अन्य
    Wednesday, April 17, 2024
    अन्य

      विकास की आंधी में फिर गिरा बिहार का सबसे बड़ा निर्माणाधीन पुल, 1 मरे, 9 घायल

      पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। बिहार में एक सियासी नारा है ‘बिहार में नीतीशे कुमार है’ इससे जोड़कर कुछ भी जुमला बना लीजिए। अब वहीं जुमला भारी पड़ गया है। जब सुल्तानगंज और खगड़िया को जोड़ने वाली पुल गिरा था, तब लोग इस नारे को नया रूप दे रहें थे ‘गंगा में धार है, नीतीशे कुमार है।’ यह जुमला लोग उस संदर्भ में उछाल रहे थे। बिहार में एक बार फिर विकास का पुल गिर गया है।

      आज सुपौल में को बिहार का सबसे बड़ा निर्माणाधीन पुल ध्वस्त हो गया। इस हादसे में एक व्यक्ति की मौत हो गई वहीं 9 लोगों के घायल होने की खबर है। मौके पर पहुंची राहत-बचाव कार्य की टीम और पुलिस की टीम ने घायलों को अस्पताल पहुंचाया।

      सुपौल में बन रहे बकौर निर्माणाधीन पुल का बड़ा हिस्सा गिर गया जिसके बाद वहां अफरा-तफरी का माहौल हो गया। जानकारी के मुताबिक, पुल के पिलर संख्या 50,51,52 का गार्टर गिर गया था।

      सुपौल के डीएम कौशल कुमार ने मीडिया को बताया कि हादसे की वजह से एक व्यक्ति की मौत हो गई और 9 लोग घायल हो गए। सभी लोगों को बाहर निकाल लिया गया है। इस पुल को 1200 करोड़ की लागत से तैयार किया जा रहा था।

      शुक्रवार की सुबह करीब 7 बजे हुए इस हादसे में कई लोग घायल हो गए। गार्डर गिरा तो वहां मौजूद पुल बनाने वाली कंपनी के लोग मौके से फरार हो गए। इस पुल को बनाने का कांट्रैक्ट ट्रांस रेल कंपनी के पास बताया जाता है।

      भारत माला प्रोजेक्ट के तहत तैयार किए जा रहे इस पुल की लंबाई 10.5 किलोमीटर है। वहीं, अप्रोच रोड को मिला दें तो इसकी लंबाई 13 किलोमीटर से ज्यादा हो जाती है। सुपौल के पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, हादसे में 6 लोग घायल हुए हैं, जिन्हें अस्पताल पहुंचाया गया है।

      कोसी नदी पर बन रहे पुल का हिस्सा नदी क्षेत्र में गिर गया। हालांकि जहां पर ये गिरा वहां नीचे पानी नहीं था। इस पुल को देश का सबसे बड़ा पुल बताया जा रहा है। इस पुल को तैयार करने की समय-सीमा फिलहाल पिछले साल ही समाप्त हो चुकी थी।

      वैसे इस देश में पुल तो गिरते रहते हैं। कभी विश्वास का पुल तो भी प्रयास का पुल। लेकिन जब विकास का पुल गिर जाता है तो सवाल ही उठता है और शक भी होता है।

      बहरहाल, बिहार में 18 साल से विकास की बाढ़ आई हुई है। विकास की आंधी चल रही है। विकास का तूफान बह रहा है। विकास की बाढ़ में बिहार का सबसे बड़ा पुल का एक हिस्सा फिलहाल कोसी नदी में गिरने पर सरकार सवाल उठना लाजिमी है।

      8 अगस्त, 2021 तक डीएलएड कोर्स नहीं करने वाले नियोजित शिक्षकों को हटाने का आदेश

      बिहारशरीफ-राजगीर मार्ग पर पत्रकार दीपक विश्वकर्मा को गोली मारी, हालत गंभीर

      BPSC शिक्षक परीक्षा प्रश्न पत्र लीक मामले में EOU का बड़ा खुलासा

      BPSC TRE-3 पेपर लीकः परीक्षा खत्म होने तक मोबाइल नहीं रखने की थी सख्त हिदायत

      पटना GRP जवान ने शादी का झांसा देकर झारखंड की छात्रा संग किया दुष्कर्म

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!