27.1 C
New Delhi
Friday, September 24, 2021
अन्य

    यहां लगा है भूतों का मेला, रोज पहुंच रहे हजारों लोग !

    पलामू (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। एक तरफ राज्य सरकार अंधविश्वास के खिलाफ अभियान चला रही है, तो दूसरी ओर ओझा-गुणी के नाम पर कई लोग दुकानदारी चलाने से बाज नहीं आ रहे। ऐसा ही मामला पलामू जिले के सुदूरवर्ती क्षेत्र छत्तरपुर अनुमंडल के नौडीहा बाजार प्रखंड अंतर्गत करकट्टा पंचायत स्थित झरीवा नदी के तट पर इन दिनों देखने को मिल रहा है। यहां कुछ लोगों ने भूत मेला नाम से एक बड़ा आयोजन किया है। आयोजकों का दावा है कि यहां आने वाले लोगों को भूत-प्रेत के चंगुल से निजात दिलाई जाती है।

    आयोजकों ने भूत मेला का इस ढंग से बढ़ा-चढ़ा कर प्रचार-प्रसार किया है कि हर दिन यहां करीब 20 हजार लोग पहुंच रहे हैं। आयोजकों ने मेलास्थल पर चुनरी, अगरबत्ती, नारियल, इलायची दाना, धूप आदि पूजन सामग्री की दुकान भी लगा रखी है, जहां लोगों का जमकर भयादोहन हो रहा है।

    bhoot1जन्माष्टमी से हो रहा आयोजन

    इस वर्ष कृष्ण जन्माष्टमी के दिन से ही अंधविश्वास को बढ़ावा देने वाले इस मेले का आयोजन हो रहा है। लोग बताते हैं कि आयोजक रमेश भुइयां ने इस मेले को निरंतर 13 वर्षों तक चलाने का संकल्प व्यक्त किया है। यहां छत्तरपुर, नौडीहा बाजार, हुसैनाबाद, हरिहरगंज और सीमावर्ती बिहार के कुछ इलाकों से भी लोग पहुंच रहे हैं। इनमें महिलाओं की संख्या अधिक देखी जा रही है।
    कैसे होता है झाड़ फूंक?

    स्थानीय लोगों के अनुसार इस मेले में जाने वाले लोगों को झरीवा नदी में नहलाया जाता है। आयोजकों का दावा है कि तंत्र और मंत्र से नदी के पानी को इस कदर प्रभावित किया गया है कि इसमें नहाने से भूत-प्रेत के चंगुल में फंसे लोग झुपने लगते हैं। इसके बाद पीडि़त व्यक्ति को पांच दिनों तक ओझा-गुणी के साथ आस-पास बनी कुटिया में रहना पड़ता है।

    प्रशासन है खामोश

    पिछले कई दिनों से इस मेले का आयोजन हो रहा है। इसकी जानकारी पुलिस प्रशासन को भी है, लेकिन अंधविश्वास को बढ़ावा देने वाले इस मेले पर अबतक कोई पाबंदी नहीं लगायी गयी है। इसी का फायदा उठाकर आयोजक लगातार लोगों को भ्रमित कर रहे हैं।

    छत्तरपुर के डीएसपी संजय कुमार ने बताया कि भूत मेला की जानकारी मुझे भी मिली है। इसमें करकट्टा पंचायत के मुखिया वंशीधर साह की भी भूमिका सामने आयी है। पूरे मामले की विस्तार से छानबीन की जा रही है। ग्रामीणों के बीच अंधविश्वास का प्रचार करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी।

    संबंधित खबरें

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    5,623,189FansLike
    85,427,963FollowersFollow
    2,500,513FollowersFollow
    1,224,456FollowersFollow
    89,521,452FollowersFollow
    533,496SubscribersSubscribe