मुख्यमंत्री के गृह जिले में ही दम तोड़ रही कन्या विवाह लाभ योजना

Share Button

बिहार सरकार की यह महत्वपूर्ण योजना का शुरुआती दौर में खूब प्रचार प्रसार हुआ और जनप्रतिनिधि से लेकर नव दाम्पत्य ने इसमें विशेष दिलचस्पी लेकर विवाह का निबंधन कराया और प्रखण्ड कार्यालय में योजना के तहत 5 हज़ार राशि के लिए आवेदन भी जमा किया। लेकिन अब सीएम नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा में ही यह योजना दम तोड़ रही है……………”

राजगीर (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना की फाइल अब लगभग सभी प्रखण्ड कार्यालय में धूल फांक रही है। अकेले नालंदा जिले के राजगीर प्रखण्ड कार्यालय में विगत 4 वर्षों से हज़ारों आवेदन लंबित होने की सूचना है।

प्रखण्ड कर्मियो की माने तो विभाग द्वारा आवंटन नही है। यदि कुछ आवंटन भी होता है तो जुगाड़ टेक्नोलॉजी से कुछेक लोगो को इसका लाभ मिल पाता है। इस योजना का हश्र यह है कि लगभग सभी प्रखण्ड कार्यालय में इसकी फाइल पर धूल जमा हो चुकी है।

कुछ सजग जनप्रतिनिधि तो इसकी खबर भी लेते है। लेकिन अधिकांश अब सोए नज़र आते हैं। यही कारण है कि विगत कुछ वर्षों में विवाह निबंधन में भी काफी कमी आयी है।

विभाग के आंकड़े बताते है कि जितनी स्पीड में इस योजना का लाभ नवविवाहित को मिला, उतनी अधिक संख्या में विवाह निबंधन भी हुआ। लेकिन पिछले दो तीन वर्ष से जब इस योजना में आवंटन कम हुआ तो विवाह निबंधन भी अब नहीं के बराबर होता है।

18 वर्ष की लड़की और 21 वर्ष के लड़के की शादी के बाद स्थानीय जनप्रतिनिधि विवाह का निबंधन करते थे और फिर आवेदन को प्रखण्ड कार्यालय में जमा किया जाता था। ताकि इस योजना का लाभ नवविवाहित को मिल सके।

स्थिति यह है कि शादी के बाद आवेदन जमा करने के दो चार वर्ष बाद भी पैसे का भुगतान नहीं हो रहा है। शहर से लेकर गांव तक चक्कर काट रही आवेदिका को सिर्फ आश्वासन ही मिल पा रहा है।

Share Button

Related News:

बोली ममता- 'आयुष्मान से मुझे बिटिया समेत मिला नवजीवन'
श्रद्धांजलि: खालिस्तानी आतंकवादियों से लोहा लेते यूं शहीद हुए थे रंधीर वर्मा
शिक्षिका हत्याकांड: पुलिस के हाथ खाली, एसपी ने घटना स्थल का किया निरीक्षण
बदले की भावना और धन लालच में बहनोई ने साले की यूं करवाई हत्या
एक साल से पड़ा है 40 करोड़, एक भी विश्वविद्यालय नहीं बन सका वाई-फाई कैंपस
जय श्री राम की गूंज पर यूं नाराज हुए मोहन भागवत, बोले-संघ का कोई नारा नहीं
फिलहाल राम भरोसे चल रहा है चंडी प्रखंड कार्यालय !
तलाव में डूबने से युवक की मौत, सड़क जाम के बाद मिला मुआवजा
जदयू नेता की पुलिस हाजत में मौत के बाद भड़के लोग, सड़क जाम, आगजनी
एसपी ने ग्रामीणों के दावे को नकारा, बोले- 2 की मौत, 2 क्रिटिकल
एक लाख नकद रिश्वत लेते पटना निगरानी के हत्थे चढ़े घोसवरी बीडीओ
वीडियोः आईए सब मिलकर ऐसे ढीठ शराब माफियाओं को नालंदा से उखाड़ें
इनौस ने की ओवर ब्रिज को लेकर हल्ला बोल मार्च की तैयारी
2 माह भी नहीं चली 86.25 लाख की पक्की सड़क, पहली बारिश में ही बना आफत
सजा के सदमें से राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की ईकलौती बहन की मौत
'मौत की बस' में कारबाइड या  सिलेंडर? सस्पेंस कायम
"रघुबर सरकार ने रांची की निर्भया कांड की CBI जांच की अनुशंसा तक नहीं की"
पूर्व सीएम दारोगा राय के पोती बनेगी लालू की बड़ी बहु
मानवीय जन सरोकारों की मिसाल हैं जज मानवेंद्र मिश्र
खून के धब्बों से दहशत फैलाने के पीछे कौन!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

loading...
Loading...