27.1 C
New Delhi
Sunday, September 26, 2021
अन्य

    फंसे बिहारी मजदूरों के लिए सीएम रिलीफ फंड से 100 करोड़ का राहत पैकेज

     “कोरोना वायरस के मामले देश में जहां तेजी से बढ़ रहे हैं। वहीं इसे लेकर देश में 21 दिनों का लॉकडाउन है। लॉकडाउन के कारण हर तरह के कामकाज बंद है, केवल जरूरी सेवाओं को इससे मुक्त रखा गया है। ऐसे में रोजाना कमाने-खाने वालों को दिहाड़ी मजदूरों को काफी परेशानी हो रही है। खाने के लाले पड़ रहे हैं…”

    एक्सपर्ट मीडिया न्यूज डेस्क।  कोरोना वायरस संक्रमण की इस मुश्किल घड़ी में सरकार ने राहत पैकेज देकर गरीबों की परेशानी कम करने की कोशिश की है। केंद्र सरकार ने जहां 1.7 लाख करोड़ के राहत पैकेज की घोषणा की है।

    वहीं बिहार की नीतीश सरकार ने राज्य की गरीब जनता के लिए एक सौ करोड़ की राशि दी है। बिहार सरकार ने सीएम रिलीफ फंड से 100 करोड़ रुपये जारी किए हैं।

    इन सबके बीच लॉकडाउन से निपटने के लिए बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने 100 करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की है। बिहार सरकार ने सीएम रिलीफ फंड से 100 करोड़ रुपये जारी किए हैं। इससे पहले बुधवार को सीएम नीतीश कुमार ने राशनकार्ड धारकों के खाते में एक-एक हजार रुपये राशि डालने का एलान किया था।

    कोरोना वायरस के कारण बड़ी संख्या में बिहारी मजदूर दूसरे राज्यों में फंसे है। उनकी समस्याओं से निपटने के लिए बिहार सरकार ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 100 करोड़ की राशि जारी की है।

    इस राशि का उपयोग लॉकडाउन के कारण बिहार के अंदर जो मजदूर, रिक्शा चालक ,ठेला चालक ,वेंडर और अन्य गरीब फंसे हुए है।

    ऐसे लोगों के लिए आपदा राहत केंद्र बनाने और उनके लिए भोजन एवं आवास की व्यवस्था करने में किया जाएगा। जो लोग बिहार के बाहर फंसे हुए हैं या फिर रास्ते में हैं उनके लिए रेसिडेंट कमिश्नर के माध्यम से संबंधित राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन से समन्वय स्थापित कर वहीं पर भोजन एवं आवास की व्यवस्था बिहार सरकार के खर्चे पर की जा रही है। इसके अलावा आपदा राहत केंद्रों पर कोरोना संबंधित स्वास्थ्य सेवाएं भी उपलब्ध रहेगी।

    लॉकडाउन की वजह से बिहार सरकार ने दूसरे राज्यों में फंसे बिहारियों की मदद के लिए अधिकारियों की टीम भी बनाई गयी है।

    उल्लेखनीय है कि दिल्ली में बिहार के लगभग 400, बंगाल में तकरीबन 500, तमिलनाडु में 250 पंजाब में 400 दिहाड़ी मजदूर और अन्य जगह पर काम करने वाले लोग फंसे हुए हैं। और फिलहाल उन्हें बिहार लाना संभव नहीं है।

    ऐसे में बिहार सरकार ने दो फोन नबंर (981831252 और 9773711261) जारी किये हैं, जिनपर संपर्क कर मदद मांगी जा सकती है।

    बिहार सरकार के अधिकरियो की टीम अन्य राज्यो में फंसे बिहारियों कर रहने खाने की व्यवस्था देखेंगे। बिहार सरकार ने इसके लिए दो नंबर भी जारी किए हैं पर फ़ोन कर सहायता मांग सकते है।

    संबंधित खबरें

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    5,623,189FansLike
    85,427,963FollowersFollow
    2,500,513FollowersFollow
    1,224,456FollowersFollow
    89,521,452FollowersFollow
    533,496SubscribersSubscribe