राजनीति पर करारी चोट है फरीद खां की ‘राष्ट्र शुद्धि’

पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क ब्यूरो)। पटना के प्रेमचंद रंगशाला में इप्टा के कलाकारों ने ‘राष्ट्र शुद्धि’ नाटक के जरिए दर्शकों को खूब प्रभावित किया।

कैफी आजमी की 101वीं जयंती पर समर्पित यह नाटक फरीद खां द्वारा लिखा गया था। जिसका निर्देशन वरिष्ठ रंगकर्मी तनवीर अख्तर ने किया।

कहने को इस राष्ट्र शुद्धि नाटक को काल्पनिक बताया गया, लेकिन इस नाटक में हिटलर से लेकर वर्तमान राजनीति की परते उधेड डाली गई है।

राष्ट्र शुद्धि नाटक में जो हत्याओं का दौर चलता है। वह राजनीतिक हत्याएं राजनीति होती है। न कि व्यक्तिगत।

नाटक राष्ट्र शुद्धि के माध्यम से दिखाया गया कि विचारधारा की लड़ाई ऐसी हो गई है कि सामने वाले का विचार कुचलने के लिए उसकी हत्या तक कर दी जा रही है। इसे ही राष्ट्र शुद्धि का नाम दिया जा रहा है।

वर्तमान राजनीति में सत्ता से विरोध या असहमति के नाम पर पत्रकार, आरटीआई एक्टिविस्ट से लेकर मानवाधिकार कार्यकर्ता तक की हत्याएं हो रही है।

“राष्ट्र शुद्धि” के कलाकार मंच पर आकर अपनी भूमिका बताते हैं। इस नाटक में नालंदा के युवा रंगकर्मी रविकांत सिंह एसपी बक्शी की भूमिका में है।

दिनेश मुखबिर की भूमिका में है।अमन राष्ट्र सेवक की भूमिका में है।कलाकारों के परिचय के बाद कीर्तन की धून ‘जाति ही ओछी ओ साहब’ शुरू होती है।

नाटक में एसपी बक्शी की भूमिका में रविकांत एक महिला पत्रकार की हत्या और हत्या की गुत्थी सुलझाने में पूरी पुलिस टीम लग जाती है। इस दौरान कुछ और हत्याएं होती है। जिसके पीछे राजनीति साजिश की बू आती है।

राष्ट्र शुद्धि नाटक में रविकांत सिंह के अलावा अभिमन्यु, आयुषी, स्वीटी, संजय शाकिब, सूरज, अमन, गौतम, निखिल, शिवानी, नितेश, अक्षत, अवनीश ,दीपक,  निशांत आदि कलाकार शामिल हैं।

नाटक में प्रकाश परिकल्पना तनवीर अख्तर, संचालन राज कपूर, मंचीय परिकल्पना दिनेश ने किया। जबकि नाटक में संगीत सीताराम सिंह ने दिया है। इस नाटक के सहायक निर्देशक अभिमन्यु और संजय है।

इस नाटक के संवाद भी काफी बेहतरीन रहे, जिसे काफी पसंद किया गया। रंगकर्मी रविकांत एसपी बक्शी की भूमिका में काफी पसंद किए गए।

देखा जाए तो ‘राष्ट्र शुद्धि’ नाटक वर्तमान राजनीति पर एक करारी चोट करती है …..।

Related News:

बलमुचू खूंटी, गीता कोड़ा चाईबासा, सुबोधकांत रांची से होंगे कांग्रेस प्रत्याशी
जदयूू को बड़ा झटका, नीतिश के करीबी कद्दावर दलित नेता का इस्तीफा
डीआईजी की इस पहल से स्ट्रेस फ्री होंगे पटना-नालंदा के थानेदार!
पेड़ से टकराई बाइक, एक की मौत, दो जख्मी की हालत नाजुक
कुख्यात रोपना उरांव ने रांची पुलिस पर फेंका बम, मुठभेड़ के बाद दबोचा गया
तल्ख माहौल के बीच नीतीशे कुमार, पक्ष में 131 और विरोध में 108 वोट
शर्मानाकः हेडमास्टर ने छात्रों को कलम की जगह थमा दी कुदाल
हरनौत MLA फंड से भोभी में हाई स्कूल भवन के नाम पर बना लाखों का जर्जर भूत-बंगला
दहेज और बाल-विवाह के खिलाफ हिलसा के लोगों ने की आवाज बुलंद
झारखंड, मलेरिया, सदर अस्पताल, दवा नहीं, मौत, अमानवीयता की हद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...