हिरण्य पर्वत से गिर कर युवती की मौत, पुलिसिया लफड़े में उलझा मददगार छात्र

0
24

“आज बिहार शरीफ में एक छात्र को मानवता दिखाना उस समय महंगा पड़ गया, जब वह  पहाड़ से संदिग्ध अवस्था में  गंभीर रुप से घायल एक अज्ञात  युवती को अपने जेब खर्च से  किराए के वाहन के जरिए  अस्पताल पहुंचाया और दुर्भाग्यवश  जो चल बसी। इधर पुलिस  मददगार छात्र  को ही थाने ले जाकर मानसिक तौर पर प्रताड़ित कर रही है। शायद इसीलिए कोई आम जन पुलिस के लफड़ों से बचने के लिए ऐसे जोखिम उठाना नहीं चाहते….”

बिहार शरीफ (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। नालंदा जिला मुख्यालय बिहारशरीफ की रौनक हिरण्य पर्वत (बड़ी पहाड़ी) से गिरकर एक युवती की मौत हो गई है। युवती ने पहाड़ी से खुद छलांग लगाकर आत्महत्या की है या किसी ने उसे पहाड़ी से नीचे फंक दिया है। यह अभी साफ नहीं हो सका है।

प्रत्यक्षदर्शी रोहित कुमार के अनुसार वह युवती को पहाड़ी से गिरते देखा तो उसे बचाने का प्रयास किया लेकिन युवती पहाड़ी की ऊंचाई से गिरते हुए के बीच में उगे एक बड़पीपल की झाड़ में जा अटकी।

कुछ लोगों की मदद से रोहित पहाड़ी के बीच से जख्मी को मामू भागना के पास सड़क पर उतरा। वहां से ऑटो कर जख्मी को लेकर करीब 3 किलोमीटर दूर बिहार शरीफ सदर अस्पताल लाया, जहां युवती ने दम तोड़ दिया।

युवती की पहचान नहीं हो सकी है। उसकी उम्र करीब 17 -18 वर्ष है और वह आसमानी कलर का समीज व उजला रंग का जींस पहने हुए हैं। देखने वह मध्यवर्गीय परिवार की लग रही है।

कहते हैं कि घटना की सूचना मिलने के बाद बिहार शरीफ सदर अस्पताल पहुंची सोहसराय थाना पुलिस रोहित को पूछताछ के लिए थाना ले गई है।

रोहित बेन थाना क्षेत्र के जफरा गांव का रहने वाला है और वह विल्कुल साफ-सुथरा मानवीय चरित्र का लड़का है और बिहारशरीफ में रहकर वह पढ़ाई कर रहा है। जफरा गांव वाले भी रोहित को एक अच्छा युवक बता रहे हैं। पुलिस रोहित की मानवता ही उसके लिए जी का जंजाल न बना दे।

इधर युवती को बचाने के रोहित के प्रयास की लोग खूब प्रशंसा कर रहे हैं। इधर पुलिस का कहना है कि जांच अभी शुरुआती दौर में है अभी कुछ भी कहना गलत होगा। यानि अभी वह अपना सारा ध्यान रोहित की मानवयीता पर ही केन्द्रीत कर रखा है।

ऐसे भी नालंदा पुलिस अपनी विफलताओं को कल्पित कहानी से ढंकने में माहिर रही है। इससे रोहित के परिजन काफी डरे सहमें नजर आ रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.