राजगीर मलमास मेला को लेकर समीक्षा बैठक, नालंदा डीएम ने दिये कई अहम निर्देश

 “मलमास मेला में लगने वाले सभी दुकानों को अग्निशमन विभाग, बिजली विभाग तथा भवन निर्माण विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र प्राप्त करना जरूरी होगा। मेला ठीकेदार को भी इसे सुनिश्चित कराने को कहा गया।“

बिहारशरीफ (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। राजगीर स्थित अंतर्राष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर में मलमास मेला के तैयारी की समीक्षा बैठक में नालंदा डीएम डॉ त्यागराजन एस एम ने जल संसाधन विभाग के कार्यपालक अभियंता को कई निर्देश देते हुये कहा कि सरस्वती एवं वैतरणी नदी की सफाई तथा सुसज्जीकरण का कार्य 6 मई तक हर हालत में पूरा कर लें। इस कार्य में लगे मजदूरों की संख्या बढ़ाने का भी निर्देश दिया गया।

भूमि सुधार उपसमाहर्ता राजगीर प्रभात कुमार को निर्देश दिया गया कि वे इन कार्यों का अनुश्रवण करते रहें एवं कहीं भी कमी पाए जाने पर सीधे डीएम को रिपोर्ट करें।

मलमास मेला के दौरान पूरे मेला क्षेत्र की सफाई व्यवस्था पूरी तरह से चुस्त दुरुस्त रखने का निर्देश नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारी को दिया गया।

कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया कि 350 सफाई कर्मी मलमास मेला के दौरान तीन शिफ्टों में काम करेंगे। सारे सफाई कर्मी यूनिफार्म एवं आइडेंटिटी कार्ड के साथ रहेंगे।

ब्रह्म कुंड में स्नान के दौरान किसी तरह की दिक्कत ना हो इसके लिए भी फुल प्रूफ व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया।

एसडीओ तथा एसडीपीओ से कहा गया कि वह पँडा समिति व साधु संतों के साथ मीटिंग कर इसे सुनिश्चित कराएं। पँडा समिति के सदस्यों ने  सरस्वती नदी में आरती स्थल पर प्रकाश की उचित व्यवस्था कराने का अनुरोध किया।

डीएम ने कार्यपालक पदाधिकारी को इस संबंध में आवश्यक व्यवस्था करने को कहा। मेला क्षेत्र में आवश्यक अतिक्रमण हटाने संबंधी कार्रवाई का निर्देश कार्यपालक पदाधिकारी एवं थानाध्यक्ष  राजगीर को दिया गया।

पूरे मेला क्षेत्र में सभी प्रमुख जगहों पर सीसीटीवी कैमरे लगेंगे जिनका तीन जगहों पर स्थित नियंत्रण कक्ष से मोनिटरिंग किया जाएगा।

स्वास्थ्य विभाग को मेडिकल टीम, आईसीयू एवं पर्याप्त संख्या में डॉक्टर तथा मेडिकल स्टाफ की प्रतिनियुक्ति कर लेने को कहा गया।

जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने बताया कि 8 जगहों पर सस्ती रोटी की दुकान लगेंगे जहां से श्रद्धालु  के लिये कम कीमत में भोजन उपलब्ध हो सकेगा।

7 जगहों पर पार्किंग तथा 17 जगहों पर नो एंट्री के लिए ड्रॉप गेट बनेंगे। 11 जगह पर पीएचईडी वाटर एटीएम लगाएगा। बैंकों के तरफ से भी वाटर एटीएम लगेंगे। 59 जगहों पर फ्री फेब्रिकेटेड टॉयलेट की स्थापना होगी तथा पूर्व से जितने भी चापाकल ट्यूबेल या शौचालय हैं, उनकी मरम्मती कर उन्हें चालू किया जाएगा। सभी काम 10 मई तक पूरा कर लेना है।

मलमास मेला से संबंधित प्रचार प्रसार कार्य जोरों पर है। राज्य के सभी महत्वपूर्ण स्थलों तथा प्रमंडलीय मुख्यालय के जिलों में बड़े-बड़े होर्डिंग बैनर लगाए जा रहे हैं।

कृषि विभागकी प्रदर्शनी, ग्राम विकास मेला तथा सूचना एवं जनसंपर्क विभाग की प्रदर्शनी भी आकर्षण के केंद्र रहेंगे साधु-संतों एवं आने वाले श्रद्धालुओं उनके ठहरने का स्थल पर प्रकाश पेयजल तथा शौचालय सहित सभी प्रकार की आधारभूत सुविधाओं में कोई कमी ना हो इसके लिए फुलप्रूफ व्यवस्था करने का निर्देश डीएम ने दिया।

एसपी सुधीर कुमार पोरिका ने थानाध्यक्ष एवं डीएसपी से कहा कि वे बाहर से आने वाले पुलिस पदाधिकारी तथा पुलिस बलों के लिए ठहरने तथा भोजन आदि की पर्याप्त व्यवस्था कर ले। डोर फ्रेम मेटल डिटेक्टर तथा वायरलेस सेट को भी पर्याप्त संख्या में मंगवा लें।

मेला के दौरान निरंतर गशति करते रहें एवं अभी से आसूचना का संकलन शुरू कर दें। असामाजिक तत्वों पर भी सजग नजर रखने को कहा गया।

बैठक में नगर आयुक्त सौरव जोरवाल प्रोबेशनर आई ए एस मुकुल गुप्ता , डीआरडीए निदेशक संतोष कुमार श्रीवास्तव सहित सभी कोशांगों के वरीय प्रभारी पदाधिकारी, तांगा चालक यूनियन, एनसीसी, सेवा समिति तथा मेला पंडा समिति के भी प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Related News:

हिलसा-इस्लामपुर रेलवे स्टेशन पर अब रविवार को भी रिजर्वेशन की सुविधा
नहीं बख्शे जायेंगे महौल बिगाड़ने वाले उपद्रवीः एसडीओ
दीपनगर पुलिस को सुराग नहीं, उधर विवाह बंधन से एक दूजे के हुये प्रेमी युगल
चोर समझ पुलिस दल पर पथराव-फायरिंग, हवलदार समेत 5 जख्मी
प्रमंडलीय आयुक्त तक के आदेशों की यूं धज्जियां उड़ा रही नालंदा पुलिस
देखिए इस घूसखोर पेशकार की वायरल वीडियो और कोई इसका कुछ उखाड़ के बताईए
शर्बत-पेयजल की व्यवस्था से मेला श्रद्धालुओं को मिली राहत
अंतर्राष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर में होगा राष्ट्रीय उर्जा कॉन्फ्रेंस
नहीं थम रहा शराब का धंधा, 750 पाउच देशी पाउच के साथ दो धराये
प्रशासन का दावा 24 घंटे के अंदर ही खोखला साबित !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...