“पकड़े गए महिलाओं ने पहले अलग-अलग पता बताया, लेकिन जब सख्ती से पूछताछ की गयी तो सभी का असली चेहरा सामने आया और पता चला कि यह सेक्स रैकेट एक 74 साल का बुजुर्ग के हाथों संचालित हो रहा था

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज डेस्क। खबर है कि जमशेदपुर के सीतारामडेरा थाना के भुइयांडीह चन्नी अपार्टमेंट मंगलवार की शाम को पुलिस द्वारा की गयी छापामारी में सेक्स रैकेट का खुलासा हुआ है।

पुलिस ने इस मामले में 4 महिलाओं और दो पुरुष को जेल भेजा है। भुइयांडीह चन्नी अपार्टमेंट में रहने वाले सेल के पूर्व कर्मचारी इकबाल सिंह को भी पुलिस ने जेल भेजा है, जो सेक्स रैकेट का धंधा संचालक की भूमिका में था।

इसके अलावा कदमा, टुइलाडुंगरी और साकची गुरुद्वारा बस्ती की रहने वाली महिला के साथ बनारस (उत्तर प्रदेश) की महिला को भी पुलिस ने जेल भेजा है।

जेल भेजे गये एक युवक का नाम मोहम्मद कबूल है, जो खुद मानगो आजादनगर का रहने वाला है और चीन में मेडिकल के फाइनल इयर का स्टूडेंट है।

पुलिस ने मंगलवार को जब छापामारी की तब बुजुर्ग ने भी अपने आपको पाक-साफ बताया था जबकि महिलाओं को अपना जानने वाला बताया था।

महिलाओं ने भी अपना अलग-अलग पता बता दिया था। जब सख्ती से पूछताछ की गयी तो सभी का असल पता सामने आ गया और मालूम चला कि वहां सेक्स रैकेट ही संचालित होता था। 74 साल का बुजुर्ग ही यह सारा कुछ चलाता था।

74 साल के बुजुर्ग इकबाल सिंह की पत्नी की दो साल पहले मौत हो गयी थी, जबकि उनके दो बेटे है, जो दोनों बेटे अमेरिका में रहते है।

इस दौरान इकबाल सिंह के खिलाफ लोगों में काफी गुस्सा था। इकबाल सिंह की देखरेख में सारा कुछ चलता था। लड़कियां हर दिन बदलती थी, लड़कियों के कस्टमर भी बदलते रहते थे और फिर अपनी प्यास बुझाकर सारे लोग चले जाते थे।

इसी खेल के बीच में पुलिस ने छापामारी कर दी और ये लोग पकड़े गये। चीन में मेडिकल का फाइनल इयर के स्टूडेंट भी इनके साथ हो गये थे।

74 साल के बुजुर्ग इकबाल सिंह को पुलिस ने पकड़ा था, जिसको बाद में फिर से पुलिस ने गिरफ्तार किया। गिरफ्तारी के वक्त भी बुजुर्ग स्थानीय लोगों से ही उलझ गया था।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.