अन्य
    Saturday, April 13, 2024
    अन्य

      सीटीईटी और बीटीईटी पास सैकड़ों अभ्यर्थियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी, सरकार बेपरवाह

      पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज़ नेटवर्क)। बिहार में कच्छप चाल से जारी शिक्षक नियोजन और बहाली बंद होने से परेशान सीटीईटी और बीटीईटी पास सैकड़ों अभ्यर्थी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे हैं।

      वे सभी सातवें चरण के लिए शिक्षक नियोजन जल्द शुरू करने की मांग कर रहे हैं। पटना के गर्दनीबाग उनका धरना स्थल बना हुआ है। धरना स्थल पर विभिन्न जिलों से आए अभ्यर्थियों का धरना प्रदर्शन चल रहा है।

      अभ्यर्थियों ने यहां हवन किया और उसके बाद बाल मुंडन भी करवाया। छात्रों ने साफ-साफ कहा कि सरकार हमारी बातों को नहीं सुन रही है, लगातार झूठा आश्वासन मिल रहा है। इसलिए जब तक हम लोग की मांग पूरी नहीं होगी, हम धरना प्रदर्शन करते रहेंगे।

      पटना के गर्दनीबाग में चिलचिलाती धूप और गर्मी में सातवें चरण की शिक्षक नियोजन के लिए अभ्यर्थी पिछले एक सप्ताह से ज्यादा समय से धरना प्रदर्शन कर रहें हैं। लेकिन सरकार बेपरवाह है। अभ्यर्थी बाल मुंडवा रहें हैं, अर्धनग्न प्रदर्शन कर रहें हैं। बाबजूद सरकार एसी में सो रही है।

      अभ्यर्थियों का कहना है कि बाल मुंडन इसलिए करवा रहे हैं कि इससे शिक्षा मंत्री को शांति मिले। हवन भी उसी मकसद से हम लोग कर रहे हैं। हम लोगों का जब तक सातवें चरण के नियोजन की तिथि की घोषणा नहीं हो जाएगी।

      तब तक हम लोग ऐसे ही धरना प्रदर्शन करते रहेंगे सिर्फ झूठा आश्वासन मिल रहा है। आज हम लोगों ने हवन किया है, बाल मुंडन करवाया है। ताकि भगवान सरकार को शक्ति दें कि हम लोगों का नियोजन समय से वो करा पाएं।

      वैसे जब तक सरकार नियोजन नहीं करवाएगी तब तक हम लोग लगातार ऐसे ही धरना प्रदर्शन करके सरकार का विरोध करते रहेंगे।

      सातवें चरण के नियोजन को लेकर प्रदर्शन कर रह कई अभ्यर्थियों ने बताया कि नौकरी नहीं देना है तो जहर ही दे दे।

      मिली जानकारी के अनुसार प्रस्तावित सातवें चरण में माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्कूलों में 83 हजार 277 से अधिक रिक्तियां हैं। इनमें सबसे अधिक 49 हजार 361 रिक्तियां 6421 उच्च माध्यमिक स्कूलों के लिए होंगी। माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्कूलों में नियुक्तियों के लिए नियमावली तैयार की जा रही है। माध्यमिक स्कूलों में 33 हजार 916 पद रिक्त हैं।

      हर माध्यमिक स्कूलों में छह शिक्षकों की होनी है नियुक्तिः 5425 माध्यमिक स्कूलों में प्रति स्कूल छह-छह शिक्षकों की नियुक्ति की जानी हैं। ये शिक्षक हिंदी, अंग्रेजी, विज्ञान, गणित और सामाजिक विज्ञान के होंगे।

      साथ ही उर्दू ,संस्कृत आदि के लिए 5791 और कंप्यूटर शिक्षक के लिए एक हजार पदों पर नियुक्त होनी है। लेकिन विभाग ने अभी इसकी तारीख तय नहीं की है, जिसका छात्रों को बेसब्री से इंतजार है और इनका कहना के सरकार बेवजह नियुक्ति में देर कर रही है।

      हड़ताल पर बैठे अभ्यर्थियों के समर्थन में माले विधायक मनोज मंजिल भी आएं थे। उन्होंने धरना स्थल पर अभ्यर्थियों से मिले और उनकी समस्या भी सुनी। विपक्ष भी सरकार को इस मामले में घेर रही है।

      अनियंत्रित होकर नहर में गिरी कार, 6 बारातियों की मौत, 1 गंभीर

      बिहार पुलिस को मिले 60 नए DSP, बिपुसे की अनुशंसा पर हुई नियुक्ति, देखें सूची

      कोईलवर में सोन नदी पर बने बहुप्रतीक्षित पुल का लोकार्पण कल, पोस्टर में सीएम नीतीश कुमार का चेहरा गायब

      बोले बिहार के कानून मंत्री- मौलवियों की तरह मंदिर-मठों के पुजारियों को भी मिले वेतन

      BPSC प्रश्न पत्र लीक मामले में किसको बचानी चाह रही है सरकार ?

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!