डायन की शक में वार्ड सदस्य और उसके भाई की गला रेतकर हत्या

0
11

खूंटी।  झारखंड में अंधविश्वास के नाम पर खूनी खेल थमने का नाम नहीं ले रहा है। खूंटी में डायन बताकर वार्ड सदस्य तारो कुमारी और उसके भाई परता मुंडा की गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी गयी।

हत्या करने वाले लोग दोनों के सिर को काटकर अपने साथ ले गये। वहीं घर के चार अन्य सदस्यों को भी बुरी तरह पीटा गया है। चारों की हालत गंभीर है।

घटना खूंटी थाना क्षेत्र के लांदुप पंचायत के अम्बाटोली गांव की है। शनिवार को देर रात अज्ञात अपराधियों ने इस घटना को अंजाम दिया है।

बताया जा रहा है कि परता मुंडा खाना खाकर अपने घर में सो रहे थे उसी दौरान 10 की संख्या में आये अपराधियों के वार्ड सदस्य के बारे पूछा और उसके नहीं मिलने पर परिजनों के साथ मारपीट कर दरवाजा बंद कर फरार हो गए। वार्ड सदस्य तारो कुमारी और परता मुंडा का शव रविवार दोपहर सिरुम गांव के खेत से बरामद किया गया।

परिजनों को तारो  और परता के हत्या करने की जानकारी नहीं थी। सुबह से ही परिजन उन दोनों को ढूंढ़ रहे थे। सुदूर इलाका होने के कारण पुलिस को मामले की जानकारी काफी देर से हो पायी।

मौके पर डीएसपी रणवीर सिंह ने पुलिस टीम के साथ पहुंच कर छानबीन की। शनिवार की देर शाम दोनों शवों को थाना लाया गया। सोमवार कों शवो का पोस्टमार्टम कराया जायेगा।

महिला आयोग ने डायन हत्या के मामले को गंभीरता से लिया है। राज्य में डायन हत्या के बढ़ते मामलों को लेकर चाईबासा में शनिवार को महिला आयोग अध्यक्ष कल्याणी शरण ने समीक्षा बैठक की थी। जिसमें कई खुलासे हुए हैं।

बैठक में यह बात सामने आयी की डायन के आरोप में बीते पांच साल में पश्चिमी सिंहभूम में 46 मामले थाना में दर्ज किये गये हैं। 46 में से 32 मामले हत्या के हैं। यानी पांच साल में 32 महिलाओं की हत्या डायन के आरोप में हुई है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.