शुक्रिया अकरम-ए-इंसाफ इंडिया, तेरी यह लौ भारत की ज्वाला बने…👏

Share Button

मुकेश भारतीय, एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क

सर, आपका नाम बहुत सुना है। लोगों के लिए बहुत कुछ करते हैं। खास कर  जिनका कोई सहारा नहीं होता है। बीते 3 दिनों से मेरी संस्था इंसाफ इंडिया के साथी हर जगह ढूंढ रहे हैं। पटना जीपीओ गोलंबर, हार्डिंग पार्क का रहने वाला है। काफी पूछ ताछ के बाद उसने अपना नाम रतन कुमार, पिता भोला राम, माता अंजलि देवी बताया है। हम वहां के कोतवाली थाना में खबर दिया। बहुत समय बाद उन्होंने कहा- पागल है। इधर का ही है। मांग के खाता है। उसको छोड़ दीजिए। मगर हम लोग इस तरह ऐसे ही कैसे छोड़ दें। फिर वह भटक कर न जाने कहां चला जाए और वह अपने घर से दूर होता चला जाए।  हमने अपने अनुसार उनका वोटर डिटेल निकाला है आपसे निवेदन है के इसमें हमारी मदद करें.………………”

वेशक यह निवेदन नालंदा जिला बाल किशोर न्याय परिषद के प्रधान दंडाधिकारी जज मानवेद्र मिश्रा के लिए एक चुनौती थी। जो उन्हें सोशल माध्यम के जरिए मिली थी। यह जानकारी देने वाले थे इंसाफ इंडिया के राष्ट्रीय महासचिव वसीम अकरम खान। अकरम ने जज मानवेद्र जी को फेसबुक पर उनके प्रेरक पोस्ट के जरिए ढूंढ निकाला था।

मानवता को मूल धर्म समझने वाले अकरम खान ने परसों जज मानवेन्द्र जी को लेकर एक्सपर्ट मीडिया न्यूज द्वारा प्रसारित खबरें पढ़ी थी। उस आलोक में भी उन्होंने बिहार के पटना और नालंदा जिले के कई लोगों से संपर्क कर मोबाइल नबंर हासिल किया और अनुरोध किया, जब उसे कहीं से कोई सहयोग अश्वासन नहीं मिल रहा था।

जज मिश्रा जी ने भी मामले को गंभीरता से लिया और अपनी संवेदना-स्वभाव के अनुरुप मदद की और इंसाफ इंडिया की टीम को मंजिल मिल गई।

दरअसल, महासचिव वसीम अकरम खान का पश्चिम बंगाल के पश्चिम बर्दवान जिला में इंसाफ़ इंडिया नामक एक निबंधित न्यास है।  विगत 26 अक्टूबर, 2019 को दिन 3 बजे वे और न्यास के अध्यक्ष मुस्तकीम सिद्दीकी बाइक से अपने कार्यालय से आसनसोल एक बैठक में जा रहा था।  

इसी बीच उनके न्यास कार्यालय से लगभग आधा किलोमीटर दूर एक पागल के रूप में “रतन कुमार राम” राष्ट्रीय राजमार्ग 2 पर दिल्ली रोड पर जा रहा था।  इंसाफ इंडिया से जुड़े लोग भूखे, गरीब को संस्था की ओर से खाना कपड़ा देते रहते हैं।

ख़ास कर जो  जरुरतमन्द लगते हैं, उसे पूछकर ज्यादा सहयोग करने की कोशिश करते हैं।  यही सोचकर की पागल व्यक्ति शायद भुखा हो, इसलिए उन्होंने बाइक रोककर उसे खाना खाने के लिए पूछना चाहा तो वह भागने लगा। वह काफी डरा हुआ लग रहा था।

तब अकरम-सिद्दीकी साहब ने  पागल को रोककर खाने का इशारा किया तो वह तैयार हो गया। फिर दोनों ने उसे नजदीक के ढ़ाबा में खाना खिलाया।  खाने से पहले वह काफी डरा हुआ था। खाने के बाद उसके चेहरे में बदलाव आया। वह मुस्कुराते हुए जाने लगा।

इसके बाद जब उससे उसके परिवार के बारे जानना चाही तो मानसिक रूप से अस्वस्थ होने के कारण एक घंटे से ज्यादा समय तक वह एक शब्द भी नही बोला।  लगभग दो घंटे बाद इंसाफ इंडिया के सदस्यों द्वारा प्रेम-प्रयास के बाद उसे सिर्फ कुछ ही बातें याद आयी।

उसने अपने पिता का नाम भोला राम, माँ का नाम अंजनी देवी, भाई का नाम छोटू राम, पिता का टेलीफोन एक्सचेंज में नौकरी, थाना पटना कोतवाली, घर जीपीओ पटना के पास गोलम्बर और मोहल्ला हार्डिंग पार्क बताया था।

यह पूरी बातें हमने सोशल मीडिया पर शेयर कर आम लोगो से अपील किया कि उसके घर तक पहुंचाने का प्रयास किया जाए। लेकिन अभी तक उस परिवार से संपर्क नहीं हो पाया।

उसी दिन पटना कोतवाली थाना में भी एसएचओ से बात कर इसका फोटो और सभी प्राप्त जानकारियाँ उनके मोबाइल पर व्हाट्सअप किया। उसके बाद में फोन करने पर एसएचओ ने बताया कि यह पागल है। उसे उसी जगह छोड़ दो।

पश्चिम बर्दवान जिला अंतर्गत जामुड़िया थाना के श्रीपुर आईसी के अधिकारीयों को भी सूचित कर दिया था।  श्रीपुर आईसी में रात के समय रतन कुमार राम के ठहरने की व्यस्था कुशल रूप में किया गया।

रतन कुमार राम के बताये अनुसार इंसाफ इंडिया की टीम ने वोटर लिस्ट में वार्ड संख्या 28 से “रतन कुमार पिता भोला राम, भाई छोटू राम, माँ अंजनी देवी। वार्ड नम्बर 28, पॉलिंग बूथ : न्यू कैपिटल सर्किल, पीएमसी कार्यालय, हार्डिंग रोड (पूर्वी भाग)” जानकारी इकट्ठा किया।

इसके बाद भी वसीम अकरम खान और उनकी इंसाफ इंडिया की टीम के सामने रतन को सकुशल उसके घर तक पहुंचाने की चुनौती बरकरार थी।

उसके बाद सोशल साइट का सहारा लिया गया। नालंदा जिला बाल किशोर न्याय परिषद के प्रधान दंडाधिकारी मानवेन्द्र मिश्रा जी के फेसबुक वाल पर इंसाफ इंडिया की टीम की नजर गई। जिनके वाल पर सजी मानवता की तस्वीरें-सूचनाओं ने एक नई रौशनी दी।

बकौल वसीम अकरम, अब उनकी टीम को विश्वास हो गया कि यह नेक ‘बंदा’ जरुर मदद करेगा। और हुआ भी ठीक वैसा ही। मानवेद्र जी ने बिहार राज्य विधिक सेवा प्राधिकार के उच्च पदाधिकारियों को सूचित किया। बिहार राज्य विधिक सेवा प्राधिकार के रजिस्ट्रार कृष्ण गोपाल और वसीम अकरम खान के बीच वार्ता कराई।

वसीम आगे बताते हैं कि इसके बाद रत्न कुमार राम को उसके परिवार से मिलाने की जिम्मेदारी बिहार राज्य विधिक सेवा प्राधिकार ने सुनिश्चित कर ली और हम तमाम झंझावतों के बीच अपने मकसद में कामयाब रहे।

वेशक, जज मानवेन्द्र जी तो एक स्वभाविक जरिया बने। लेकिन वसीम अकरम खान और उनकी इंसाफ इंडिया की टीम ने इंसानियत की जो ‘लौ’ लेकर चलें हैं, एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क उन्हें सलाम करते हुए ‘ज्वाला’ बनने की दुआ करती है। ताकि हमारा मात्र धर्म हो- सिर्फ मानवता……….

  

Share Button

Related News:

चर्चित 'छात्रा वीडियो वायरल' कांड को लेकर एक्सपर्ट मीडिया टीम पर यूं पड़ रहा दबाव
बताईये सुशासन बाबू, नालंदा में जब ऐसे पढ़ रहे बच्चे तो कैसे सुधर रहा बिहार
पढ़िये सजा पूर्व लालू की पूरी चिठ्ठी, आखिर क्या लिखा है बिहारवासियों के नाम
कस्तूरबा बलिका आवासीय स्कूल के पास बिखरे दारु पाउच देख उखड़े सीओ
बिहार स्टेट बार काउंसिल चुनावः विश्वनाथ को मिला अभाअजास का समर्थन
पिंक बिग्रेड के निष्क्रिय होते ही छात्र-छात्राओं के साथ मारपीट-छेड़खानी की घटनाएं बढ़ी
पुलिस का खुलासाः अवैध संबंध में गई प्रदेश छात्र जदयू महासचिव की जान
इंसपेक्टर प्रेम राज चौहान ने संभाली हिलसा थाना की कमान
नाबालिग रेप केस में जेल बंद RJD MLA को वोटिंग की मंजूरी
खिलौना बेच पढ़ने वाला हिमांशु बना नालंदा का सेकेंड टॉपर
नालंदा में पुलिस-प्रशासन की सक्रियता की एक बानगी देखिये !
पढ़ेगी बेटी-बढ़ेगी बेटीः लेकिन कहते हैं गार्जियन- 'माहौल खराब है, हम बेटियों को नहीं जाने देंगे स्कूल'
मंत्री श्रवण कुमार की बढ़ी मुश्किलें, हाई कोर्ट ने उनके तर्क को ठुकराया
मुंगेर में कुएं से बरामद 12 एके-47 जबलपुर ऑर्डिनेंस डिपो की!
वीडियोः आईए सब मिलकर ऐसे ढीठ शराब माफियाओं को नालंदा से उखाड़ें
...लेकिन हर बार बलात्कार शब्द लिखते हुए कलम कांप उठती है ✍😢
नालंदा में फर्जी शिक्षकों की बहाली की उच्चस्तरीय जांच की जरुरत, चंडी बना नमूना
खूंटी पुलिस ने 6 लाख नगद और 6 लाख के अफीम समेत एक तस्कर को यूं दबोचा
मलमास मेलाः कौए नहीं आते, लेकिन हर कोई बन जाता है पंडा!
आखिर कब होगा आतंक के इस पर्याय का अंत !
कला के माध्यम से छात्रों को शिक्षा देने के लिए कार्यशाला
सुशासन है तो शेखपुरा के ऐसे बेलगाम अफसरों पर कार्रवाई क्यों नहीं?
मालगाड़ी और इंजन में सीधी टक्कर, एक बोगी समेत रेल पुल क्षतिग्रस्त
गजब 😳 सीएम नीतीश कुमार कल 'लू' प्रभावित इलाकों का करेंगे हवाई सर्वेक्षण🤦‍♂
सोनिया गांधी :एक करिश्माई नेतृत्व का सन्यास
राष्ट्रीय लोक अदालत शिविर में निपटे 572 मामले, 2.5 करोड़ का समझौता, 37 लाख की वसूली
BDO और CO समेत 85 पर FIR, सीएम के गृह प्रखंड हरनौत में हुआ शौचालय घोटाला
बाल विवाह को लेकर सरायकेला प्रशासन की खानापूर्ति पर उठ रहे सवाल
द्वापर युगकालीन प्रसिद्ध बड़गांव छठ मेला को मिले राजकीय दर्जा
नीतीश बने 'राजाराम मोहनराय', दहेज प्रथा और बाल विवाह के खिलाफ शुरू किया सत्याग्रह
देखिये राजगीर SHO को इस मुखिया द्वारा नंगा करती वीडियो
आखिर रंग लायी राजगीर बंद, जागा प्रशासन, भूमाफिया शिवनंदन को दिया 10 लाख का नोटिश
नालंदा के इन बालू माफियाओं के खिलाफ क्यों नहीं हो रही कार्रवाई ?
शर्बत-पेयजल की व्यवस्था से मेला श्रद्धालुओं को मिली राहत
शिव मंदिर के साधु को पीट-पीट कर मार डाला, पुलिस के हवाले हत्यारा
हिलसा में राष्ट्रीय लोक अदालत की तैयारी पुरी, 5 न्याय पीठ का गठन
नालंदा में संविधान निर्माता अंबेडकर की मूर्ति तोड़ा, आक्रोश, एसपी ने बताया हादसा
सड़क हादसे में हजारीबाग DDC हुये गंभीर रुप से घायल
जानिए यह है ‘गंबूसिया उर्फ गटर गप्पी’, इसे चाहिए ऐसा जीवन-पानी
इ मुजफ्फरपुर डीएम तो गजब के पलटु निकले !  आखिर क्या है राज ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...