अन्य
    Sunday, April 14, 2024
    अन्य

      स्कूल संचालक बना दरींदा, फुफेरा भाई को अपहरण कर पहले जिंदा जलाया, फिर शव के टुकड़े कर नदी में फेंका

      नालंदा (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नटेवर्क)। बिहार के नालंदा जिला मुख्यालय बिहार शऱीफ के सोहसराय थाना ईलाके में 50 लाख रुपए की फिरौती के लिए एक अपह्रत युवक को दरिंदों ने पहले जिंदा जलाकर मार डाला और फिर सबूत मिटाने की मंशा से उसके शव के टुकड़े कर उसे समीप के पंचाने नदी में फेंक दिया।

      50 lakh ransom demanded on phone after kidnapping the son of an electrician 2खबरों के मुताबिक, विगत 16 अक्टूबर को बिहार थाना क्षेत्र से विद्युत विभाग के महिला कर्मी के पुत्र का अपहरण हुआ था। अस्पताल चौक के समीप मुसादपुर निवासी उर्मिला देवी ने 20 वर्षीय पुत्र नीतीश के अपहरण का केस बिहार थाना में दर्ज कराया था। जांच के दौरान पुलिस ने स्कूल संचालक समेत दो संदिग्धों को हिरासत में लिया था।

      उसके बाद पुलिस को बदमाशों की निशानदेही पर मंगलवार को सोहसराय के आशानगर स्थित मदर टेरेसा स्कूल परिसर से हत्या के साक्ष्य मिले। युवक को जिन्दा जलाकर, उसके शव को टुकड़ों में कर पंचाने नदी में फेंक दिया था। गिरफ्तार स्कूल संचालक दीपक कुमार मृतक का फुफेरा भाई बताया जाता है।

      बिहार शरीफ सदर डीएसपी शिब्ली नोमानी ने मीडिया को बताया कि बदमाशों की निशानदेही पर स्कूल परिसर से हत्या के साक्ष्य मिले हैं। डॉग स्क्वायड बुलाया गया है। घटना में संलिप्त अन्य बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।’

      The kidnapped electricians son was first burnt alive then the body was cut into pieces and thrown into the Panchane river demanded a ransom of 50 lakhsबता दें कि नीतीश कुमार बिहार थाना इलाके के मुसादपुर अस्पताल चौक निवासी स्व. भुवनेश्वर प्रसाद का पुत्र है। उसकी मां उर्मिला देवी बिजली विभाग में चतुर्थवर्गीय कर्मी है। युवक शनिवार को खंदकपर मोहल्ला निवासी दोस्त से मिलने की बात कहकर घर से निकला था। मां से 150 रुपए लिये थे। रुपए देकर मां ऑफिस चली गई।

      उसके थोड़ी देर बाद उनके नाती ने फोन कर बताया कि मामा साथी से मिलने खंदकपर चला गया है। मैसेज कर तीन बजे घर लौटने को कहा है। इसके बाद मां ने नीतीश को फोन किया तो मोबाइल स्विच ऑफ बता रहा था। उसके दोनों नंबर बंद बता रहे थे।

      दर्ज प्राथमिकी के अनुसार, उसी दिन रात को साढ़े नौ बजे उनके बेटे के मोबाइल से फोन आया। फोन करने वाले ने कहा कि नीतीश की मम्मी बोल रही हैं। 50 लाख रुपए तैयार रखो। कल शाम को फोन करेंगे। नीतीश उसके पास है। थाना में जाओगी तो उसे जान से मार देंगे। उसके बाद उसका मोबाइल फिर से बंद बताने लगा।

      बिहार में माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया पर रोक

      पति से झगड़ा कर घर से ट्रेन पकड़ने जा रही महिला को बंधक बनाकर हफ्ता भर गैंगरेप

      जमशेदपुरः खाली क्वार्टर में ब्राउन शुगर का सेवन करते युवती समेत 7 धराए

      8 IAS अफसर हुए इधर-उधर, बख्शी को फिर मिला IPRD, शशि प्रकाश गए RIMS

      शराब के नशे में धुत चालक ने चुनाव प्रचार वाहन पलटा, 4 बच्चों की दर्दनाक मौत

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!