रांची के इरबा साईन नर्सिंग हॉस्टल में एक छात्रा ने लगाई फांसी, दूसरी हुई मुर्छित, मामला संदिग्ध

Share Button

रांची (आमोद कुमार साहु)। साईन अव्दुल रज्जाक अंसारी इंस्टिच्यूट रिसर्च सेंटर एजुकेशन ओयना इरबा में एक छात्रा की मौत हो गई। वहीं मुर्छित हुई दूसरी छात्रा का उपचार मेदांता हॉस्पिटल में किया गया।

संदिग्ध मौत की शिकार छात्रा का फाईल फोटो।

घटना सोमवार सुबह दस बजे की है। छात्रा दुमका जिला पुलिस लाईन से नर्सिंग की पढ़ाई करने के लिए तीन माह पहले ही आई थी। वह ज्योतशिला मरांडी बीएसी पार्ट-1 में नमांकण करा संस्थान के हॉस्टल में ही रहती थी। जिस स्थान पर हॉस्टल व संस्थान हैं दोनो पिठोरिया थाना क्षेत्र पड़ता है।

घटना की जानकारी मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टर्माटम के लिए रिम्स भेज दिया। मंगलवार को पहंचे छात्रा के माता-पिता छात्रा के शव को रिम्स से लेकर दुमका चले गये।

पुलिस ने बताया की कमरे से एक सुसाईट नोट भी मिली है। पोस्टमार्टम रिर्पोट आने के बाद मामले का खुलासा होने की संभावना है। मंगलवार को ही हॉस्टल की दूसरी छात्रा नेहा कुमारी का भी तबियत विगड़ गई थी और उसे मुर्छित अवस्था में उपचार मेदांता हॉस्पिटल के एमेर्जेंसी में भर्ती किया गया।

घटना की जानकारी से मूर्छित छात्राा अस्पताल में भर्ती

मुर्छित हुई छात्रा के संबध में बताया गया कि ज्योतशिला के मौत के सदमे में वह मुर्छित हुई थी। वहीं उसके उपचार करने वाले चिकित्सक डॉ सींथी पाल ने भी बताया कि छात्रा का स्वास्थ्य ठीक है। किसी को भी छात्राओं से मिलने नही दी जा रही थी।

वहीं पुछने पर संस्थान के प्रचार्य नुमल कच्छो कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया। अन्य स्टाफ छात्रा की मौत होने की घटना को भी छुपाने का प्रयास कर रहे थें।

छात्रा का जमा फीस  लौटाएगी संस्थानः छात्रा के मौत के बाद मंगलवार को संस्थान में दो मीनट का मौन रख मृतात्मा की शांति के लिए प्रार्थना किया गया। शव को दुमका ले जाने के लिए एंबुलेंस व्यवस्था करने के अलावा उसके परिजन को बीस हजार रूपया संस्थान के द्वारा दिया गया।

साथ ही संस्थान ने निर्णय लिया है कि छात्रा का संस्थान में जमा फीस लगभग 65 हजार रूपया भी उसके माता-पिता को लौटा दिया जाएगा। …… सकील प्रवेज अंसारी पीआरओ साईन इंटिच्यूट इरबा।

मामला क्यों है संदिग्धः

घटना के बाद कई तरह के बाते सामने आई जिसके बीना पर कहा जा सकता है कि मामला निश्चंत रूप से संदिग्ध है। पहला जिस हालत में छात्रा का शव देखा गया,वह सात फिट के दरवाजे पर नायलॉन की रस्सी से गला में बांध कर लटकी हालत में थी।

कमरे से मिला सर के नाम संबोधित सुसाईट नोट में संस्थान के अन्य छात्राओं को परेशान नही करने का आग्रह किया है।

साईन नर्सिंग होस्टल का मेन गेट बंद कर फरार होता गार्ड

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि संस्थान व पुलिस का बयान है कि सुसाईट नोट मिला है। जबकी छात्रा के पिता निगम मरांडी ने किसी भी सुसाईट नोट मिलने की जानकारी से इंकार किया है।

वहीं मामले की जानकारी लेने गये अखबार के संवाददाता को भी यह बोल कर हॉस्टल के अंदर जाने से रोक गया कि लड़कियां बेपर्दा रहती हैं। अंदर चले न जाय, इसके लिए हॉस्टल के सुरक्षा गाड द्वारा हॉस्टल के मुख्य गेट का ग्रील बंद कर दिया गया।

उधर प्राचार्या नुमल कच्छो का कहना था कि वे इस मामले में कुछ नहीं बोल सकते। घटना के संबध में जो कुछ भी पुछना है वह संस्थान के पीआओ सकील जी से पुछें।

पिठौरिया के थाना प्रभारी चुनवा उरांव ने बताया कि  घटना के संबध में परिजनों ने किसी तरह का मामला दर्ज नही कराया है। संभव है कि बाद में मामला दर्ज कराया जाए। अभी कुछ भी नही कहा जा सकता। पोस्टमार्टम रिर्पोट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

Related Post

24total visits,1visits today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...