अन्य
    Friday, March 1, 2024
    अन्य

      कोल्हान टाइगर को आधी रात में मिला सरकार बनाने का न्योता, आज लेंगे सीएम पद की शपथ

      रांची (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी के बाद झारखंड में गहराते सियासी संकट के बादल अब छंटते दिख रहे हैं। राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन ने नए सीएम के तौर पर चंपई सोरेन को हरी झंडी दे दी है। चंपई सोरेन झारखंड के नए मुख्यमंत्री होंगे। आज ही उनका शपथ ग्रहण है। इसके साथ ही चंपई सोरेन को अगले 10 दिन में बहुमत साबित करना होगा।

      इससे पहले सत्ताधारी विधायकों ने दो बार राज्यपाल से मुलाकात की थी। 43 विधायकों के समर्थन पत्र के साथ सरकार बनाने का दावा किया गया। हालांकि, हेमंत सोरेन का इस्तीफा होने के बाद से अगले 24 घंटे तक सूबे में कोई सीएम नहीं था।

      इस दौरान सत्ताधारी विधायकों को हैदराबाद भेजने की भी तैयारी की गई थी। चार्टर्ड प्लेन रेडी था लेकिन वहां भी ऐन वक्त में खेल हो गया। आखिर हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी और उनके जेल भेजे जाने के दौरान सूबे में क्या कुछ घटा, बताते हैं आगे।

      बता दें कि हेमंत सोरेन को बुधवार रात ईडी की टीम ने 8 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया। इस दौरान हेमंत सोरेन ने सीएम पद से इस्तीफा दिया। फिर रातभर में ईडी ऑफिस में ही उन्हें रखा गया।

      फिर गुरुवार को ईडी कोर्ट में पेशी के बाद उन्हें एक दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया। हेमंत सोरेन गुरुवार रात रांची की होटवार जेल में रहे। आज दिन में उन्हें फिर ईडी कोर्ट में पेश किया जाएगा। उधर ईडी की टीम हेमंत की 10 दिन की रिमांड मांग रही है। देखना होगा कि कोर्ट क्या फैसला देता है।

      उधर चंपई सोरेन को नए सीएम के तौर पर राजभवन से ग्रीन सिग्नल मिलने से पहले नई सरकार की कवायद में जेएमएम-कांग्रेस विधायक मोर्चाबंदी में जुटे रहे। चंपई सोरेन को विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद गुरुवार को उन्होंने फिर राज्यपाल से मुलाकात की थी।

      इस दौरान 43 विधायकों के समर्थन से जुड़ा वीडियो भी राज्यपाल को दिखाया गया। हालांकि, राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन ने सीएम पद के शपथ को लेकर कोई तुरंत कोई अपडेट नहीं दिया। फिर राजभवन की ओर से गुरुवार देर रात चंपई सोरेन को ग्रीन सिग्नल मिला।

      उधर गठबंधन में शामिल नेताओं को विधायकों के टूट का खतरा भी डराने लगा था। यही वजह है कि सभी विधायकों को हैदराबाद शिफ्ट करने की तैयारी थी। चार्टर्ड प्लेन रेडी था जिस पर सभी विधायक पहुंच भी गए, लेकिन फिर खेल हो गया।

      हैदराबाद के लिए क्यों नहीं उड़ सका चार्टर्ड प्लेनः झारखंड में सरकार पर सस्पेंस के बीच गठबंधन के विधायक गुरुवार रात हैदराबाद जाने के लिए रांची एयरपोर्ट पहुंचे थे। वो चार्टर्ड फ्लाइट में बैठ भी गए, लेकिन ऐन मौके पर उनकी फ्लाइट कैंसिल हो गई।

      खराब मौसम और लो विजिबिलिटी की वजह से चार्टर्ड प्लेन हैदराबाद के लिए उड़ा नहीं भर सका। रांची एयरपोर्ट पर घने कोहरे की वजह से एटीसी ने ये फैसला लिया और सभी फ्लाइट्स का परिचालन ठप कर दिया गया। फ्लाइट के उड़ान नहीं भरने पर सभी विधायक वापस सर्किट हाउस लौट आए।

      विधायकों के शिफ्टिंग की पूरी कवायद इसलिए हो रही थी क्योंकि उन्हें हॉर्स ट्रेडिंग का डर सता रहा था। हालांकि, अब राज्यपाल ने चंपई सोरेन को सरकार बनाने के लिए बुला लिया। ऐसे में सूबे का सियासी संकट अब खत्म होता दिख रहा।

      सीएम हेमंत सोरेन की शिकायत पर ईडी अफसरों पर एससी-एसटी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज

      लालू-राबड़ी पुत्री रोहणी आचार्य की ताजा ट्वीट से बिहार की राजनीति में भूचाल

      अत्याधुनिक श्रीराम जानकी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल का लोकार्पण

      मैथिली ठाकुर के इस गाने के मुरीद हुए पीएम नरेंद्र मोदी

      क्या अब मिट्टी में मिलने को तैयार हैं नीतीश कुमार ?

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      - Advertisment -
      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      - Advertisment -
      error: Content is protected !!