कोविड-19 रिकवरी रेट में गिरावट जारी, सूबे में 44% तो रांची में 25% पहुंची

0

पूरे देश में जहां रिकवरी रेट 66 प्रतिशत के आसपास है, वहीं झारखंड में यह रेट 44 प्रतिशत के आसपास है।  पूरे राज्य में सबसे अधिक मरीज रांची में मिल रहे हैं, औऱ  राजधानी की रिकवरी रेट पूरे राज्य में सबसे कम है। रांची में रिकवरी का रेट महज 25 प्रतिशत का है…

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज डेस्क। झारखंड में प्रतिदिन औसतन 400 कोरोना संक्रमण के नए मरीज सामने आ रहे हैं। यह चिंता की बात है कि जिस हिसाब से नए मरीजों की संख्या बढ़ रही है, उसके विपरित मरीजों के रिकवरी रेट में भारी गिरावट आयी है।

रांची में पिछले दस दिनों में 600 के करीब मरीज मिले हैं, लेकिन ठीक होने वालों की संख्या 90 के करीब ही है। पूरे झारखंड में 8479 मरीजों की पुष्टि हुई है। जिसमें 3524 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं। वर्तमान में 4288 एक्टिव केस हैं।

वहीं रांची में 1470 में से 1082 एक्टिव मरीज हैं। पिछले एक महीनों में राज्य की रिकवरी रेट 35 प्रतिशत है, वहीं पिछले दस दिनों में यह गिरकर 28 प्रतिशत हो गयी है।

जैसे-जैसे मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है, रिकवरी रेट कम हो रहा है।

रांची में जुलाई के पहले सप्ताह तक झारखंड का रिकवरी रेट 74 प्रतिशत के करीब था, वहीं राष्ट्रीय औसत उस वक्त भी 66 प्रतिशत के करीब था। अब यह रिकवरी रेट 30 प्रतिशत कम हो गया है।

वर्तमान में मरीजों के मिलने की गति बहुत अधिक है, वहीं तुलनात्मक रुप से मरीज कम ठीक हो रहे हैं। इसके अलावा रांची में मरीजों के ठीक होने की रफ्तार में भी भारी गिरावट आयी है।

पिछले एक सप्ताह में प्रतिदिन पांच के औसत से कोरोना संक्रमितों की मौत हो जा रही है। पिछले 20 दिनों में 70 संक्रमित मरीजों की मौत हो गयी है।

सबसे अधिक पूर्वी सिंहभूम जिले के मरीजों की मौत हो गयी है। उसके बाद रांची के संक्रिमत मरीजों की मौत हुई है। रांची के 18 और जमशेदपुर के 22 संक्रमितों की जान जा चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here