सवर्णों की नाराजगी नहीं पाट पाए गिरिराज, मिली जमकर गालियां, देखिए वीडियो

Share Button

“नालंदा के भूमिहार बहुल सिथौरा गांव के आग बबूला हुए ग्रामीणों ने अमर्यादित भाषा मे केंद्रीय मंत्री और भाजपाइयों को बैरंग लौटा दिया…..”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज। लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में बिहार के सीएम नीतीश कुमार उर्फ कथित मीडियाई सुशासन बाबू के गृह जिला नालन्दा में राजग (जदयू) प्रत्याशी की इज़्ज़त बचाने पहुँचे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का सिलाव प्रखंड के सिथौरा गाँव में ग्रामीणों द्वारा जमकर विरोध हुआ।

सिथौरा गांव के सवर्ण समाज के ग्रामीणों द्वारा एनडीए प्रत्याशी कौशलेंद्र कुमार को वोट नही देने की मंशा जान कर भाजपा जिलाध्यक्ष रामसागर सिंह ने सांसद कौशलेंद्र कुमार के कहने पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह को सिथौरा गाँव लेकर पहुंच गए।

विगत कुछ माह पूर्व राजगीर अनुमण्डल प्रशासन द्वारा गांव के 70 निर्दोषों को झूठे मुकदमे में फंसा दिया था, तब गांव वालों ने गिरिराज सिंह से मदद माँगी, तब उन्होंने अपने को नवादा जिला का सांसद कहकर अपना पल्ला झाड़ लिया था।

इसके बाद आग बबूला हुए ग्रामीणों ने अमर्यादित भाषा मे केंद्रीय मंत्री और भाजपाइयों को बैरंग लौटा दिया।

ग्रामीणों ने खुले शब्दो मे कहा कि 10 वर्ष तक नालन्दा सांसद रहने वाले कौशलेंद्र कुमार इस गांव में एक झलकी तक नही दी और  आज वोट के ठीकेदार द्वारा चुनाव के समय वोट मांगने भेजा है।

सवर्णों की नाराजगी से नालन्दा में राजनीतिक तापमान बढ़ा दिया है और सवर्ण समाज के उम्मीदवार पुनीत कुमार को इस वर्ग का मजबूत समर्थन मिल रहा है।

वही कुछ ग्रामीणों ने कहा कि अहंकारी नीतीश और उसके तोते कौशलेंद्र कुमार को हराना ही लक्ष्य है……. देखिए वीडियोः

Share Button

Related News:

आज यहां अविश्वास प्रस्ताव के बहाने खुलेगी प्रमुख-उप प्रमुख के नौटंकी की पोल
पारा विधिक स्वयं सेवकों की बहाली में महिलाओं को प्राथमिकता
झारखण्ड का प्रमुख आकर्षण है पकरि बरवाडीह का मेगालिथ महापाषाण पत्थर
यूपी-बिहार का कुख्यात एके 47 धारी मोस्ट वाण्टेड पप्पू श्रीवास्तव धराया
हथियार, बाइक, मुहर और शराब के साथ कारोबारी गिरफ्तार
राजगीर में डीग्री क़ॉलेज नहीं, फिर क्या है 'विकास पुरुष' के इस जुमले के मायने?
शराब के नशे में जेल गये भाजपा सांसद हरि मांझी के पुत्र को लेकर सियासत शुरु
संतान न होने की प्रताड़ना से तंग विवाहिता ने की आत्महत्या
अंततः अपनी ही साफगोई में डूब गए नीतीश
घाटशिला के गांव में भयंकर आग, अब तक 10 की मौत और 40 से उपर घायल की सूचना
1.91 लाख रुपये घूस लेते कनीय अभियंता धराया
अनियंत्रित ट्रैक्टर ने ली दो मासूम की जान, ग्रामीणों ने ट्रैक्टर को की आग के हवाले
महागठबंधन के कथनी और करनी में फर्कः राजीव रंजन
समूचे नालंदा में फर्जी गुरुओं की बाढ़, नहीं हो रही कोई कार्रवाई, हमाम में दिख रहे सब नंगे
पटना हाई कोर्ट के 41वें मुख्य न्यायाधीश बने जस्टिस अमरेश्वर प्रताप शाही
नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में एक जवान शहीद, चार अन्य घायल
झुंड से बिछड़े हाथी ने मजदूर को रौंद मार डाला
"एक्सपर्ट मीडिया" की खबर का असरः लोगों ने ली राहत की सांस
डीसी ने की समीक्षा बैठक, सभी प्रखंडों में खुले धान क्रय केंद्र
डॉक्टरों ने कैदी को पहले बताया मृत, फिर परिजनों के बवाल के बाद किया रेफर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

loading...
Loading...