स्किज़ोफ्रीनिया के शिकार हो गये बक्सर के डीएम मुकेश पांडेय !

Share Button

“मुकेश पांडेय ने जिस तरीके से आत्महत्या की और उसके पूर्व व्यवहार प्रदर्शन किये, वैसा कोई विछिप्त शख्स ही कर सकता है। सिर्फ हताश या निराश आदमी ऐसा नहीं कर सकता कि वे दिल्ली जाये। सुसाइड नोट लिखे। व्हाटस्एप्प संदेश भेजे। मोबाईल कहीं और छोड़े। आत्महत्या कहीं और जाकर करे, वह भी ट्रेन से कट कर।”

 पटना (संवाददाता)। बिहार के बक्सर के जिलाधिकारी मुकेश पांडेय की आत्महत्या से जुड़े जिस तरह की सूचनाएं अब तक सामने आई है, उससे यह साफ हो गया है कि वे पारिवारिक व अंदरुनी कलहों के बीच मानसिक रुप से विक्षिप्त हो चुके थे। भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी होने के बाबजूद पांडेय सरीखे लोगों द्वारा इस तरह के कदम उठाया जाना समाज के लिये अच्छे संदेश देने वाली कदापि नहीं हैं।

मुकेश पांडेय की लाश गाजियाबाद रेल पुलिस ने बरामद की। पांडेय 2012 बैच के IAS अफसर थे। बिहार के ही रहनेवाले हैं। आत्महत्या के पहले मुकेश पांडेय ने अपना सुसाइड नोट नई दिल्ली के चाणक्यपुरी में स्थित 7 स्टार होटल लीला के कमरा संख्या 742 में छोड़ा था। बाद में वे अपना मोबाइल जनकपुरी इलाके में छोड़ आये थे।

मुकेश पांडेय ने जिलाधिकारी के रूप में पहली पदस्थापना पिछले ही हफ्ते बक्सर में प्राप्त की थी। इसके पहले वे कटिहार में DDC के पद पर तैनात थे।

दिल्ली पुलिस की जांच से यह बात साफ हो गई है कि पांडेय का अपने घर वालों से तनाव चल रहा था। उनसे न पत्नी खुश थी  और न ही घरेलू झगड़े से अभिभावक। मुकेश पांडेय ने आत्महत्या करने जाने के पहले अपने घर मोबाईल से जो संदेश भेजा था, उसमें उन्होंने जिन्दगी से तंग आ जाने और अच्छाई से विश्वास उठ जाने की बात की थी।

उन्होंने यह भी बता दिया था कि वे दिल्ली में आत्महत्या करने जा रहे हैं। इस संदेश के मिलते ही परिवार वाले बेचैन हो गए थे। फिर बिहार से किसी वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने दिल्ली पुलिस को संपर्क साधा और मदद करने को कहा।

दिल्ली पुलिस ने कार्रवाई घर भेजे गए संदेशे के आधार पर ही शुरू की। इस संदेश में यह भी लिखा था कि मैं अपना सुसाइड नोट दिल्ली के होटल लीला पैलेस के रूम नंबर 742 में छोड़ दूंगा। दिल्ली पुलिस संदेशे के आधार पर लीला पैलेस पहुंची। कमरे में IAS मुकेश पांडेय का सुसाइड नोट मिल गया। आगे जानकारी यह जुड़ती गई कि वे जनकपुरी इलाके के होटल पिकाडिली के करीब में छत से कूद कर जान दे देंगे।

इसके बाद दिल्ली पुलिस दौड़ी-दौड़ी जनकपुरी में बताए स्थान पर गई। लेकिन वहां किसी के आत्महत्या करने की कोई निशानदेही नहीं मिली। लेकिन मोबाइल प्राप्त हो गया। पुलिस ने आगे की जांच शुरू की। दिल्ली में सबों को अलर्ट किया गया। तभी गाजियाबाद रेल पुलिस से खबर मिली कि एक व्यक्ति ने ट्रेन से कटकर जान दे दी है। व्यक्ति देखने में ठीकठाक लग रहा है, लेकिन चेहरा इतना विक्षिप्त है कि पहचान नहीं की जा सकती।

दिल्ली पुलिस के अधिकारी भागे-भागे गाजियाबाद पहुंचे। मिली लाश की शिनाख्त IAS मुकेश पांडेय के रूप में ही हुई। यहां भी मुकेश पांडेय ने एक ऐसा पुर्जा छोड़ दिया था, जिससे उनकी पहचान हो जाती। शव को देखने से पता चला कि आत्महत्या करने के लिए IAS मुकेश पांडेय ने अपने सिर को पटरी पर रख दिया था।

बक्सर के डीएम मुकेश पांडेय ने  लिखा  अपने सुसाइड नोट में….

“I am committing suicide In district centre area of janakpuri west delhi near hotel piccadilly by jumping off 10th floor of the building,I am fed up with life and my belief on human existence has gone,my suicide note is kept in Nike bag in room 742 of leela palace hotel in delhi!I am sorry I love you all!plz forgive me!”

Related Post

83total visits,1visits today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...