क्‍वारंटाइन सेंटर में गर्भवती 3 तब्‍लीगी मामले की जांचोपरांत एफआइआर के आदेश

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज डेस्क। क्वारंटाइन सेंटर में शारीरिक दूरी बनाने के बजाय यौन संबंध बनाने के मामले में तब्लीगी जमात की 3 महिलाओं और उनके साथियों पर एफआइआर का आदेश दिया गया है। प्रशासनिक जांच में रांची क्वारंटाइन सेंटर में तब्लीगी जमात की तीन महिलाओं के गर्भवती होने का भी खुलासा हुआ है।

उपायुक्त छवि रंजन ने अब इस बेहद संगीन मामले में एफआइआर दर्ज करने का आदेश दिया है। क्वारंटाइन सेंटर के प्रभारी के बयान पर आपदा प्रबंधन कानून तोड़ने, एपेडेमिक डिजिज एक्ट की धाराओं में केस दर्ज कराया जा रहा है।

बता दें कि राजधानी रांची के क्‍वारंटाइन सेंटर में 3 तब्‍लीगी महिलाएं गर्भवती हो गईं। कोरोना वायरस संक्रमण के इस भयावह दौर में क्‍वारंटाइन में शारीरिक दूरी के बजाय पुरुष और महिला ने खुलकर एक-दूसरे से शारीरिक संबंध बनाए।

इस मामले का खुलासा होने के बाद देश-दुनिया में इस खबर ने खूब सुर्खियां बटोरीं। तब जाकर शासन-प्रशासन जागा और आनन-फानन में जांच बिठा दी गई।

अब उस जांच में झारखंड के क्‍वारंटाइन सेंटर में तब्‍लीगी जमात की 3 महिलाओं के गर्भवती होने के मामले की जांच से पर्दा उठ गया है।

मामले का खुलासा होने के बाद जिस तेजी से शासन-प्रशासन ने जांच बिठाई, उससे लग रहा था कि जल्‍द ही सच्‍चाई सामने आएगी।

लेकिन, जांच शुरू होने के पहले ही जांच अधिकारी का तबादला कर दिए जाने से सबकुछ ठंडे बस्‍ते में जाता दिख रहा था। लेकिन अब इस मामले में एफआइआर का आदेश दिया गयाहै। इससे पहले नीचे से लेकर ऊपर तक के अफसर मुंह खोलने को तैयार नहीं थे।

इसके पूर्व पुलिस, प्रशासन, स्‍वास्‍थ्‍य विभाग और होटवार जेल प्रबंधन इस मामले से अपना पल्‍ला झाड़ने की कोशिश में जुटा रहा।

तब्‍लीगी महिलाओं के गर्भवती होने का घटनाक्रम….

30 मार्च: रांची के हिंदपीढ़ी इलाके की बड़ी मस्जिद से हिरासत में लिए गए 17 विदेशी स्‍कॉलर।

30 मार्च: रांची के खेलगांव क्‍वारंटाइन सेंटर में रखी गईं 4 महिलाएं समेत सभी विदेशी।

18 अप्रैल: लॉक डाउन तोड़ने और वीजा नियमों के उल्‍लंघन का केस दर्ज होने के बाद सभी को न्‍यायिक हिरासत में लिया गया।

18 अप्रैल: खेलगांव में ही कैंप जेल बनाकर सभी को रखा गया।

20 मई: करीब 50 दिनों तक खेलगांव में रखने के बाद बिरसा मुंडा जेल ले जाया गया।

20 मई: बिरसा मुंडा जेल में मेडिकल जांच के दौरान 3 महिलाओं ने गर्भवती होने की जानकारी दी।

21 जुलाई: झारखंड हाई कोर्ट से जमानत मिलने के बाद सभी 17 विदेशी तब्‍लीगी जमातियों को रिहा कर दिया गया।

रांची के खेलगांव क्‍वारंटाइन सेंटर और फिर बिरसा मुंडा जेल में करीब चार महीनों तक पुलिस-प्रशासन की निगरानी में रह रहीं तब्‍लीगी जमात की 3 विदेशी महिलाएं मेडिकल रिपोर्ट में गर्भवती पाई गईं।

झारखंड हाई कोर्ट से जमानत पाने के बाद जब ये जेल से बाहर आईं, तब इनके हेल्‍थ रिपोर्ट ने यह चौंकाने वाली सच्‍चाई उजागर की है।

क्‍वारंटाइन सेंटर और जेल में किसी से मिलने-जुलने की सख्‍त पाबंदियों और कड़ा पहरा के बीच इनके शारीरिक संबंध बनाने पर कई सवाल उठ खड़े हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.