अन्य
    Monday, July 22, 2024
    अन्य

      मोतिहारी पुलिस ने मधुबन के डॉ. जयलाल सहनी हत्याकांड का किया यूं उद्भेदन

      “सभी हत्या में शामिल बदमाशों के विरुद्ध स्पीडी ट्रायल के तहत कठोरतम सजा दिलाई जाएगी... डॉ. कुमार आशीष, एसपी, मोतिहारी।

      मोतिहारी (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। बिहार के मोतिहारी जिले में मधुबन थाना क्षेत्र के हरदिया के कंसपकड़ी टोला में गत दिनों हुई होम्योपैथिक डॉक्टर जयलाल सहनी हत्याकांड का पुलिस ने उद्भेदन कर दिया है।

      पुलिस की विशेष टीम ने हत्या में शामिल चार नाबालिग अपराधियों को हत्या में प्रयुक्त चाकू नकद 8 हजार रुपये एवं कपड़ा समेत गिरफ्तार किया है।

      इस संदर्भ में एसपी डॉ. कुमार आशीष ने बताया कि हत्या में संलिप्त चारों नाबालिग कंस पकड़ी के निवासी हैं।वही हत्याकांड का किंगपिन हरदिया निवासी सकल सहनी का पुत्र अभी फरार है। सभी हत्यारों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।

      एसपी ने बताया कि सकल सहनी एवं मृतक जयलाल सहनी के बीच पूर्व से जमीनी विवाद चल रहा था। सकल सहनी का पुत्र ब्रह्मदेव सहनी ने मृतक जयलाल सहनी के घर से जमीन का कागजात हासिल करने का प्लान बनाया। जिसमें उसने गिरफ्तार चारों को शामिल किया।

      इनमें एक नाबालिग बदमाश घर में रोशनदान के जरिए घर में दाखिल हो गया और मृतक एवं उसके केअर टेकर के सो जाने पर घर का दरवाजा भीतर से खोल दिया। जिससे बारी-बारी से तीन अन्य डाक्टर के घर में दाखिल हो गए।

      उनलोगों ने घर के पेटी से अट्ठारह हजार रुपये नगद, मोबाइल एवं जमीन के कागजात हासिल कर लिए तभी जयलाल सहनी की नींद खुल गई और उन्होंने इसका विरोध किया। जिस पर हत्यारों ने तकिया से उनका मुंह दबा दिया ताकि शोर न कर सके।

      ब्रह्मदेव ने बाहर गेट पर पहरेदारी कर रहे बदमाश को बाहर से बुलाया एवं चाकू मांगा। लिहाजा उसने चाकू दिया। हत्यारों ने सब्जी काटने वाले चाकू से वृद्ध जयलाल सहनी की गला काट दिया। चूंकी चाकू का हैंडल टूट गया था, नतीजतन उससे दूसरा चाकू मंगाकर हाथ का नस काट कर निर्मम तरीके से डाक्टर की हत्या कर दी।

      इस घटना के बाद सुनील कुमार सिंह डीएसपी पकडीदयाल के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन किया गया, जिसमें मधुबन इंस्पेक्टर मुकेश चंद्र कुमार, मधुबन थाना अधक्ष राजेश कुमार, राजेपुर ललन कुमार, फेनहारा सुधीर कुमार सिंह, तकनीकी शाखा के सिपाही उदय प्रसाद, अभिमन्यु कुमार, रवि कुमार, चौकीदार विकास कुमार, चुमन राय, रामदेव राय,अनदेव राय, किशोरी साह, जय मंगल यादव को शामिल किया गया।

      तत्पश्चात पुलिस अलग-अलग बिंदुओं पर जांच शुरू की। लोकेशन, श्वान दस्ता के साथ ही विभिन्न बिंदुओं पर जांच की एवं हत्या की गुत्थी सुलझा ली गई।

      संबंधित खबर
      error: Content is protected !!