अन्य
    Monday, April 15, 2024
    अन्य

      ईडी ने हेमंत सोरेन को पूछताछ के लिए कल 3 नवंबर को हाजिर होने को कहा, कड़ी सुरक्षा की मांग

      "मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को समन भेजने के साथ ही ईडी ने पुलिस महानिदेशक को इस सिलसिले में एक पत्र लिखा है। इसमें तीन नवंबर को ईडी कार्यालय की सुरक्षा का विशेष प्रबंध करने का अनुरोध किया गया है...

      राँची (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अवैध खनन मामले में पूछताछ के लिए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को समन जारी किया है। ईडी ने उन्हें तीन नवंबर को दिन के करीब 11:30 बजे रांची स्थित ईडी के कार्यालय में पूछताछ के लिए हाजिर होने को कहा है।

      मुख्यमंत्री को पूछताछ के लिए समन जारी करने का मुख्य कारण उनके विशेष प्रतिनिधि पंकज मिश्रा द्वारा अवैध खनन में शामिल होने और 42 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति अर्जित करने के अलावा अन्य कई मामले हैं। इसमें मनी लाउंड्रिंग के आरोप में फंसी आइएएस अधिकारी पूजा सिंघल को खान विभाग में पदस्थापित करने के कारणों के अलावा प्रेम प्रकाश के घर से मुख्यमंत्री आवास की सुरक्षा के लिए तैनात जवानों के नाम आवंटित दो एके-47 और 60 गोलियों का मिलना शामिल है।

      ईडी ने पंकज मिश्रा के रिम्स में भर्ती रहने के दौरान फोन पर अधिकारियों से बात करने और मुख्यमंत्री के नाम पर उन्हें डराने का मामला भी पकड़ा था। इस मामले में फोन से बात कराने के आरोप में ईडी ने पंकज मिश्रा के चालक व उसके एक करीबी को पकड़ा था। ईडी ने साहिबगंज में अवैध खनन की जांच के दौरान इस बात के भी सबूत जुटाये हैं कि पंकज मिश्रा व उसके सहयोगी अवैध खनन के मामले में जिले के अधिकारियों को मुख्यमंत्री का नाम लेकर ही डराते थे।

      ईडी ने पंकज मिश्रा के रिम्स में भर्ती रहने के दौरान फोन पर अधिकारियों से बात करने और मुख्यमंत्री के नाम पर उन्हें डराने का मामला भी पकड़ा था। इस मामले में फोन से बात कराने के आरोप में ईडी ने पंकज मिश्रा के चालक व उसके एक करीबी को पकड़ा था।

      ईडी ने साहिबगंज में अवैध खनन की जांच के दौरान इस बात के भी सबूत जुटाये हैं कि पंकज मिश्रा व उसके सहयोगी अवैध खनन के मामले में जिले के अधिकारियों को मुख्यमंत्री का नाम लेकर ही डराते थे।

      साथ ही मुख्यमंत्री के राजनीतिक रसूख का इस्तेमाल करते हुए अधिकारियों को कार्रवाई करने से रोका जाता था। साहिबगंज में छापेमारी के दौरान ईडी को पंकज मिश्रा के घर से एक लिफाफा मिला था।

      इसमें मुख्यमंत्री के बैंक खाते से जुड़ा चेकबुक था। इसमें से दो चेकबुक हस्ताक्षरित थे। हालांकि, इसमें राशि का उल्लेख नहीं किया गया था। अवैध खनन के मामले में गिरफ्तार प्रेम प्रकाश ने पूछताछ के दौरान अपने राजनीतिक संबंधों का भी उल्लेख किया था।

      मालूम हो कि अवैध माइनिंग मामले में गिरफ्तार पूजा सिंघल के सीए सुमन कुमार ने भी पूछताछ के दौरान बरामद 17।49 करोड़ नकद में से अधिकांश राशि पूजा सिंघल के माध्यम से मिलने के बात स्वीकार की थी।

      ईडी को जांच के दौरान इस बात की जानकारी मिली थी कि इसमें अवैध खनन से मिली राशि भी शामिल है। पूछताछ के दौरान मुख्यमंत्री से इन सभी मुद्दों से जुड़े सवाल पूछे जा सकते हैं।

      ईडी कुछ बड़े अफसरों को भी नोटिस भेज कर पूछताछ के लिए बुला सकता है। पिछले दिनों गिरफ्तार हुए आरोपियों से पूछताछ के दौरान इन अफसरों के नाम सामने आये थे।

      उधऱ, सूचना है कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से हिनू एयरपोर्ट रोड स्थित अपने कार्यालय की सुरक्षा बढ़ाने के लिए पुलिस मुख्यालय से अतिरिक्त पुलिस बल की मांग की गयी है।

      खबरों के मुताबिक ईडी ने पुलिस मुख्यालय को इस बारे में पत्र भी भेजा है। पत्र की प्रति केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल को भी दी गयी है। हालांकि न तो प्रवर्तन निदेशालय ने और न ही पुलिस मुख्यालय के अधिकारियों ने इस बात की आधिकारिक रूप से पुष्टि की है।

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!