अन्य
    Sunday, June 16, 2024
    अन्य

      बिहार में शराब की सप्लाई करने वाला झारखंड का बड़ा शराब माफिया राँची से धराया

      झारखंड का बड़ा शराब माफिया विपिन शराब से भरे ट्रक को बिहार में पहुंचाने के लिए अपनी पर्सनल गाड़ी से एस्कॉर्ट करवाता था। विपिन की गिरफ्तारी के बाद कई बड़े खुलासे हुए हैं। बिहार पुलिस की मद्य निषेध विभाग की टीम राज्य के बाहर के शराब माफियाओं पर भी लगातार नकेल कस रही है

      राँची (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। बिहार पुलिस की मद्य निषेध विभाग की टीम राज्य के बाहर के शराब माफियाओं पर नकेल कसने की कवायद में लगातार जुटी हुई है।Big liquor mafia of Jharkhand supplying liquor in Bihar arrested from Ranchi 1

      इसी कड़ी में टीम ने झारखंड में बड़ी कार्रवाई करते हुए राजधानी रांची के एक बड़े शराब माफिया विपिन कुमार सिंह को गिरफ्तार कर लिया है।

      विपिन कुमार सिंह पिछले कई महीनों से लगातार बिहार में शराब की आपूर्ति में जुटा हुआ था।

      मद्य निषेध विभाग की टीम इस शराब माफिया के खिलाफ लगातार सबूत जुटा रही थी और ठोस सबूतों के आधार पर पुलिस ने रांची में दबिश देकर विपिन कुमार सिंह को गिरफ्तार कर लिया।

      इसकी गिरफ्तारी बरियातू इलाके में स्थित बैजनाथ रेसिडेंशियल से हुई है। मद्य निषेध विभाग के एसपी की मानें तो राजधानी में बैठकर विपिन कुमार सिंह बिहार के कई जिलों में शराब की अवैध रूप से सप्लाई कर रहा था।

      उत्तर बिहार के कई जिलों को इसने अपना अड्डा बना रखा था, खासकर सीमांचल में अररिया और उसके अलावा सुपौल और नरपतगंज में यह शराब माफिया लगातार शराब की आपूर्ति कर रहा था। मद्य निषेध विभाग की टीम ने इस पूरे मामले की जांच की तब एक चौंकाने वाला भी खुलासा हुआ।

      दरअसल शराब की खेप लेकर जो ट्रक झारखंड से बिहार आता था उसे उसके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए एक फोर व्हीलर वाहन भी स्कॉर्ट करता था। यह गाड़ी किसी और की नहीं बल्कि गिरफ्तार किए गए शराब माफिया विपिन कुमार सिंह की ही होती थी।

      इस तरह अपने नायाब तरीके से यह चार बार ट्रक से भरा शराब बिहार पहुंचा चुका था। मद्यनिषेध विभाग की टीम को इस बात का भी सबूत मिला है कि पिछले साल नवगछिया के खरीक थाना की पुलिस ने जो शराब की एक बड़ी खेप जब पकड़ी थी, तब वह ट्रक से रांची से पहुंचा था। इस ट्रक को ऑल्टो कार एस्कॉर्ट कर रही थी।

      चालक को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस के पूछताछ से पता चला कि यह विपिन कुमार सिंह के ही नाम पर है। इसके बाद से ही मद्य निषेध विभाग की टीम शराब माफिया तक पहुंचने में लगातार जुटी हुई थी। मद्य निषेध विभाग के अधिकारियों ने कहा कि ट्रांजिट रिमांड मिलने के बाद विपिन कुमार सिंह को पटना लाया जाएगा।

      दो साल बाद कोविड से आजादी, पर अभी भी सावधानी जरूरी !

      झारखंड पंचायत चुनाव पर ग्रहण, आजसू सांसद ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की याचिका

      युवक ने ट्रेन से कटने के पहले बड़े भाई को किया वॉयस मैसेज कि वह क्यों कर रहा है सुसाइड

      बंधु तिर्की झारखंड के 5वें विधायक, कोर्ट से सजा के बाद जिनकी गई विधानसभा की सदस्यता

      अधेड़ संग फरार हुई 3 बच्चों की माँ, मामला दर्ज कराया तो फांसी पर लटकाया

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!