सीएम रघुबर दास की एक खेल कार्यक्रम की खास  झलकियां

Share Button

– मुकेश भारतीय –

सीएम के पहुंचने के बाद अमर शहीद शेख भिखारी सद्भावना कप के बालिका फुटबॉल फाईनल मैच खेल खत्म हुआ। विजेता और उप विजेता टीम सीएम के हाथों शिल्ड लेने को उतावली थीं। सीएम मंच से जब बिटिया के कशीदे कढ़ रहे थे तो वे आत्मविभोर थी लेकिन, सीएम भाषण अपना भाषण खत्म करने के कुछ देर बाद ही मंच से उतर कर खिलाड़ियों से मिले वगैर वापस लौट गये। उसके बाद बालिका खिलाड़ियों के चेहरे पर निराशा के भाव साफ नजर आ रहे थे।

***************

 सीएम के मंचासीन होने के दौरान ही अमर शहीद शेख भिखारी सद्भावना कप के बालक फुटवॉल फाईनल मैच के दौरान खिलाड़ियों में अनुशासनहीनता काफी  दिखी। एक बार रेफरी के फैसले को लेकर खिलाड़ी आपस में 5 मिनट तक आपस में उलझते रहे। दूसरी बार एक टीम के खिलाड़ी ने दूसरे टीम के खिलाड़ी को धक्का दिया तो धक्का खाये खिलाड़ी ने जोरदार तमाचे से पलटवार कर दिया।

***************

सीएम ने जब अपने संबोधन में दंगल फिल्म का जिक्र किया और मंच के नीचे खड़ी कस्तूरबा गांधी की बच्चियों और बालिका खिलाड़ियों से दंगल फिल्म देखने की बाबत पूछा तो सबने एक सूर से अब तक नहीं देखने की बात कही। इस पर सीएम ने कहा कि वे उन सबकों दिखायेगें फिल्म दंगल।

***************

अमर शहीद शेख भिखारी सद्भावना कप  मौके पर सभा मंच पर बड़ी अजीब संबोधन देखने को मिले। प्रायः वक्ताओं किसी भी जनप्रतिनिधि के पद के आगे माननीय लगाते नहीं दिखे। सब के सब माननीय की जगह आदरणीय का ईस्तेमाल कर रहे थे। इसे सुन पास खड़े कुछ स्कूली छात्र की टोली के बीच एक ने फुसफुसाया कि स्कूलवा में मस्टरवा झूठ पढ़ावअ हउ कि विधायक, सांसद, मंत्री, मुख्यमंत्री सबे के नाम के आगे माननीय लगए हउ। बिहान जाके पूछे के, माननीय कहां लगअ हइ।

***************

कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय, ओरमांझी की बैंड पार्टी स्वागत के लिये शुमार हो चुकी है। लेकिन आज उसे कड़ी धूप में घंटों बिलबिलाते दिखी। सीएम के आने के काफी पहले ही उसे आयोजकों ने बुला लिया था।

**************

एक तरफ वक्ताओं के भाषण चल रहा था। दूसरी तरफ फुटबॉल मैच। लोग समझ नहीं पा रहे थे कि वे भाषण सुनें या मैच देखें। सीएम के भाषण के दौरान भी समान नजारा था। हालांकि मैदान में उपस्थित प्रायः लोग युवा वर्ग के थे और उनकी रुचि भाषण में कम और मैच देखने में अधिक थी।

***************

अमर शहीद शेख भिखारी सद्भावभना कप का आयोजन सरकारी था गैर सरकारी। राजनीतिक था या गैर राजनीतिक या फिर सामाजिक। मंच सज्जा और मंच पर खास उपस्थिति कउ और वयां कर रही थी। सब कुछ भाजपा रंग से सरोबार दिखा। यहां तक कि मंच और पंडाल भाजपा के झंडे के रंग ही लिये थे।

***************

मंच के ठीक सामने उपर एक ड्रोन की हलचल खासे चर्चा का विषय बना रहा। पुलिस वाले कभी उसे उड़ाते और कभी नीचे उतार हाथ से पकड़ नीचे रख देते। एक बार जब ड़्रोन मंच के उपर उड़ रहा था कि दो चील उसके पिछे पड़ गया। पुलिस वाले ड्रोन कंट्रोलर को जब ड्रोन को चील से खतरे का आभास हुआ तो उसे तुरंत नीचे उतार लिया।

Related Post

50total visits,1visits today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...