मॉब लिंचिंग के नाम पर अब सामने आया ब्लैकमेलिंग का मामला

Share Button

अगर उसके साले को वे नहीं छोड़ते हैं तो उसका साला हाथ का नस काट लेगा और दीवार पर सर पटक लेगा या बिजली के तार पर झूल जाएगा और मॉब लिंचिंग का प्रयास करने का केस कर देगा….”

जमशेदपुर (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)।  आदित्यपुर में मॉब लिंचिंग के नाम पर ब्लैकमेलिंग का नया मामला प्रकाश में आया है।

जिले के आरआईटी थाना अंतर्गत बाबा कुटी में चंद्रशेखर ठाकुर के घर एक राजमिस्त्री एसके अनारुल ने 2 लाख 23 हजार में सिविल के काम ठेका पर लिया था।

पिछले पांच महीने से कंस्ट्रक्शन का काम करने के दौरान अनारूल ने 2 लाख 8 हजार रुपए चन्द्र शेखर ठाकुर से ले लिया। इस दौरान धीरे-धीरे अनारूल चालाकी से साइट से अपना सामान लेकर निकल गया।

इधर अनारूल ने आज फिर पैसों की मांग की जिसपर मकान मालिक ने काम पूरा करने के बाद ही बकाया पैसे देने की बात कही और अनारूल को साइट पर बुलाया। मगर पैर में चोट लगने का हवाला देकर उसने आने से मना कर दिया।

इधर आज फिर से बचा-खुचा सामान लेकर अनारूल का साला भागने लगा। समान लेकर भागने के दौरान मकान मालिक ने अनारूल के साले को रोक लिया और आरआईटी थाना को सूचित कर दिया।

इस बीच अनारूल ने चन्द्र शेखर ठाकुर को फोन पर अपने साले को छोड़ देने की बात कहते हुए कहा कि अगर उसके साले को वे नहीं छोड़ते हैं तो उसका साला हाथ का नस काट लेगा और दीवार पर सर पटक लेगा या बिजली के तार पर झूल जाएगा और मॉब लिंचिंग का प्रयास करने का केस कर देगा।

जिसके बाद श्री ठाकुर डर गए और परिवार सहित पुलिस के आने तक अनारूल के साले की सुरक्षा में जुटे रहे। इधर घटना की जानकारी मिलते ही भाजपा नेता अमितेश अमर अपने समर्थकों के साथ श्री ठाकुर के घर पहुंचे। तब तक पुलिस भी पहुंच चुकी थी।

जिसके बाद पुलिस ने अनारूल के साले को लेकर रोड नंबर 11 स्थित सिंहासन के मकान में पहुंचे, जहां अनारूल किराए पर रहता था। वहां पहुंचने के बाद भाजपा नेता अमितेश अमर और पुलिस ने दोनों पक्षों की बात सुनकर काम के बाद ही पैसे देने की बात कही।

वहीं मॉब लिंचिंग की बात पर पुलिस और भाजपा नेता ने अनारूल को कड़ी फटकार लगाई। साथ ही अनारूल का आधार कार्ड की छाया प्रति करा कर रख लिया।

Share Button

Related News:

खुद के आदेश पालन में राजगीर नगर पंचायत के इस अफसर की क्यूं गीली होती रही पैंट!
नपेगें 'आर्थिक हल-युवाओं का बल’ योजना के प्रति लापरवाह अफसरः डीएम
सोशल मीडिया की महिमाः एक साल बाद यूं प्रकट हुआ गुम 2 एसी
बदलते सियासी समीकरण की जद में सीएम नीतीश का 'अभेध किला'
चंडी रेफरल अस्पताल की बदहाली से आर्थिक दोहन के शिकार हो रहे हैं मरीज
बिहार में ऑनलाइन दाखिल-खारिज और लगान भुगतान का शुभारंभ
डीएम के विम्स निरीक्षण के दौरान यूं नपे भगोड़े डॉक्टर
जदयू रोड शो में विधान पार्षद रीना यादव के पति की हत्या की थी तैयारी !
राजगीर में कानून की धज्जियां, एक प्रत्याशी को धारा 107 के तहत दो-दो नोटिस!
देह व्यापार को लेकर दो बस्ती के लोगों के बीच हिंसक झड़प
अंततः विदा हुये रजनीश कुमार, मुकेश कुमार ने संभाला बीडीओ पद
टोल प्लाजा पर डबल टोल टैक्स का जोरदार विरोध प्रदर्शन
विकास को मुँह चिढाता गया का फौजियों का गाँव, होगा वोट बहिष्कार
जलमीनार कांडः मुखिया पति ने वार्ड का पैसा हड़प यूं खरीदा न्यू बोलोरो  
मुखिया के स्कार्पियो ने दो पत्रकार को रौंद कर मार डाला
पटना हाई कोर्ट के 41वें मुख्य न्यायाधीश बने जस्टिस अमरेश्वर प्रताप शाही
मलमास मेला सैरात भूमि के अतिक्रमण को लेकर राजगीर बंद ऐतिहासिक
इस संदिग्ध चोरी में छुपे हैं शिक्षक फर्जीबाड़ा और कई बड़े घपले का राज
दो महिला द्वारा छिनतई की शिकायत पर मेला थाना पुलिस ने उल्टे डांट-पीट भगाया
जांच करने पहुंचे चंडी पुलिस के सामने यूं बिफरे फरयादी के परिजन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...