पटना के धनरुआ में पुलिस टीम और मुखिया समर्थकों में मुठभेढ़, 4 को गोली लगी, 1 की मौत, थानेदार का सिर फटा, इंस्पेक्टर गंभीर, दर्जनों जख्मी

पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। राजधानी पटना से सटे धनरूआ थाना क्षेत्र के मड़ियावा गांव में चुनाव प्रचार रोकने गई पुलिस दल और एक मुखिया प्रत्याशी समर्थकों के बीच हिंसक झड़प होने की सूचना है। इस झड़प में जहाँ थानेदार का सिर फट गया है, वहीं सर्किल इंस्पेक्टर राम कुमार गंभीर रूप से घायल बताए

The post पटना के धनरुआ में पुलिस टीम और मुखिया समर्थकों में मुठभेढ़, 4 को गोली लगी, 1 की मौत, थानेदार का सिर फटा, इंस्पेक्टर गंभीर, दर्जनों जख्मी first appeared on Expert media news.

 

पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। राजधानी पटना से सटे धनरूआ थाना क्षेत्र के मड़ियावा गांव में चुनाव प्रचार रोकने गई पुलिस दल और एक मुखिया प्रत्याशी समर्थकों के बीच हिंसक झड़प होने की सूचना है। इस झड़प में जहाँ थानेदार का सिर फट गया है, वहीं सर्किल इंस्पेक्टर राम कुमार गंभीर रूप से घायल बताए जाते हैं। उन्हें इलाज के लिए पीएमसीएच रेफर किया गया है।

खबरों के मुताबिक चुनाव प्रचार को लेकर हुए विवाद में पुलिस और एक मुखिया प्रत्याशी की अगुआई में उनके समर्थक आमने-सामने हो गए। इसके बाद मौके पर दोनों ओर से हिंसक झड़प हो गई। दोनों ओर से कई राउंड फायरिंग भी की गई।

फिलहाल लोगों ने पुलिस को घेर लिया है। पुलिस की फायरिंग के बाद स्थानीय लोगों ने भी फायरिंग की है। इस फायरिंग में तीन लोगों को गोली लगने की सूचना है। इनमें से दो घायलों को पीएमसीएच भेजा गया है। इस बीच मौके के लिए सिटी एसपी ईस्ट और एसडीओ रवाना हो गये हैं।

खबरों के अनुसार चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद भी प्रचार किया जा रहा था। सूचना पर पुलिस प्रचार रोकने के लिए गई थी। इस दौरान ग्रामीणों ने पुलिस की टीम को घेर कर हमला कर दिया। लोगों से खुद को बचाने के लिए पुलिस ने फायरिंग की।

खबरों की मानें तो धनरुआ के मोरियामा गांव के समीप चुनाव प्रचार के दौरान पुलिस और मुखिया प्रत्याशी के बेटे के बीच झड़प के मामले ने तूल पकड़ लिया। इस दौरान पुलिस और ग्रामीणों के बीच गोलीबारी हुई, जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गयी।

HP_O_LHS_a1" name="Homepage-Paid-LHS-a1">
';

वहीं तीन अन्य लोग गोली लगने से जख्मी हैं। तनावपूर्ण हालात को देखते हुए कई थानों की पुलिस के साथ भारी संख्या में पुलिस बल को धनरुआ भेजा गया।

इसके बाद मुखिया प्रत्याशी के समर्थकों के पथराव के दौरान धनरुआ थानेदार राजू कुमार का सिर फट गया। वहीं मसौढ़ी के थानेदार रंजीत रजक और सर्किल इंस्पेक्टर भी बुरी तरह जख्मी हो गये। एक दर्जन जवान भी घायल हैं। दोनों ओर से 50 राउंड गोली चलने की बात सामने आयी है।

दरअसल, विवाद शाम के साढ़े चार बजे से शुरू हुआ। पुलिस टीम शराब के लिये छापेमारी करने जा रही थी। तभी मोरियामा गांव के समीप बीच सड़क पर निवर्तमान मुखिया व प्रत्याशी सुरेंद्र साव का प्रचार वाहन पर लाउडस्पीकर की आवाज सुनकर छापेमारी टीम ठहर गयी।

धनरुआ थानेदार ने वाहन में लगे म्यूजिक सिस्टम से चिप निकाल लिया। यह देख सुरेंद्र का बेटा वहां आ धमका और थानेदार से उलझ गया। इस पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। इस बीच सुरेंद्र के समर्थकों ने पथराव शुरू कर दिया, जिसके बाद पुलिस को पीछे हटना पड़ा।

हालात देखकर कई थानों की पुलिस दोबारा छह बजकर दस मिनट पर मोरियामा गांव फ्लैग मार्च करने पहुंची। आरोप है कि इसी बीच सुरेंद्र के समर्थकों ने चारों ओर से पुलिस पर पथराव करना शुरू कर दिया। कुछ लोग फायरिंग भी करने लगे।

यह देख पुलिस ने भी गोली चलायी। गोलीबारी के दौरान चार लोग घायल हो गये। एक व्यक्ति की गोली लगने से मौत हुई, जिसके बाद इलाके में तनाव बढ़ गया।

 

 

<p>The post पटना के धनरुआ में पुलिस टीम और मुखिया समर्थकों में मुठभेढ़, 4 को गोली लगी, 1 की मौत, थानेदार का सिर फटा, इंस्पेक्टर गंभीर, दर्जनों जख्मी first appeared on Expert media news.</p>