पीएम आवास योजना में लाखों की ठगी

हिलसा (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। बिहार के सीएम नीतीश कुमार के जिले नालंदा में भ्रष्टाचार चरम शिखर पर है। इसे देखने वाला कोई नहीं है। जिम्मेवार अफसर हर शिकायत में येन-केन-प्रक्ररेण शामिल दिखते हैं।

ताजा मामला नालंदा जिले के हिलसा प्रखंड से जुड़ा है। बारा पंचायत के नदहा नदवर गांव में वार्ड सदस्य ने बतौर बिचौलिया पीएम आवास योजना के दर्जन भर लाभुकों से व्यापक पैमाने पर ठगी की है।

जब इसकी जानकारी हिलसा प्रखंड विकास पदाधिकारी से की गई तो वे पल्ला झाड़ते दिखे। जाहिर है कि इस ठगी में प्रखंड कार्यालय और उसके करींदे भी इसमें शामिल हैं। अब तक कोई जांच कार्रवाई नहीं की गई है।

बताया जाता है कि नदहा नदवर गांव का वार्ड सदस्य रमेश कुमार ने पीएम आवास योजना के दर्जन भर लाभुकों से 20,000-25,000 तक वसूला है। उसने बैंक स्वीप मशीन लाकर हर लाभूक के घर जाकर उनके अंगूंठा लगाकर पूरी राशि निकाल ली और उन्हें आधी राशि ही दी।

सच पूछते तो भ्रष्टाचार का यह खुला मामला पूरे तंत्र को नंगा करता है, वशर्ते वार्ड-पंचायत प्रतिनिधि से लेकर सरकारी कुर्सी तोड़ने वाले अफसर लोग अपनी नंगई देखें तो। एक चालू किस्म का वार्ड सदस्य निरक्षर लाभुको से आधी राशि की वसूली कर डालता है और पूरा तंत्र आंख मूद बैठे रहता है।

जाहिर है कि इसमें मुखिया भी संलिप्त है, जो कि सबकुछ जानते हुए भी अनजान है। इस भ्रष्टचार में संबंधित बेंक वाले भी मिले हुए हैं। तभी तो बिचौलिया वार्ड सदस्य बैंक स्वीप मशीन घर लाकर लाभुक का पैसा हड़प जाता है।

बीडीओ की भूमिका भी कम संदिग्ध नहीं है। इस मामले के खुलासा होने के सप्ताह भर बाद भी कोई सुध नहीं ली है। जबकि पूछे जाने पर मीडिया के सामने रोना रोते नजर आते हैं कि ऐसी जानकारी दीजिए, वे त्वरित संज्ञान लेंगे।

बहरहाल, पूरे मामले कार्रवाई करने के बजाय उसे प्रशासनिक स्तर पर दबाने का खेल शुरु हैं। विश्वस्त सूत्रों के अनुसार इस कार्य में वहां के प्रखंड प्रमुख को लगा है। प्रभावी पीड़ित लाभुकों को पैसे लौटाने की बात कही जा रही है। उन पर दबाव बनाया जा रहा है। उन्हें परेशान करने की धमकी दी जा रही है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.