पर्यावरण और हरियाली बचाने की अनोखी पहल

“दीनानाथ पासवान के द्वारा की गई हरियाली और पर्यावरण की दिशा में इस पहल ने लोगों को सोचने पर विवश कर दिया है। लोग तारीफ कर रहे हैं। “ नगरनौसा (लोकेश)। रामपुर पंचायत के तीनी लोदीपुर गांव के वार्ड 4 के सदस्य दीनानाथ पासवान ने सड़क किनारे लगे बृक्षों में तख्ती टांग कर हरे पेड़ो को न काटने की अपील आम जनो से कर, एक अनोखी पहल की शुरुआत किया। ग्रामीण क्षेत्रों में अक्सर यह देखा जाता है कि अशिक्षित लोग अपनी निजी स्वार्थ के लिए हरे भरे बृक्षों को अंधाधुंध कटाई करते है । ऐसे में वार्ड सदस्य दीनानाथ […]

Read more

नालंदा : पाण्डुलिपियो की उद्गमभूमि – डा उमाशंकर

नालंदा ( राम विलास )। नपांडुलिपियों के संरक्षण एवं संवर्धन के लिए आयोजित तीन दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार नव नालंदा महाविहार डीम्ड विश्वविद्यालय में शनिवार को शुरू हुआ। पांडुलिपिविदो ने संयुक्त रुप से दीप जलाकर सेमिनार का उद्घाटन किया। नव नालंदा महाविहार के पूर्व निदेशक डॉक्टर उमाशंकर व्यास ने बीज वक्तव्य देते हुए कहा कि नालंदा पाण्डुलिपियो की उद्गम स्थल है। प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय से प्राप्त लिखीत पांडुलिपियों से ही संपूर्ण एशिया में पाण्डुलिपि संस्कृति का प्रचार और प्रसार हुआ था। उन्होंने कहा कि बिहार की पांडुलिपियाँ एशिया के बौद्ध देशों को समृद्ध किया है । ” मैन्युस्क्रिप्ट्स ऑफ बिहार एन […]

Read more

मां के मंदिर में मां का प्रवेश वर्जित, गलत धर्म-गलत परंपरा

“घोसरावां के मां आशापुरी मंदिर में वर्षों से चली आ रही यह परंपरा,  इस मंदिर में तांत्रिक विधि से होती है पूजा की विधान “ पावापुरी, नालंदा (अनिल उपाध्याय)। नालंदा के प्रसिद्ध आशापुरी मंदिर में शारदीय नवरात्र में कलश स्थापना के साथ ही महिलाओं का प्रवेश गुरुवार से वर्जित हो गया । पावापुरी से पांच किमी दूर घोसरावां गांव में स्थित इस प्राचीन मंदिर में तांत्रिक विधि से नवरात्र की पूजा होती है, इसी कारण महिलाओं के प्रवेश निषेध की परंपरा है। वर्षों से चली आ रही इस परंपरा को अभी तक निभाया जा रहा है। नियमों के अनुसार शारदीय नवरात्र […]

Read more

नवरात्र में भक्तों की मनोकामना पूर्ण करती हैं ‘मां चंडी’

” चंडी का अपना धार्मिक, ऐतिहासिक और राजनीतिक महत्व रहा है। माता चंडिका के नाम पर इस स्थल का नाम चंडी पड़ा। चंडी में माता चंडी का भव्य मंदिर है। जहाँ भक्तों की मनोकामना पूर्ण होती है।” चंडी (संजीत कुमार)। गुरुवार से पवित्र शारदीय नवरात्र की शुरुआत हो रही है। नवरात्रि को लेकर मंदिर की साफ- सफाई अंतिम चरण में है। ऐसे ही शारदीय नवरात्र में चंडी के मां चंडी मंदिर का अपना धार्मिक महत्व है । हालाँकि चंडी प्रखंड का लिखित इतिहास का संकेत कही नहीं मिलता है । लोक स्मृति की व्यापकता ही प्रमाण मानी जाती रही है […]

Read more

मोहर्रम मेला के सफलता के लिय बैठक, सलीम अन्सारी बने कमिटि अध्यक्ष

ओरमाँझी,रांची (मोहसिन)। रविवार को सेंट्रल मुहर्रम कमिटि द्वारा मोहर्रम मेला के सफल आयोजन पर विचार विमर्श के लिये हरचन्डा मेला मैदान में मो. सलीम अंसारी की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित किया गया। इस बैठक में चकला दरदाग सिलदीरी हरचन्डा बरवे बसाती डहु व अन्य गांवों के मोहर्रम अखाड़ा कमेटी के  प्रतिनिधि  व बुद्धिजीवी लोग उपस्थित हुए मोहर्रम मेला के सफल आयोजन के लिए कमेटी का पूर्ण गठन किया गया, जिसमें में सर्वसम्मति से अध्यक्ष मो. सलीम अंसारी, उपाध्यक्ष मो. जियाउल अंसारी, सचिव मो. इस्लाम अन्सारी , मो. फरीद अंसारी, कोषाध्यक्ष अशफाक अंसारी व सरपस्त में मो. बसीरुल हक  मो. […]

Read more

आस्था का सबसे बड़ा केन्द्र है हिलसा की श्री बड़ी दुर्गा स्थान

” सहयोग से हर वर्ष की जाती है मां दुर्गा की प्रतिमा की स्थापना, नरसिंह प्रसाद द्विवेदी ने 95 वर्ष पहले की थी पूजा की शुरुआत” हिलसा (चन्द्रकांत)। शहर स्थित बड़ी दुर्गा स्थान आस्था का सबसे बड़ा केन्द्र है। यहां हर साल सहयोग से ही मां दुर्गा की प्रतिमा का स्थापना किया जाता रहा है। यहां दुर्गापूजा की शुरुआत आज से करीब 95 साल पहले शहर दारोगाकुआं निवासी नरसिंह प्रसाद द्विवेदी ने की थी। चर्चाओं के मुताबिक धार्मिक विचार वाले श्री द्विवेदी मंदिर निर्माण के लिए न केवल अपनी जमीन दान में दी बल्कि मां दुर्गा की एक छोटी प्रतिमा […]

Read more

‘मोक्ष एवं ज्ञान की नगरी’ गयाः अतीत से वर्तमान का गौरवशाली सफर

गया से एक्सपर्ट मीडिया न्यूज के लिए जयप्रकाश की रिपोर्ट ‘मोक्ष एवं ज्ञान की नगरी’  गया का नाम एक राक्षस “गयासुर” के नाम पर पड़ा । गया पर पालनहार विष्णु जी का आशीर्वाद बरसता है। गया के कण -कण में छिपा है मोक्ष एवं ज्ञान की ढेरों कहानियाँ । गया का उल्लेख महाकाव्य रामायण में भी मिलता है ।त्रेता युग में मर्यादा पुरूषोतम राम ने राजा दशरथ को फल्गू नदी(पहले निरंजना नदी) के तट पर पिंडदान किया था । भगवान विष्णु के पांव के निशान पर विष्णु पद मंदिर का निर्माण कराया गया ।1787 में होल्कर वंश की महारानी अहिल्या […]

Read more

राजगीर महावीर जन्म भूमि मार्ग पर रोक के बाबजूद यूं सजी है मीट-मछली की दुकानें

बिहारशरीफ (संवाददाता)। राजगीर नगर पंचायत कार्यालय में भ्रष्टाचार और निकम्मेपन की जड़ें कितनी गहरी है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि एक सरकारी आदेश के क्रियान्वयन के क्रम में कागजों पर ही खजाना फूंक डाले गये। और सब कुछ जानते हुये भी कहीं से कोई कार्रवाई नहीं हुई और वर्तमान में समस्या यथावत है। बिहार सरकार के निदेशक कार्पालक प्रशासन, संसदीय सचिव नगर विकास एवं आवास विभाग ने कार्यालय पत्रांक-3322 दिनांक- 30.06.2016 को ही बिना सरकारी अनुमति के राजगीर महावीर के जन्म भूमि के मुख्य मार्ग एन.एच-82 पर मांस, मछली आदि की बिक्री बंद करने का […]

Read more

गवर्नर को झारखंड भू-अर्जन संशोधन और धर्म स्वतंत्र बिल मंजूर

  रांची। झारखंड धर्म स्वतंत्र और भू अर्जन संशोधन बिल को राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने मंजूरी दे दी है। अब दोनों बिलों को राष्ट्रपति के पास भेजा जाएगा। राष्ट्रपति की मंजूरी मिलते ही यह कानून बन जाएगा। ये दोनों बिल झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र में 12 अगस्त को पारित हुआ था। इसके बाद इसे राज्यपाल को भेजा गया था। धर्म स्वतंत्र विधेयक में बलपूर्वक धर्मांतरण कराने वालों को तीन साल की सजा और 50 हजार रुपए जुर्माने का प्रावधान है। अगर किसी नाबालिग, महिला या एससी-एसटी का जबरन धर्मांतरण कराया गया तो चार साल की सजा और एक लाख रुपए […]

Read more

वैदिक मंत्रोच्चार के साथ शूरू हुआ विश्व प्रसिद्ध पितृ पक्ष मेला

गया से एक्सपर्ट मीडिया न्यूज के लिए  जयप्रकाश की रिपोर्ट….. बिहार का राजकीय और  विश्व प्रसिद्ध पितृपक्ष मेला का उद्घाटन मंगलवार को राज्य के नए डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने की।इस उद्घाटन के साथ ही ‘मोक्ष की नगरी’गया में एक पखबारे तक चलने वाली राजकीय  पितृ पक्ष मेला का अगाज हो गया ।मेले में पहुँचे विद्वान पंडितों ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ मेले की शुरुआत की। बुधवार  को गया के फल्गु नदी पर स्नान के साथ ही श्राद्ध एवं तर्पण की शुरुआत हो चुकी है ।गुरुवार को प्रेतशिला की सभी वेदियों पर पिंडदान का विधान है । मंगलवार देर […]

Read more
 Prev 1 2 3 4 5 6 Next
1 2 3 4 5 6