in Bihar Congress RJD will support CM will meet Governor at 4 pm

      भाजपा के 16 मंत्री नहीं देंगे इस्तीफा, शहनवाज ने भी दी प्रतिक्रियाः सूत्रों के हवाले से खबर ये भी आ रही है कि भारतीय जनता पार्टी के 16 मंत्री इस्तीफा नहीं देंगे। वे सीएम नीतीश के फैसले का इंतजार करेंगे।

      वहीं भाजपा- जदयू के बीच विवाद पर बिहार सरकार में मंत्री और भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि मुझे इस बारे में कोई सूचना नहीं मिली है। मैं पटना जा रहा हूं… हम दिन रात मेहनत करके उद्योग पर पटरी पर लाया है, मुझे पूरी उम्मीद है कि उद्योग पटरी पर रहेगी। मैं 3 बजे की फ्लाइट से पटना रवाना हो रहा हूं।

      सीएम नीतीश ने राज्यपाल से मिलने का मांगा वक्त, दे सकते हैं इस्तीफाः बिहार की सियासत में घटनाक्रम तेजी से बदल रहा है। अब मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्यपाल से मिलने का वक्त मांग लिया है। बताया जा रहा है कि नीतीश के साथ तेजस्वी भी राज्यपाल से मुलाकात करने जाएंगे। सूत्रों के हवाले से खबर ये भी है कि राज्यपाल से मुलाकात के बाद सीएम नीतीश इस्तीफा भी सौंप सकते हैं।

      हमें उम्मीद है बिहार में महागठबंधन की सरकार बनेगी: कांग्रेस विधायक महागठबंधन और JDU को मिलकर बिहार में सरकार बनाने की खबरों पर कांग्रेस विधायक अजीत शर्मा ने कहा कि अभी बैठक में यही बात होने जा रही है। हमें उम्मीद है ऐसा ही होगा। बैठक के बाद तस्वीर साफ होगी। बिहार को महागठबंधन की जरूरत है।

      हमारे नेता नीतीश कुमार का कद कोई छोटा कैसे कर देगा: नीरज कुमार जदयू नेता नीरज कुमार ने कहा है कि हमारे नेता के कद को छोटा करने की कोशिश की गई। हमारे नेता नीतीश कुमार का कद कोई छोटा कैसे कर देगा। बैठक में जो फैसला होगा वो आपको बताया जाएगा।

      नीतीश होंगे महागठबंधन के सीएम: कांग्रेस नेता का दावाः बिहार में उलटफेर लगभग तय है। पत्रकारों से बातचीत में कांग्रेस नेता शकील अहमद ने दावा किया है कि नीतीश कुमार महागठबंधन के मुख्यमंत्री होंगे।

      नीतीश जी जो निर्णय लेंगे सही ही लेंगे: जदयू सांसद चंद्रेश्वर प्रसादः जदयू सांसद चंद्रेश्वर प्रसाद चंद्रवंशी ने कहा कि हमें लगता है कि बैठक में संगठन के बारे में ही ज्यादा बात होगी, अब विशेष बात क्या होगी ये हम नहीं बता सकते। अभी तक जो भी निर्णय मुख्यमंत्री नीतीश ने लिया है, वो बिहार की जनता के हित में लिया है, आज भी जो निर्णय लेंगे बिहार के हित में लेंगे।

      तारकिशोर प्रसाद के घर पर भाजपा नेताओं की बैठकः भाजपा के महासचिव (संगठन) भीखुभाई दलसानिया और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद के आवास पर पहुंचे हैं। उधर राजद प्रमुख लालू यादव के आवास पर महागठबंधन के विधायकों और अणे मार्ग में जद (यू) नेताओं की बैठक चल रही है।

      सब कुछ ठीक है और हम खुश हैं: जेडीयू एमएलसी कुमुद वर्माः जेडीयू एमएलसी कुमुद वर्मा से जब भाजपा और जेडीयू (यू) गठबंधन में दरार के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि  हमारी बैठक जनगणना के मुद्दे पर है। सब कुछ ठीक है और हम खुश हैं।

      नीतीश के आवास पर जेडीयू के नेताओं का पहुंचना शुरूः जद (यू) एमएलसी कुमुद वर्मा और पार्टी सांसद सुनील कुमार पटना में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आवास पर पहुंचे हैं। पार्टी के अन्य नेता भी यहां पहुंच रहे हैं। राज्य में सहयोगी भाजपा के साथ पार्टी की अनबन की खबरों के बीच जदयू आज सुबह 11 बजे बैठक करेगा।

      उपेंद्र कुशवाहा के बयान से नया ट्विस्टः दरअसल, उपेंद्र कुशवाहा ने दावा किया है कि बिहार में एनडीए गठबंधन में सब कुछ ठीक चल रहा है। उन्होंने कहा कि फिलहाल All Is Well, अभी तक कोई दिक्कत नहीं है। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि भविष्य में क्या होगा, यह कोई नहीं बता सकता। उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि नीतीश कुमार में पीएम बनने की सभी खूबियां हैं।

      उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि NDA में अभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी हैं। लेकिन देश भर में व्यक्तित्व के रूप में यदि आकलन किया जाए तो आदरणीय श्री नीतीश कुमार जी PM बनने के योग्य हैं। यह हमारी दावेदारी नहीं है लेकिन नीतीश कुमार PM बनने की हर तरह की योग्यता रखते हैं।

      लालू के आवास पर वाम दलों के विधायक भी पहुंचेः पटना में राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव के आवास पर वामपंथी दलों के विधायक भी पहुंचे हैं। यहां राजद विधायक पहले से मौजूद हैं। ताजा जानकारी के मुताबिक बैठक शुरू हो गई है।

      जानें कैसे बढ़ी जदयू- भाजपा के बीच दूरी:  भाजपा और जदयू के बीच दूरी बढ़ने की शुरुआत कुछ महीने पहले हुई थी। जाति आधारित जनगणना के मुद्दे पर नीतीश कुमार भाजपा से अलग-थलग नजर आए और उन्होंने विपक्षी दलों के साथ जाति आधारित जनगणना की मांग की।

      जानकारी के अनुसार सरकार चलाने में फ्री हैंड नहीं मिलने के अलावा नीतीश चिराग प्रकरण के बाद आरसीपी प्रकरण से भाजपा से खफा हैं। बीते कुछ महीने में नीतीश ने कई अहम बैठकों से दूरी बनाई है। कुछ महीने पूर्व नीतीश पीएम की कोरोना पर बुलाई गई बैठक से दूर रहे।

      हाल में पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के सम्मान में दिए गए भोज, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के शपथ ग्रहण समारोह से भी दूरी बनाई। इससे पहले गृह मंत्री अमित शाह की ओर से बुलाई गई मुख्यमंत्रियों की बैठक से दूरी बनाने के बाद अब नीति आयोग की बैठक से भी दूर रहे।

      अब जानिए क्या हैं बिहार के राजनीतिक आंकड़े? बिहार विधानसभा में सीटों की कुल संख्या 243 है। यहां बहुमत साबित करने के लिए किसी भी पार्टी को 122 सीटों की जरूरत है। वर्तमान आंकड़ों को देखें तो बिहार में सबसे बड़ी पार्टी राजद है। उसके पास विधानसभा में 79 सदस्य हैं। वहीं, भाजपा के पास 77, जदयू के पास 45, कांग्रेस के पास 19, कम्यूनिस्ट पार्टी के पास 12, एआईएमआईएम के पास 01, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के पास  04 सदस्य हैं। इसके अलावा अन्य विधायक हैं।

      कैसे बन रहे हैं नए समीकरण? वर्तमान में जदयू के पास 45 विधायक हैं। उसे सरकार बनाने के लिए 77 विधायकों की जरूरत है। पिछले दिनों राजद और जदयू के बीच नजदीकी भी बढ़ी हैं। ऐसे में अगर दोनों साथ आते हैं तो राजद के 79 विधायक मिलाकर इस गठबंधन के पास 124 सदस्य हो जाएंगे, जो बहुमत से ज्यादा हैं।

      इसके अलावा खबर है कि इस गठबंधन में कांग्रेस और कम्यूनिस्ट पार्टी भी शामिल हो सकती है। अगर ऐसा होता है तो कांग्रेस के 19 और कम्यूनिस्ट पार्टी के 12 अन्य विधायकों को मिलाकर गठबंधन के पास बहुमत से कहीं ऊपर 155 विधायक होंगे। इसके अलावा जीतन राम मांझी की पार्टी हिंदुस्तान आवाम मोर्चा के चार अन्य विधायकों का भी उन्हें साथ मिल सकता है।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      - Advertisment -
      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      - Advertisment -
      error: Content is protected !!