दिग्गज विधायक सरयू राय को काफिला समेत घंटो बनाया बंधक

0
50

रांची (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज डेस्क)। झारखंड विधानसभा चुनाव में इतिहास रचनेवाले भाजपा के बागी औऱ झारखंड की राजनीति के भीष्म पितामह माने जानेवाले जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय को अपने ही विधानसभा क्षेत्र के लोगों की नाराजगी झेलनी पड़ी।

वैसे ये वही जनता हैं, जिन्होंने सरयू राय को जमशेदपुर पूर्वी में भाजपा के अभेद् किले में सेंधमारी कर राज्य की सत्ता से पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास को बेदखल करने में सहयोग ही नहीं किया बल्कि झारखंड में भाजपा की दुर्गति का कारण भी बनने का अवसर भी दिया।

वैसे वैश्विक संकट के बीच जमशेदपुर पूर्वी की जनता अपने विधायक से किए गए वायदों के तहत क्षेत्र में जरूरी मूलभूत सुविधाओं की मांग को लेकर आज आक्रोशित हो उठे औऱ सिदगोड़ा के बाबूडीह से भोजन बांटकर वापस लौट रहे विधायक सरयू राय के काफिले को  बीच सड़क पर रोक घंटों बंधक बनाए रखा।

इस दौरान इलाके की जनता उनसे पानी को लेकर किए गए वायदों को याद दिला रहे थे। जहां इनका कहना था कि उन्हें खाना का दिखावा नहीं पानी चाहिए।

वैसे विधायक सरयू राय ने दावा किया है कि उनके काफिले को उनके क्षेत्र की जनता ने किसी के बहकावे मे आकर रोका है।

वहीं उन्होंने बताया कि चुनाव से पहले उस इलाके में जुस्को का पाइप गिराया गया था, लेकिन चुनाव समाप्त होते ही वहां से पाइप हटा लिया गया। ऐसे में पूरा मामला जांच का है। हालांकि उन्होंने इसको लेकर जुस्कों के अधिकारियों से बात किए जाने का भी दावा किया।

वैसे विधायक को याद रखना होगा, कि ये वही जनता है, जिसने आपके राजनीति भविष्य को जिंदा ही नहीं रखा बल्कि आपके राजनीतिक भविष्य के लिए संजीवनी का भी काम किया। जनता से किए गए वायदों को अगर पूरा नहीं करते हैं तो इन्हें जवाब तो देना ही होगा।

फिलहाल जमशेदपुर पूर्वी में हवा का रूख बदला-बदला सा नजर आने लगा है। जहां बाबूडीह की जनता का मिजाज देखकर ऐसा कहीं से नहीं लगा कि ये वही जनता है, जिसने सरयू राय को जिताने में सबकुछ दांव पर लगा दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.