1.5 लाख रुपए घूस लेकर अपराधी को छोड़ने वाले बेउर थानाध्यक्ष समेत 5 पुलिसकर्मी गिरफ्तार

4 दिन पहले नौबतपुर में लुटेरों ने 18 लाख 41 हजार के सिक्के लूट लिए थे। अगर उस दिन डेढ़ लाख रुपया लेकर लुटेरे को नहीं छोड़ा जाता तो नौबतपुर सिक्का लूट कांड के अपराधी उसी दिन पकड़े जाते…”

पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। खाकी वर्दी पर बदनुमा दाग बने बेउर थाना अध्यक्ष प्रवेश भारती सहित चार पुलिसकर्मियों को पटना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

रात्रि अचानक गांधी मैदान थाना पहुंचे पटना डीआईजी सेंट्रल रेंज राजेश कुमार और पटना एसएसपी गरिमा मलिक देर रात अचानक गांधी मैदान थाना पहुंचे।

उन्होंने पत्रकारों को मामले की जानकारी हुए मीडिया को बताया कि लूट की इस वारदात को अंजाम देने के बाद भागने के क्रम में लुटेरों की गाड़ी बेउर थाने के पेट्रोलिंग ने पकड़ लिया था। लुटेरों के साथ थाने के प्रभारी प्रवेश भारती और अन्य आरोपी पुलिसकर्मियों ने डेढ़ लाख रुपया लेकर लुटेरों की गाड़ी को छोड़ दिया गया। इस मामले में गिरफ्तार दो अपराधियों ने जब बेउर थाने की पूरी कहानी पटना पुलिस को बताया तो आला अधिकारी सन्न रह गए ।

दोनो अपराधियों ने पुलिस के सामने बेउर थाना अध्यक्ष प्रवेश भारती और उसमें संलिप्त चारो अधिकारियों का पूरा राज खोल दिया। इसके बाद आनन-फानन में पटना पुलिस के आला अधिकारियों ने एक्शन लेते हुए पांचो पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार कर लिया।

अपने ही महकमे में इस तरह के कारनामे करने वाले पुलिसकर्मियों की कारस्तानी देखकर पटना पुलिस के आला अधिकारी सन्न है। फिलहाल सभी पुलिसकर्मियों को पटना के गांधी मैदान थाना में गिरफ्तार करके आगे की कार्रवाई की जा रही है।

वहीं गांधी मैदान थाना पहुंचे डीआईजी (सेंट्रल रेंज) राजेश कुमार ने कहा कि पिछले 15 और 16 जुलाई को रात्रि में एक लूट की घटना हुई थी जिसमें लगभग 18 लाख रुपए के सिक्के लूट लिए गए थे। लूट के बाद सभी अपराधी गाड़ी लेकर सिपारा पुल होते हुए पुनपुन मसौढ़ी की ओर जा रहे थे।

इस क्रम में सिपारा पुल के नीचे बेउर थाना की गस्ती दस्ता ने उन अपराधियों को पकड़ लिया था । उस गाड़ी में उस समय 4 लोग सवार थे और उस गाड़ी में 18 लाख के लूटे गए सिक्के भी थे।

उन्होंने कहा कि रात्रि गस्ती में सभी जवानों और थाना प्रभारी ने मिलकर उन अपराधियों से डेढ़ लाख रुपया रिश्वत लेकर उन अपराधियों को छोड़ दिया। जब नौबतपुर सिक्का लूट मामले में दो अपराधी पप्पू सिंह और पिंटू सिंह गिरफ्तार किए गए।

तब उन लोगों ने इंटेरोगेशन में बताया कि कैसे बेउर थाना ने डेढ़ लाख रुपया लेकर उन लोगों को छोड़ दिया था।

इस वक्त पटना एसएसपी गरिमा मलिक भी पटना डीआईजी राजेश कुमार के साथ गांधी मैदान थाने में मौजूद थी। आगे डीआईजी राजेश कुमार ने कहा कि पुलिस ऐसी किसी भी प्रकार की कोताही कभी बर्दाश्त नहीं करेगी। अगर चोरों के लिए सजा है तो पुलिस वालों के लिए भी सजा।

उन्होंने कहा कि गिरफ्तार सभी पुलिसकर्मियों से आगे की भी पूछताछ की जा रही है। हर बिंदु पर जांच की जा रही है।

गिरफ्तार पुलिस कर्मियों के नाम इस प्रकार हैं…. बेउर थाना प्रभारी प्रवेश भारती, बेउर थाना एएसआई सुनील चौधरी, बेउर थाना एएसआई विनोद राय, बेउर थाना के होमगार्ड जवान विनोद शर्मा और बेउर थाना सिपाही कृष्ण मुरारी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.