राजगीर विधायक ने खुद की अनुसंशित पहली योजना का किया उद्घाटन

“इस मौके पर विधायक  ने बताया कि पांच लाख की लागत से सीढ़ी का निर्माण कराया गया है। जो इस विधान सभा क्षेत्र का पहली योजना है।” गिरियक ( निसार अंसारी )। नालन्दा जिले के गिरियक प्रखंड के इसुआ ग्राम में राजगीर विधायक रवि ज्योति स्वंय की अनुसंशित पहली योजना से बने सीढ़ी का उद्घाटन विधायक ने किया । उन्होंने कहा कि क्षेत्र के विकास के लिए सभी योजनाओं को पूरा कराना ही प्राथमिकता है। साथ ही इस क्षेत्र के गांव ग्राम में हर वर्ग के युवाओं को शिक्षा और रोजगार से जोड़ने की पहल की जाएगी और उन्हें हर सम्भव […]

Read more

गांवों में छठ पर्व घाटों व रास्तों की सफाई में जुटे युवा

“इस रास्ते को विधायक मद से काली करण व पीसीसी ढ़लाई की स्वीकृति पूर्व में मिल चुका है ,लेकिन स्वीकृति मिलने के बाद काम न होने से रास्ते की स्थिति ज्यों का त्यों बरकरार है।” नगरनौसा (लोकेश)। प्रखंड क्षेत्र के अनगिनत गांवो के युवाओं ने मंगलवार की सुबह से ही लोक आस्था का महापर्व छठ पूजा को ले छठ घाटों की साफ सफाई में जुट गये हैं।  तीना गांव में डेवलपिंग युवा क्लब के युवाओं ने गांव से लेकर छठ घाट तक जाने वाली तथा गांव की मुख्य रास्ते को जेदोजेहाद कर पुनः बना डाला जो वारिश के कारण बिल्कुल […]

Read more

सूर्य अराधना की आदि भूमि है बड़गांव

“बिहार की धरती प्राचीन काल से ही भगवान सूर्य की उपासना, अराधना और अघ्र्यदान के लिए महत्वपूर्ण रहा है। सूर्य अराधना की परंपरा आज भी मगध व बिहार में है। छठव्रत के रूप में यह पर्व यहां मनाया जाता है।” नालंदा (राम विलास)।  प्राचीन काल से सूर्य अराधना की परंपरा है। भले ही प्राचीन काल में सूर्य मंदिर निर्माण के उल्लेख कम मिलते हैं। लेकिन मौजूद मंदिरों की बनावट, संरचना और मूर्ति के आधार पर प्राचीन काल में स्थापित सौर पंथ की महता को नकारा नहीं जा सकता है। देश में अधिकांश मूर्तियां गुप्तवंश के शासनकाल की बतायी जाती है। […]

Read more

खेतों और गाँव से हल-बैल गायब, ट्रैक्टर की होने लगी पूजा

नालंदा (राम बिलास)। पांच दिवसीय दीपोत्सव में लक्ष्मी पूजन के साथ गोवंश पूजा का भी महत्व है। इसीलिए लक्ष्मी पूजन से पहले गाय पूजी जाती है। दीपावली के अगले दिन गोवंश के नाते बैलों का पूजन होता है। लेकिन अब आधुनिक युग में सदियों पुरानी यह परंपरा विलुप्त होती जा रही है। खेतों में बैलों की जगह ट्रैक्टरों ने ले ली है। इसीलिए अब बैल  की जगह ट्रैक्टर पूजा जा रहा है। नालंदा के इलाके में ऐसी घटनाएं देखने को मिल रही है। शुक्रवार को गाँव- गाँव में गोवर्धन पूजा का आयोजन  किया गया। बैलों की जगह किसान गोवर्धन पूजा […]

Read more

 पावापुरी महोत्सव का रंगारंग अगाज, अद्भुत है नालंदा की धरती : नीतीश 

“सीएम नीतिश कुमार ने कहा कि ऐसा काम करें जिससे सबका मंगल हो। भगवान महावीर की जन्म भूमि कोई कुण्डलपुर तो कोई लछुआड़ बताते हैं । लेकिन हमलोग महावीर की जन्म भूमि वैशाली किताबों में पढ़े हैं ।  जन्म स्थान जहाँ हो है तो बिहार में ही।” नालंदा ( राम विलास )। मंगलवार की शाम जैन तीर्थ क्षेत्र पावापुरी में दो दिवसीय पावापुरी महोत्सव का रंगारंग  अगाज हुआ।  इस महोत्सव का उद्घाटन करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा नालंदा की धरती  अद्भुत है । यहाँ के कण-कण में विरासत है।  ज्ञान भूमि, मोक्ष भूमि  और इतिहास भूमि  बिहार  है। […]

Read more

2543वां महावीर निर्वाण महोत्सवः सज-धज यूं तैयार हुआ पावापुरी

भगवान महावीर का 2543 वां निर्वाण महोत्सव मनाने के लिए दिगम्बर जैन कोठी , श्वेताम्बर एवं समावशरण मंदिर कमिटी की ओर से भी सारी तैयारियां पूरी कर ली गयी है। दिगम्बर जैन कोठी के प्रबंधक अरुण कुमार जैन एवं संदीप जैन ने बताया कि जैन श्रदालुओ के लिए बिहार स्टेट दिगम्बर जैन तीर्थ क्षेत्र कमिटी की ओर से भी हर जरुरी व्यवस्थाएं पूरी कर ली गई है। इस महोत्सव को लेकर दिगम्बर जैन कोठी को आकर्षक ढंग से सजाया गया है, दुल्हन की तरह सजाने से शाम के समय यह स्थान लाइटों से जगमगा उठी है। इस कमिटी के मानद […]

Read more

..और मासिच की एक तिली फेंकते ही देखिये कैसे धधक उठा रांची का यह छठ तालाब

“रांची के मेयर के  निरीक्षण के दौरान किसी शख्स ने माचिस की जलती तिल्ली पानी में फेंक दी। देखते ही देखते तालाब के पानी से आग का गुब्बार बन गया। इस तालाब  में लोग महापर्व छठ की अराधना करते हैं।” रांची (संवाददाता)। एक व्यक्ति ने रांची के मेयर के सामने चुटिया पावर हाउस तालाब में माचिस की एक जलती तीली क्या फेंका, समूचा तालाब धधक उठा। शुक्र है कि इस तालाब की पोल छठ महापर्व के पहले खुल गया। अन्यथा पर्व के दौरान दीपक या अगरवती से एक बड़ा हादसा हो सकता था। खबर है कि छठ महापर्व की तैयारियों […]

Read more

द्वापर युगकालीन प्रसिद्ध बड़गांव छठ मेला को मिले राजकीय दर्जा

“सूर्य तालाब,  उसके घाटों और मेला क्षेत्र में रोशनी के व्यापक इंतजाम होंगे। बिजली और पानी की अवाधित  अपूर्ति होगी।  तालाब के पास गोताखोर  और एसडीआरएफ की टीम तैनात की जाएगी।मेला में एंबुलेंस और अग्निशामक वाहन तैनात किए जाएंगे । मेले की सुंदर व्यवस्था के लिए बड़गांव छठ मेला को राजकीय मेला का दर्जा देने की मांग सरकार से की गई।” नालंदा ( राम विलास  )।  बड़गांव छठ मेला को राजकीय मेला का दर्जा देने की मांग सरकार से की गई है। चार दिवसीय  बड़गाव छठ मेले की तैयारी को लेकर सिलाव प्रखंड प्रशासन द्वारा शनिवार को  आयोजित बैठक में […]

Read more
Pages: Prev 1 2 3 4 5 6 Next
1 2 3 6