अन्य
    Wednesday, February 21, 2024
    अन्य

      हावड़ा-नई दिल्ली रेल मार्ग पर धनबाद के पास बड़ा हादसा, करंट से आठ लोग जिंदा जले, कई झुलसे

      "ठेकेदार बिना अनुमति के ही ठेका मजदूरों से काम करा रहा था। मजदूर पोल लगा रहे थे तभी 25 हजार वोल्ट वाले हाई टेंशन ओवरहेड तार की ओर पोल झुक गया...

      धनबाद (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। हावड़ा-नई दिल्ली रेल मार्ग पर सोमवार को धनबाद से गोमो के बीच निचितपुर हाल्ट के पास 25 हजार वोल्ट तार की चपेट में आकर 8 लोगों की जलकर मौत हो गई है। वहीं दर्जन भर लोग बिजली तार की चपेट में आकर झुलस गए हैं।

      रेल मार्ग पर कई ट्रेनों का परिचालन ठपः घटना को लेकर इस रेल मार्ग पर अप और डाउन में ट्रेनों का परिचालन रोक दिया गया है। हावड़ा-बीकानेर एक्सप्रेस धनबाद स्टेशन पर रोकी गई है। डाउन में आ रही कालका-हावड़ा नेताजी एक्सप्रेस को तेतुलमारी स्टेशन पर रोका गया है।

      रेल अधिकारी और रेलवे के डाक्टर व पारा मेडिकल स्टाफ सड़क मार्ग से घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं। धनबाद से दुर्घटना राहत मेडिकल यान भी रवाना हो चुका है।

      ऐसे हुई यह भयावह घटनाः खबरों के अनुसार, धनबाद रेल मंडल में प्रधानखंता से बंधुआ तक लगभग 200 किमी रेल मार्ग पर ट्रेनों की गति 120 से 160 किमी प्रति घंटे करने को लेकर काम चल रहा है।

      सोमवार को रेलवे के टीआरडी विभाग की ओर से निचितपुर हाल्ट के रेल फाटक पास पोल लगाने का काम कराया जा रहा था। ऐसे काम के लिए ट्रैफिक ब्लाक की अनुमति लेनी होती है। क्रेन की मदद ली जाती है।

      मौके से भाग निकला ठेकेदारः ठेकेदार बिना अनुमति के ही ठेका मजदूरों से काम करा रहा था। मजदूर पोल लगा रहे थे तभी 25 हजार वोल्ट वाले हाई टेंशन ओवरहेड तार की ओर पोल झुक गया।

      उसे संभालने की कोशिश के बीच पोल हाई टेंशन तार से सट गया, जिससे करंट दौड़ गया और मौके पर ही 8 लोगों की झुलस कर मौत हो गई। वहीं 2 लोगों की मौत अस्पताल ले जाने के दौरान हो जाने की सूचना है। इस घटना के बाद भगदड़ मच गई। ठेकेदार भी भाग निकला।

      दोषी के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: घटनास्थल पर पहुंचे डीआरएम कमल किशोर सिन्हा ने कहा कि घटना की उच्च स्तरीय जांच होगी और दोषी पर कार्रवाई की जाएगी।

      दूसरी ओर, ट्रैक्शन पोल के पास के एक चापाकल में करंट दौड़ जाने से पानी भर रही बच्ची भी झुलस गई। चापाकल के पास से बेहोशी की हालत में उसे नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

      मरने वालों में लातेहार, बरवाडीह और प्रयागराज के मजदूरः ट्रैक्शन पोल लगाने के लिए 22 मजदूरों को लाया गया था। मजदूर धनबाद के भूली में ठहराए गए थे। टीम लीडर बबलू कुम्हार है। उससे मरने वालों की पहचान करायी जा रही है।

      अब तक लातेहार के संजय भुइयां, प्रयागराज के सुरेश मिस्त्री व पलामू के गोविंद सिंह व नामदेव सिंह की पहचान हो सकी है। अन्य की पहचान का प्रयास किया जा रहा है।

       

       

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      - Advertisment -
      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      - Advertisment -
      error: Content is protected !!