अन्य
    Friday, March 1, 2024
    अन्य

      धनबाद में बड़ा खदान हादसा, 60 फीट धंसी कोयला खदान, अवैध खनन में जुटे 50 से अधिक मजदूर दबे

      धनबाद (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। झारखंड के धनबाद में गुरुवार को बड़ा हादसा हो गया। चिरकुंडा थाना क्षेत्र के डुमरीजोड़ में बीसीसीएल की बंद माइंस में अवैध खनन के कारण खदान धंस गई। उसके ऊपर की लगभग 60 फीट कच्ची सड़क भी धंस गई। 50 से ज्यादा लोगों के यहां दबे होने की आशंका है।

      Big mine accident in Dhanbad 60 feet deep coal mine more than 50 laborers engaged in illegal mining buried 2सभी लोग पश्चिम बंगाल के पुरुलिया के रहने वाले हैं। प्रशासन ने रेस्क्यू की तैयारी पूरी कर ली है, थोड़ी देर में रेस्क्यू शुरू हो जाएगा।

      धनबाद के डिप्टी कमिश्नर संदीप सिंह ने बताया कि अब तक किसी तरह के जानमाल की क्षति की सूचना नहीं है। खदानों की तरफ जाने वाली कच्ची सड़क धंसी है। प्रशासन और BCCL की टीम मौके पर पहुंच गई है।

      मौके पर भारी पुलिस बल तैनात है। लोकल रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंचकर निरीक्षण कर रही है। अभी रेस्क्यू शुरू नहीं हुआ है। राहत और बचाव कार्य के लिए NDRF की टीम को बुलाया गया है।Big mine accident in Dhanbad 60 feet deep coal mine more than 50 laborers engaged in illegal mining buried 1

      खबरों के मुताबिक, गुरुवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे अचानक 60 फीट सड़क धंस गई। लोगों का कहना है कि जिस वक्त यह हादसा हुआ, माइन में करीब 125 से अधिक लोग मौजूद थे। इसमें से कई लोगों ने भाग कर अपनी जान बचाई।

      लोगों के मुताबिक, एक दिन में करीब 2 ट्रक अवैध कोयले का खनन किया जाता है। यह माइंस पिछले छह साल से बंद है।

      घटना की खबर पाकर चिरकुंडा पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी जितेंद्र कुमार मौके पर पहुंचे हैं। उन्होंने बताया, ‘हर एंगल से मामले की जांच कर रहे हैं।

      Big mine accident in Dhanbad 60 feet deep coal mine more than 50 laborers engaged in illegal mining buried

      पुलिस यह भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि कहीं पहले हुए अवैध खनन के चलते तो यह घटना नहीं घटी है।’ पिछले वर्ष भी इसी तरह सड़क के धंसने की खबर आई थी।

      बताया जाता है कि यहां आधा दर्जन लोग अवैध खनन कर कोयला निकालते थे। खुफिया विभाग ने भी इसकी सूचना जिला प्रशासन को दी थी, लेकिन अब तक किसी पर ठोस कार्रवाई नहीं हुई। इससे उनका मनोबल काफी बढ़ गया और धड़ल्ले से अवैध खनन जारी रहा। इसके कारण यह घटना घटी।

      बता दें कि डुमरीजोड़ के नीचे पुरानी चांच कोलियरी माइंस से कोयला खनन किया गया है। इस वजह से ऊपरी सतह पर भी कुछ कोयला है।

      यही कारण है कि लोग आसानी से लगातार अवैध तरीके से कोयला खनन कर रहे हैं। इस तरह के कुएं के अंदर से मजदूर खदान तक पहुंचते हैं। यहां ऐसे कई कुएं हैं।

      राजधानी स्थित इस बाल सुधार गृह को खुद सुधरने की जरूरत, यहाँ बिगड़ रहे हैं बच्चे

      पटना एसएसपी ने 80 पुलिस अफसरों का लॉटरी सिस्टम से किया ट्रांसफर

      फतुहा रेलवे क्रासिंग पर दादी-पोता-पोती की ट्रेन से कटकर मौत, एक अन्य गंभीर

      बोले पूर्व सीएम जीतन राम मांझी- ‘भगवान नहीं, वाल्मीकि-तुलसीदास के काव्य पात्र थे राम’

      जदयू में हो सकता है बड़ा खेला, सीएम नीतीश के नालंदा संवाद यात्रा के संकेत

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      - Advertisment -
      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      - Advertisment -
      error: Content is protected !!