बिहार शरीफ मंडल कारा में मिले अनेक नवजात, गर्भवती, विछिप्त, बीमार और 14 किशोर कैदी

Share Button

बिहार शरीफ मंडल कारा में 14 किशोर पाये गये। महिला वार्ड में छोटे नवजात बच्चे पाये गये। गर्भवती महिला बन्दी भी थी। अनेक मानसिक रूप से कमजोर कैदी भी मिले। कारा में मेडिकल कैंप की जरुरत………”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क (बिहार शरीफ ब्यूरो)। नालंदा जिला मुख्यालय बिहार शरीफ मंडल कारा औऱ पर्यवेक्षण गृह का निरीक्षण मुख्य दंडाधिकारी  मानवेन्द्र मिश्र, सदस्य धर्मेन्द्र कुमार द्वारा किया गया।

इस दौरान मंडल कारा में 14 किशोर बच्चे पाये गये, जिन्हें अविलम्ब पर्यवेक्षण गृह भेजने का निर्देश दिया गया। महिला वार्ड में छोटे नवजात बच्चे पाये गये, जो अपने माँ के साथ थे। उनके लिये दूध, सेरेलेक्स, खिलौने, कपड़े इत्यादि की प्राथमिकता के तौर पर उपलब्धता करने को कहा गया।

गर्भवती महिला बन्दी भी मण्डल कारा में थी, जिनके नियमित तौर पर मेडिकल जाँच, टीकाकरण, आयरन टेबलेट,पौस्टिक भोजन की उप्लब्धता सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया।

कुछ ऐसे निर्धन कैदी थे, जो स्वयं अपने खर्चे पर अधिवक्ता रखने में सक्षम नहीं थे उन्हें अविलम्ब जिला विधिक सेवा प्राधिकार के माध्यम से निशुल्क पैनल अधिवक्ता उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया।

निरीक्षण के दौरान कुछ ऐसे बन्दी पाये गये जो गम्भीर बीमारी जैसे थैलीसीमिया जैसे रोग से पीड़ित थे, उनका इलाज अभी में चल रहा है। कुछ ऐसे कैदी जो मानसिक रूप से कमजोर थे, उनके बारे में जेल अधीक्षक को निर्देश दिया गया कि अधिवक्ता के माध्यम से इन कैदी की समस्या न्यायालय के समक्ष अविलम्ब रखें।

कुछ कैदियों ने अपने आखों में मोतियाबिंद, रतोंधी, निकट दृष्टि दोष की समस्या बताई, जिनके लिये यह निर्देश दिया गया कि सिविल सर्जन नालन्दा अविलम्ब एक मेडिकल कैम्प आंख के डॉक्टर का मण्डल कारा में लगाएं, जिससे बंदियों का समुचित इलाज हो सके।

साथ ही रसोईघर के साफ सफाई पर विशेष रूप से ध्यान देने को कहा गया। नालियों एवं बाथरूम में ब्लीचिंग पाउडर नियमित रूप से छिड़काव करने का निर्देश दिया गया।

कुछ ऐसे बन्दी थे, जो साधारण प्रकृति के अपराध में लगभग 8 माह, 1साल से जेल में बंद हैं, उन्हें यथाशीघ्र जमानत आवेदन प्रचालित करने के लिये सम्बंधित अधिवक्ता को निर्देश दिया गया। 

मंडल कारा के अस्पताल में भी हर समय दवा उपलब्धता की सुनिश्चितता को निर्देश दिया गया। निरीक्षण के समय जेलर रामेश्वर राउत एवं अभियोजन पदाधिकारी राजेश पाठक उपस्थित थे।

Share Button

Related News:

आखिर क्यूं हुई मुख्यमंत्री के करीबी दुलारचंद यादव की गिरफ्तारी!
अंतरराष्ट्रीय कायस्थ एकता परिवार की नवगठित महिला संगठन बनी मिसाल
रेलवे पटरी पर मिला अज्ञात शव, फैली सनसनी
यादव सुन डीएसपी को आया गुस्सा, बेवजह वार्ड सचिव को थाना में अधमरा कर छोड़ा !
बस-तांगा की टक्कर में 1 बच्चा और 6 महिलाएं जख्मी, पर्यटन मित्र पुलिस को धन्यवाद
मातम पोसी हेतु नालंदा के महमदपुर पहुंचे मांझी, दिया न्याय का आश्वासन
पत्रकारों से बोले एसडीओ- 'अफसरों का पक्ष भी रखें'
राजगीर जू सफारी क्षेत्र में लगी आग, यूं धू-धू कर जल रहा
नालंदाः बिना आवंटन निकला ‘डूडा’ टेंडर, 2 माह से परेशान हैं 500संवेदक
₹5000 रिश्वत लेते रंगे हाथ ACB के हत्थे चढ़ा पुलिस ASI
2 मासूम भाई के हत्यारे ट्रेक्टर को लेकर दर्जन भर नामजद और 200 अज्ञात पर FIR
सीएम नीतिश कुमार की विकास को यूं पलीता लगा रहे हैं मंत्री श्रवण कुमार
5 साल में 300 फीसदी बढ़ी अमित शाह की संपत्ति
1.5 लाख रुपए घूस लेकर अपराधी को छोड़ने वाले बेउर थानाध्यक्ष समेत 5 पुलिसकर्मी गिरफ्तार
झारखंडी देशी शराब समेत 3 धराये, जैलो वाहन जप्त
अदद एफआईआर के लिए 8 माह भटकने के बाद पीड़ित पहुंचा लोक शिकायत
कुंदन पाहन के सरेंडर पर हाईकोर्ट ने लिया संज्ञान, प्रजेंटेशन देने का आदेश
आईआरबी की बहाली दौड़ में आधा दर्जन अभ्यर्थी बेहोश, एक की मौत
चर्चित हिलसा अश्लील वीडियो वायरल कांड का एक आरोपी पुनपुन से धराया
सरकारी स्कूल समेत अन्य सरकारी भवनों का हो रहा प्राईवेट इस्तेमाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

loading...
Loading...