अन्य
    Sunday, April 14, 2024
    अन्य

      ज्वेलरी चोर से 55 लाख के जेवर उड़ाने वाले ओपी प्रभारी, दारोगा समेत 3 पुलिसकर्मी गए जेल

      सिमडेगा (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। झारखंड प्रदेश के सिमडेगा जिला के बांसजोर ओपी थाना पुलिस द्वारा 55 लाख रुपए के जेवर के गोलमाल मामले में तीन पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

      In the jewelery theft case worth 55 lakhs from a jewelery thief 3 policemen including OP in charge inspector went to jail 1सिमडेगा एसपी के आदेश से गठित एसआईटी ने जिन तीन पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है, उनमें बांसजोर ओपी प्रभारी आशीष कुमार सहित, दारोगा संदीप कुमार और पुलिस चालक शाहिद रजा खान शामिल हैं।

      बता दें कि सिमडेगा एसपी के आदेश पर इस मामले की जाँच के लिए एक 11 सदस्यीय एसआईटी टीम गठित की गई है और जांच के घेरे में आने के बाद बांसजोर थाना प्रभारी को पहले ही सस्पेंड कर दिया गया था।

      खबरों के मुताबिक पूरा  मामला रायपुर से 80 लाख के गहनों की लूट से जुड़ा है। इस मामले की पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर जांच हुई है।

      इस कांड में पुलिसकर्मियों ने रिकवर किए गए जेवरातों के बारे में आधी-अधूरी जानकारी शेयर की थी और बरामद हुए गहनों की पूरी रिकवरी नहीं दिखाई गई थी। पुलिसकर्मियों से हुई पूछताछ के बाद ही ये गहने बरामद किए गए हैं।

      दरअसल, छत्तीसगढ़ के रायपुर में ज्वेलरी शोरूम से 80 लाख के गहनों की चोरी हुई थी। इस मामले में सिमडेगा पुलिस ने वाहन चेकिंग के दौरान आरोपियों को गिरफ्तार किया था। इसके बाद सिमडेगा पुलिस ने आरोपियों के पास से चोरी के गहने बरामद किए थे।

      हालांकि 2 दिनों तक आरोपियों को पकड़ने के बाद इसकी सूचना छत्तीसगढ़ पुलिस से छिपाई गई थी। इसके बाद 2 आरोपियों की गिरफ्तारी और 25 लाख के जेवरों की रिकवरी की ही जानकारी दी गई थी।

      मामले को लेकर रायपुर पुलिस ने सिमडेगा के बांसजोर ओपी के पुलिसकर्मियों की कार्यशैली पर आशंका जाहिर की थी। छत्तीसगढ़ पुलिस ने झारखंड पुलिस के वरीय अधिकारियों के साथ सबूत शेयर किए थे।

      मामले की गंभीरता को देखते हुए बांसजोर ओपी प्रभारी को तब सस्पेंड कर दिया गया था। वहीं मामले की उच्चस्तरीय जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया था।

       

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!