यहां होता रहा कांग्रेस-भाजपा के बीच लुक्का-छिपी का अधिक खेल

Share Button

“रांची लोकसभा चुनाव क्षेत्र के दृष्टिकोण से कई मायने में अहम है। रांची अनारक्षित सीट है। यहां कांग्रेस और भाजपा ने अब तक सबसे अधिक बार चुनाव जीतने का रिकार्ड बनाया है…”

रांची (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। आजादी के बाद 1951 में हुए लोकसभा के पहले चुनाव में अब तक एक मात्र मुस्लिम उम्मीदवार अब्दुल इब्राहिम सांसद निर्वाचित हुए थे। वह कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार थे। उसके बाद पीके घोष, शिव प्रसाद साहु और सुबोधकांत सहाय ने यहां से कांग्रेस का परचम लहराया।

मजेदार यह है कि रांची से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में मीनू मसानी ( मिनोचर रुस्तम मसानी) 1957 में चुनाव जीतकर गए। इसी तरह 1977 में भारतीय लोकदल से रवींद्र वर्मा चुनाव जीते। वह दुबारा लौटकर नहीं आए।

सुबोधकांत सहाय रांची से पहली बार 1989 में चुनाव जीते थे। उस समय वह कांग्रेस से नहीं, जनता दल से जीते थे। मीनू मसानी और रवींद्र वर्मा रांची के रहनेवाले नहीं थे। दोनों बाहर से आकर चुनाव जीतकर गए।

1962 में कांग्रेस से पीके घोष पहली बार जीते। उन्होंने जीत की हैट्रिक बनाई। 1962 के बाद 1967 और 1971 का चुनाव भी कांग्रेस के उम्मीदवार पीके घोष ही जीते।

1977 में इंदिरा हराओ का चारों ओर नारा चल रहा था। रवींद्र वर्मा कहां से और कौन थे, रांची के लोग जानते भी नहीं थे। लेकिन वह आए, चुनाव जीते और चले गए।

फिर बारी आयी शिव प्रसाद साहु की। शिव बाबू के नाम से कांग्रेसियों व रांची वासियों के बीच लोकप्रिय लोहरदगा के मूल निवासी शिव प्रसाद साहु 1980 और 1984 चुनाव जीतकर दिल्ली पहुंचे। वह लगातार दो बार सांसद निर्वाचित हुए।

1989 में वह जनता दल के उम्मीदवार सुबोधकांत सहाय से हार गए। 1991 के बाद रांची में भारतीय जनता पार्टी का दबदबा कायम हो गया।

रामटहल चौधरी 1991 से लगातार चुनाव जीतते आए। 1991, 1996, 1998 और 1999 का चुनाव रामटहल चौधरी जीते। 2004 और 2009 में वह सुबोधकांत सहाय के हाथों हार गए। 2014 लोकसभा चुनाव में एक बार फिर जीतकर दिल्ली पहुंचे। 2014 का चुनाव वह एक लाख 99 हजार मतों के अंतर से जीते।

2014 के लोकसभा चुनाव में आजसू से सुदेश कुमार महतो पहली बार लोकसभा के लिए अपनी किस्मत आजमाने का फैसला लिया। लेकिन एक लाख 42 हजार 560 वोट लाकर वह तीसरे स्थान पर रहे। बंधु तिर्की तृणमूल कांग्रेस से लोकसभा लड़े और मात्र 46 हजार वोट ला पाए।

रांची लोकसभा क्षेत्र दो जिलों के छह विधानसभा क्षेत्रों में फैला है। सरायकेला झ्रखरसांवा जिला का इचागढ़ विधानसभा और रांची जिले के पांच विधानसभा क्षेत्र रांची, कांके, सिल्ली, खिजरी व हटिया आते हैं। इनमें से सिल्ली को छोड़ दें तो शेष पांचों विधानसभा क्षेत्रों पर भाजपा का कब्जा है।

2014 का चुनाव परिणामः

रामटहल चौधरी (भाजपा)      4,48,729 मत

सुबोधकांत सहाय (कांग्रेस)      2,49,420 मत

सुदेश कुमार महतो (आजसू)    1,42,560 मत

बंधु तिर्की (तृणमूल कांग्रेस)      46,126 मत

यहां के कुल मतदाताओं की संख्या वर्तमान में 405871 है। जिसमें महिला मतदाता की संख्या 193479 है। वहीं, सिल्ली विधानसभा क्षेत्र में सबसे कम 194845 मतदाता हैं। यहां महिला मतदाताओं की संख्या 95511 है।

जिले के वोटर लिस्ट में अभी तक 21,25,782 मतदाता हैं। इनमें 1018457 महिला और 1107248 पुरुष मतदाता हैं। हालांकि, नामांकन प्रक्रिया जारी है, इसलिए कुल मतदाताओं के आंकड़ों में वृद्धि हो सकती है। वैसे मतदान के लिए 2771 मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

विधानसभा पुरुष महिला अन्य कुल 
तमाड़ 101709 99336 1 201046 
सिल्ली 99333 95511 1 194845 
खिजरी 162850 150334 313184 
रांची 168397 146912 32 315341 
हटिया 212376 193479 16 405871 
कांके 200155 179161 7 379323
मांडर 162428 153724 20 316172 
कुल 1107248 1018457 77 2125782 

सबसे अधिक ट्रांसजेंडर मतदाताः

रांची लोकसभा सीट पर इस बार 77 ट्रांसजेंडर अपने मत का प्रयोग करेंगे। जबकि पिछले लोकसभा चुनाव में रांची में सिर्फ एक ही ट्रांसजेंडर था।

सबसे अधिक 32 ट्रांस जेंडर मतदाता रांची विधानसभा क्षेत्र में हैं। मांडर में 20, हटिया में 16, कांके में 7, तमाड़ व सिल्ली में एक-एक ट्रांसजेंडर का नाम शामिल किया गया है। खिजरी विधानसभा में एक भी ट्रांसजेंडर मतदाता नहीं हैं।

Share Button
यह भी पढ़ें...
"जदयू व भाजपा 17-17 तो लोजपा  6 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। दूसरी ओर महागठबंधन में राजद के अलावा कांग्रेस, रालोसपा, हम , वीआईपी व माले शामिल हैं। राजद 19, कांग्रेस 9, रालोसपा 5, वीआईपी व हम  3-3 तो माले ने एक सीट पर चुनाव लड़ा है..." पटना (एक्सपर्ट मीडिया : खबर विस्तार से.....
"42 डिग्री सेल्सियस के उच्च तापमान पर तपती धरती और बेहद गर्म हवा के बावजूद झारखंड की तीनों सीटों पर आज सुबह से ही वोटिंग  के दौरान में मतदाताओं ने उत्साह दिखाया...." रांची (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। लोकसभा चुनाव 2019 के 7वें और अंतिम चरण का मतदान आज संपन्न हो गया। इस : खबर विस्तार से.....
"लोकतंत्र में जनता सर्वोपरि है और उसे अपनी मूलभूत समस्याओं को लेकर विरोध करने का भी अधिकार है। वहीं चुनाव में कोई भी उन्हें अपने मताधिकार से न बंचित कर सकता है औऱ न ही जबरन थोप सकता है, लेकिन आज शासन तंत्र के नुमांइदे अपनी नाकामी को ढंकने के लिए : खबर विस्तार से.....
एक्सपर्ट मीडिया न्यूज।  बेगूसराय जिले के चेरियाबरियारपुर थाना पुलिस द्वारा अवैध वसूली का विडियो वायरल होने के बाद  मुंगेर डीआईजी मनु महराज के आदेश से पदस्थापित एक सब इंस्पेक्टर सहित छह पुलिस कर्मियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर पांच पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है, जबकि एक कर्मी : खबर विस्तार से.....
एक्सपर्ट मीडिया न्यूज। नालंदा जिले से मतदाता जागरुकता अभियान के तहत संध्याकालीन कैंडल मार्च निकाने की आई बहुत कुछ सोचने को वाध्य कर देती है। संभवतः ये तस्वीरें लोकसभा क्षेत्र के बेन क्षेत्र की है, जहां पुलिस-प्रशासन की अगुआई में पूरे लाव-लश्कर के साथ बीते शाम मतदाता जागरुकता की पोस्टर के : खबर विस्तार से.....
"ग्रामीणों ने दनियावां-बिहार शरीफ़ 30A मुख्य मार्ग  पर  मुआवजा की मांग को लेकर शव को रखकर 3 घंटे तक जाम रखा। आगजनी किया। हंगामा किया। वाहनों में तोड़-फोड़ की। मारपीट की। इस दौरान पुलिस मुकदर्शक दिखी....... " नगरनौसा (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। नालंदा जिले के नगरनौसा थाना क्षेत्र अंतर्गत रामघाट बाजार के : खबर विस्तार से.....
नालंदा (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। मीडियाई सुशासन बाबू उर्फ बिहार के सीएम नीतीश कुमार का गृह जिला नालन्दा राजनीतिक करवट की अंगड़ाई लेता दिख रहा है। राजनीतिक करवट तो 2014 के लोकसभा चुनाव में ही तय हो गयी थी, लेकिन मामूली मतों के अंतर से कौशलेंद्र कुमार की दोबारा वापसी हुई : खबर विस्तार से.....
एक्सपर्ट मीडिया न्यूज। अमुमन हमारे जनप्रतिनिधि चुनाव जीतने के बाद अपनी संपति में ईजाफा करते हैं। दोगुनी, चौगुनी या आठ गुणी होती है। लेकिन नालंदा के जनप्रतिनिधियों की उम्र ही दुगनी बढ़ जाती है और निर्वाची पदाधिकारी उस प्रत्याशी को वैध मान लेते हैं। हो सकता है कि उनके संज्ञान में : खबर विस्तार से.....
पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। बिहार में इस बार के लोकसभा चुनाव में सातवें और अंतिम चरण में पाटलिपुत्र सीट पर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की पुत्री मीसा भारती और भारतीय जनता पार्टी उम्मीदवार और केन्द्रीय मंत्री रामकृपाल यादव के बीच कांटे की टक्कर है। पाटलिपुत्र लोकसभा सीट : खबर विस्तार से.....

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...