अन्य
    Saturday, May 25, 2024
    अन्य

      भयंकर बम विस्फोटों से थर्राया भागलपुर, कई घर उड़े, दर्जन भर की मौत

      विस्फोट इतना जबरदस्त था कि तातारपुर चौक और घंटाघर के आसपास तक लोग घर से बाहर निकल आए। घटना के एक घंटे के बाद तक बारूद की गंध पूरे शहरी इलाके में फैलती रही। खलीफाबाग के समीप रहने वाले व्यापारी गोपाल खेत्रीवाल ने सोशल मीडिया ग्रुप पर पूछा क्या अभी भूकंप आया। इसी तरह शहर के कई सोशल मीडिया पर भी विस्फोट और भूकंप के कयास को लेकर लोगों ने पोस्ट किए

      भागलपुर (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। भागलपुर के तातारपुर थाना क्षेत्र के काजवलीचक मोहल्ले में गुरुवार रात करीब पौने 12 बजे एक घर के अंदर हुए बम धमाके ने तबाही मचा दी।

      Bhagalpur trembled by fierce bomb blasts many houses were blown up a dozen died 1कुल तीन घर इस धमाके में जमींदोज हो गए, वहीं एक महिला व एक बच्चा समेत नौ की मौत हो गई। 11 घायलों को रात एक बजे तक मलबे से निकालकर अस्पताल पहुंचाया जा चुका है। आसपास के कुछ और मकानों को भी नुकसान पहुंचा है।

      पुलिस ने संकेत दिया है कि बम बनाने के दौरान यह धमाका हुआ। एसएसपी बाबू राम ने बताया कि प्रारंभिक जांच में बम बनाते समय धमाका होने की बात सामने आई है।

      बताया गया कि रात 11.35 बजे मोहल्ले में एक घर में धमाका हुआ। इस मकान में शीला देवी और लीला देवी रहती थी। दोनों गोतनी हैं। धमाके की तीव्रता इतनी ज्यादा थी कि आसपास के दो और मकान जमींदोज हो गए।

      इसके अलावा कुछ और घरों को भी नुकसान पहुंचा है। मकान के टुकड़े आधा किलोमीटर दूर तक उड़े। धमाका शांत होने के बाद लोगों की भीड़ जुटी और खोजबीन शुरू हुई। शीला देवी, गणेश कुमार और एक छह माह के बच्चे की लाश मलबे से कुछ ही देर बाद निकाल ली गई। आधा दर्जन घायलों को भी एक-एक कर अस्पताल ले जाया गय। सभी मृतक और घायल काजवाली चौक, तातारपुर के निवासी हैं।Bhagalpur trembled by fierce bomb blasts many houses were blown up a dozen died 1

      रात को एक बजे करीब जेसीबी मंगाई गई और मलबा हटाने का काम शुरू किया गया। अंदर और कितने लोग थे, यह मलबा हटने के बाद पूरी तरह साफ हो पाएगा। घटनास्थल पर डीआईजी, एसएसपी, डीएम समेत कई वरीय अधिकारी पहुंचे। धमाके की वजह से बिजली के पोल-तार भी बिखर गए। अंधेरा होने के कारण राहत कार्य में दिक्कत आ रही थी।

      धमाके को लेकर एसएसपी का कहना है कि घटना का कारण संभवतः पटाखा मैटेरियल विस्फोट है। अभी तक जो जानकारी मिली है उसके अनुसार पीड़ित परिवारों में से एक परिवार पटाखा बनाने का काम करता था। जिसके घर में पहले भी विस्फोट की घटना हो चुकी है। उसी घर में विस्फोटक पदार्थ से विस्फोट होने की संभावना है। बम डिस्पोजल टीम तथा एफएसएल टीम के निरीक्षण के बाद स्थिति कुछ और स्पष्ट हो सकेगी।

      तातारपुर चौक के पास दोनों ओर के घरों की महिलाएं व बच्चे बाहर निकल आए। महिला आफरीन, शमीमा आदि ने बताया कि आवाज इतनी तीव्र थी कि खिड़कियां खटखटाने लगीं। ऐसा लगा किसी ने खिड़कियां खटखटाई हैं। वे लोग घर से बाहर आए तो देखा आसपास के लोग भी बाहर निकल आए।

      सराय, रामसर चौक, विक्रमशिला कॉलोनी आदि मोहल्ले में भी लोग जग गए। खलीफाबाग के समीप रहने वाले व्यापारी गोपाल खेत्रीवाल ने सोशल मीडिया ग्रुप पर पूछा क्या अभी भूकंप आया।

      इसी तरह शहर के कई सोशल मीडिया पर भी विस्फोट और भूकंप के कयास को लेकर लोगों ने पोस्ट किए। विस्फोट के करीब 25 मिनट बाद मौके पर आए मोजाहिदपुर थानाध्यक्ष सुबोध कुमार के अनुसार बारूद की गंध स्टेशन चौक के पास तक महसूस किया गया। गणेश को अस्पताल ले जाने वाले एंबुलेंस चालक ने बताया कि घंटाघर तक बारूद की गंध आ रही थी।

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!