अन्य
    Sunday, February 25, 2024
    अन्य

      22 सीसीटीवी ने खोला बेगूसराय गोलीकांड का राज, मास्टरमाइंड सहित चार गिरफ्तार

      “घटना का दिलचस्प पहलू यह है कि एसपी के मुताबिक बाइक चलाने वाले युवराज ने भी गोली चलाने में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है, हालांकि एसपी द्वारा मामले का गहन अनुसंधान जारी रहने तथा और खुलासा होने की संभावना जताई गई है…

      पटना, 16 सितम्बर (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। बिहार के बेगूसराय में राष्ट्रीय उच्च पथ-28 एवं 31 पर 13 सितम्बर को हुए सिरियली गोलीकांड के मामले को सुलझा लेने का दावा पुलिस ने किया है। इस मामले में गोलीबारी करने वाले दो एवं घटना की प्लानिंग करने में शामिल दो अपराधी को गिरफ्तार किया गया है।

      22 CCTV opened the secret of Begusarai shooting four arrested including mastermind 2उक्त जानकारी शुक्रवार को आयोजित प्रेसवार्ता में एसपी योगेन्द्र कुमार ने दी और आगे बताया कि कई स्तर के जांच में प्रथम दृष्टया दहशत फैलाने के लिए ताबड़तोड़ गोली मारने का मामला सामने आया है, लेकिन उच्च स्तर पर विभिन्न पहलुओं पर जांच पड़ताल की जा रही है।

      इस मामले में घटना के मास्टरमाइंड बीहट खेमकरणपुर निवासी चुनचुन कुमार उर्फ सत्यजीत एवं केशव कुमार उर्फ नगवा तथा गोली चलाने वाले हाजीपुर पिपरा निवासी सुमित कुमार एवं जैमरा निवासी युवराज सिंह उर्फ सोनू को गिरफ्तार किया गया है।

      इन लोगों के पास से दो देशी पिस्टल, पांच गोली, घटना में प्रयुक्त एक मोटरसाइकिल, घटना में संलिप्त अपराधियों के द्वारा प्रयुक्त कपड़ा, अपराधियों के घर से इनकी दो निजी मोटरसाईकिल एवं घटना में उपयोग किया गया चार मोबाईल बरामद किया गया है।

      एसपी ने बताया कि 13 सितम्बर को बाईक सवार अपराधियों ने बछवाड़ा से चकिया ओपी तक विभिन्न स्थानों पर फायरिंग किया, जिसमें दस व्यक्ति घायल हुए एवं एक की मृत्यु हो गई।

      एसपी ने बताया कि सूचना मिलते ही अनुसंधान शुरू किया गया तथा गश्ती दल के सात पुलिस पदाधिकारी को निलंबित करने के साथ ही बछबाड़ा, तेघड़ा, फुलवड़िया एवं चकिया आठ मामले दर्ज किए गए।

      गठित किए गए चार विशेष टीमों ने आसूचना संकलन, तकनीकी एवं वैज्ञानिक अनुसंधान किया तथा पटना, समस्तीपुर, खगड़िया, जमुई, लखीसराय, मुंगेर एवं जमालपुर रेल पुलिस ने सहयोग किया। इसके साथ ही एसटीएफ, सीआईडी, स्पेशल ब्रांच, एटीएस एवं पुलिस मुख्यालय के वरीय पदाधिकारियों सहित कई अन्य टीमों ने अनुसंधान किया।

      एसपी ने बताया कि प्रथम इनपुट में 22 विभिन्न जगहों पर लगे सीसीटीवी कैमरे का मिलान करने के बाद सबसे पहले पीला कलर का टीशर्ट पहनकर घटना के समय बाइक चलाने वाले युवराज को गिरफ्तार किया गया तो उसने सुमित के घर पर उपयोग किया गया कपड़ा होने की जानकारी दी। जिसमें सुमित के घर से उपयोग किया गया कपड़ा, दो देसी पिस्टल एवं एक बाइक बरामद किया गया।

      इसके बाद लगातार पूछताछ में एक और बाइक पर सवार दो लोगों के संबंध में इनपुट मिला, जिसके गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है। अपराधियों ने गोलीबारी के दौरान बीच में जहां एनएच के अलावा ग्रामीण सड़कों का उपयोग किया, वहीं चकिया क्षेत्र में घटना के बाद सभी गंगा किनारे के रास्ते से लौट गए थे।

      एसपी ने बताया कि घटना के समय और घटना के बाद लगातार सभी से संपर्क रखने वाले मास्टरमाइंड चुनचुन को गिरफ्तार किया गया पुलिस के डर से भाग रहे केशव उर्फ नागा को झाझा स्टेशन पर गिरफ्तार किया गया। चुनचुन पर हत्या, लूट, आर्म्स एक्ट के छह मामले, केशव उर्फ नागा पर दो मामले तथा सुमित पर एक मामले पूर्व से दर्ज हैं।

      ये लोग जेल में थे और जेल में ही भी सभी एक दूसरे के संपर्क में आए थे, कुछ दिन पहले जब चुनचुन जेल से निकला तो उसने साथियों के साथ मिलकर इस घटना को अंजाम देने का प्लान बनाया।

      एसपी के मुताबिक प्रथम दृष्टया इस मामले में कोई राजनीतिक कनेक्शन सामने नहीं आया है तथा दहशत फैलाने की बातें सामने आई है। लेकिन पुलिस की सभी टीम लगातार विभिन्न पहलुओं पर अनुसंधान कर रही है, जिसमें कुछ और इनपुट सामने आने के साथ-साथ गिरफ्तारी भी हो सकती है।

       

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      - Advertisment -
      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      - Advertisment -
      error: Content is protected !!