अन्य
    Sunday, February 25, 2024
    अन्य

      गेल इंडिया के गड्ढे में डूब कर पशु चिकित्सक की मौत, सड़क जाम

      “बांध एवं डेरा के बीच गेल इंडिया का गैस पाइप बिछाने वाली कंपनी द्वारा लंबे समय से गड्ढा करके छोड़ दिया गया है, जिसमें पानी भर गया था तथा लोग आने-जाने के लिए गड्ढा के ऊपर रखे पाइप का उपयोग करते हैं…

      बेगूसराय (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। गेल इंडिया का गैस पाइपलाइन बिछाने वाली कंपनी के लापरवाही के कारण पानी भरे गड्ढे में डूबकर शुक्रवार की रात एक मवेशी चिकित्सक की मौत हो गई। घटना रिफाइनरी सहायक थाना क्षेत्र के गुप्ता-लखमीनिया बांध के सबौरा के नजदीक की है। मृतक चिकित्सक चकबल्ली निवासी रामनिवास सिंह के पुत्र विकास कुमार हैं।

      Veterinarian dies by drowning in GAIL Indias pit road jam 1घटना से आक्रोशित लोगों ने शनिवार को सुबह चकबल्ली काली स्थान के समीप बीहट-रिफाइनरी रोड को जाम कर दिया। घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि ग्रामीण मवेशी चिकित्सक विकास कुमार शुक्रवार की रात सबौरा में गुप्ता-लखमीनिया बांध पर मोटरसाइकिल लगाकर डेरा पर मवेशी का इलाज करने गए थे।

      मवेशी का इलाज कर लौटने के दौरान पाइप से गुजरते समय पैर फिसल जाने से विकास गड्ढे में गिर कर डूब गया। करीब दो घंटा के बाद बांध पर डॉक्टर की मोटरसाइकिल लगा देखकर लोगों ने जब खोजबीन किया तो उसे गड्ढे से निकालकर आनन-फानन में निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां मृत घोषित कर दिया गया।

      इसके बाद शनिवार की सुबह युवा चिकित्सक के मौत की जानकारी मिलते ही लोग आक्रोशित हो गए तथा चकबल्ली गांव के समीप बीहट-रिफाइनरी रोड को जाम कर दिया।

      सड़क जाम की सूचना मिलते ही पहुंची पुलिस ने लोगों को समझाने-बुझाने का प्रयास किया। लेकिन आक्रोशित लोग जहां-तहां खोदे गए गड्ढे को ठीक करने, मृतक के परिजन को नौकरी और मुआवजा की मांग को लेकर समाचार भेजे जाने तक डटे हुए हैं।

      आक्रोशितों का कहना है कि गैस पाइपलाइन बिछाने वाले की लापरवाही से दो नन्ही बच्चियों के सर से पिता का साया छीन गया। कंपनी पीड़ित परिवार को 20 लाख मुआवजा के साथ गैस पाइपलाइन कंपनी में मृतक की पत्नी को नौकरी दे, दोषी अधिकारियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज हो

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      - Advertisment -
      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      - Advertisment -
      error: Content is protected !!