अन्य
    Wednesday, July 24, 2024
    अन्य

      तांत्रिक संग 2 महिलाओं की बलि दी और उनके 56 टुकड़े कर मांस पकाकर भी खाए !

      इंडिया न्यूज रिपोर्टर डेस्क। केरल के पथानामथिट्टा में दो महिलाओं की बलि देने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। मामले में नरभक्षण का भी संदेह जताया जा रहा है। संदेह है कि आरोपियों ने महिलाओं के लाश के टुकड़े पकाकर खाए।

      पुलिस के मुताबिक, एक दंपति ने घर में समृद्धि लाने के लिए एक तांत्रिक के कहने पर कथित तौर पर दो महिलाओं की बलि दे दी। पुलिस के मुताबिक, हो सकता है कि शव के टुकड़ों को पकाकर खाया गया हो।

      पुलिस के मुताबिक, रोजलिन और पदमा नाम की दो महिलाओं की हत्या नरबलि के तौर पर की गई। पुलिस ने बताया कि महिलाओं को बांधकर उनकी हत्या की गई और उनके ब्रेस्ट को चाकू से काटा गया। पुलिस ने बताया कि एक महिला के शव को 56 टुकड़ों में काटा गया।

      पुलिस के मुताबिक, हत्याएं घर की खराब आर्थिक स्थिति को खत्म करने के लिए की गईं, लेकिन इसमें यौन विकृति का मामला भी सामने आया है। नरबलि के आरोपियों में भगवल सिंह, उसकी पत्नी लैला और तांत्रिक मोहम्मदी शफी शामिल हैं। भगवल की पत्नी लैला पेशे से मसाज थेरेपिस्ट है।

      पुलिस के सूत्रों ने बताया कि भगवल सिंह और उसकी पत्नी लैला ने पूछताछ के दौरान बताया कि उन्होंने मृतकों का मांस खाया था। हालांकि, पुलिस ने इंसान का मांस खाए जाने पर अब तक संदेह ही जताया है।

      कोच्चि शहर के पुलिस आयुक्त नागराजू चकिलम ने बताया, ”इस बात की पुष्टि करने के लिए हमारे पास पर्याप्त सबूत नहीं है। उन्होंने कहा कि फोरेंसिक जांच और सबूतों को जुटाने का काम बुधवार (12 अक्टूबर) को भी जारी रहेगा।”

      पुलिस ने बताया कि रोजलिन जून में और पदमा सितंबर में लापता हो गई थी। पुलिन ने कहा कि पदमा की तलाश के दौरान दोनों की हत्या किए जाने के बारे में पता चला। महिलाओं के फोन को ट्रेस करते हुए मोहम्मद शफी के बारे में पता चला।

      पुलिस के मुताबिक, आरोपी शफी ने पूछताछ के दौरान अपना गुनाह कबूल करते हुए बताया कि उसने महिलाओं को अगवा किया था।

      माना जा रहा है कि शफी ने दंपति को सोशल मीडिया के माध्यम से ललचाया था। पुलिस के मुताबिक शफी फेसबुक पर श्रीदेवी नाम प्रोफाइल बनाए हुए था। दंपति अपनी समस्याओं को लेकर श्रीदेवी वाली प्रोफाइल के संपर्क में आए। उनसे रशीद नाम के शख्स से मिलने के लिए कहा गया।

      पुलिस की जांच में सामने आया है कि तांत्रिक शफी ही रशीद था। तांत्रिक शफी ने दंपति को समस्याओं से निजात दिलाने के लिए मानव बलि का उपाय बताया। इसके बाद नरबलि के लिए महिलाओं को खोजा गया।

      पुलिस के मुताबिक, तांत्रिक शफी यौन विकृत था। शफी ने रोजलिन को अश्लील फिल्म में काम करने के लिए 10 लाख रुपये का ऑफर दिया और पदमा को सेक्स वर्कर बनने के लिए 15 हजार रुपये की पेशकश की।

      इसके बाद रोजलिन को शूटिंग के बहाने बेड पर लिटाकर बांध दिया गया और उसकी चाकू से हत्या कर शव के टुकड़े कर दिए गए।

      वहीं, पदमा ने जब पेमेंट मांगा तो आरोपियों ने उसका गला बांध रस्सी से बांध दिया। इससे वह बेहोश गई। बाद में आरोपियों ने उसके भी चाकू से टुकड़े कर दिए।

      मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मृतकों के गुप्तांगों में चाकू डाला गया था। तांत्रिक प्रयोग के तहत मृतकों के खून को दीवारों और फर्श पर छिड़का गया और उनके शव के टुकड़े पकाकर खाए गए।

      आरोपियों ने महिलाओं की हत्या करने बाद उनके शव के टुकड़ों को जमीन में दफना दिया था। तीनों आरोपियों को 26 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।

      संबंधित खबर
      error: Content is protected !!