फिर बोले सीएम नीतीश- कानून व्यवस्था और भ्रष्टाचार से समझौता नहीं

“ 73वें स्‍वतंत्रता दिवस के मौके पर पूरा देश तो डूबा हुआ है, साथ-साथ बिहार में भी इसको लेकर लोगों में उत्साह देखने को मिल रहा है। बिहार के कोने-कोने में लोग तिरंगे को सलामी दे रहे हैं………….”

पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने राजधानी पटना के एक अणे मार्ग स्थित मुख्‍यमंत्री आवास में 73वें स्‍वतंत्रता दिवस पर झंडोत्‍तोलन किया और तिरंगे को सलामी दी।

इस अवसर पर मुख्‍य समारोह गांधी मैदान में आयोजित किया गया। गांधी मैदान में भी सूबे के मुख्‍यमंत्री सीएम नीतीश कुमार ने झंडोत्‍तोलन किया। गांधी मैदान में परेड की सलामी के साथ विभिन्न विभागों की झांकियां प्रस्तुत की गयी।

गांधी मैदान में झंडा फहराने के बाद सभी राज्यवासियों को सीएम नीतीश कुमार ने स्वतंत्रता दिवस की बधाई देते हुए सम्बोधित किया कि उनकी सरकार न्याय के साथ विकास के सिद्धांतों पर चल रही है और आगे बढ़ रही है। बिहार में कानून का राज कायम है। क्राइम, भ्रष्टाचार और कम्यूनलिज्म से समझौता हमारी सरकार नहीं करेगी।

2011 से अब तक 1 करोड़ 93 लाख लोगों को लोक सेवाओं का अधिकार कानून के तहत प्राप्त हुआ है। लोक शिकायत निवारण कानून के तहत पांच लाख आवेदन की सुनवाई हुई है।

शराबबंदी को लेकर जागरूकता अभियान चलाया जाना भी जरूरी है। जिन्हें पीने की लत है वो मुझे कुछ भी कहते नजर आते हैं। कुछ पढ़े लिखे लोग कानून को अपना अधिकार समझने का काम करते हैं, जो कतई सही नहीं है।

उन्होंने कहा कि हमलोगों ने 2016 में शराबबंदी की। जिसके बाद 2016 से 2018 तक डब्लयूएचओ ने शराबबंदी पर सर्वे करने का काम किया। शराबबंदी का परिणाम सकारात्मक रहा।

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि शराब के कारण सड़क दुर्घटना, आपसी झगड़े, मिर्गी का रोग, मुंह का कैंसर, लिवर का कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर जैसी बीमारियां होती हैं। जो शराब को लेकर गड़बड़ करेंगे उनपर कार्रवाई हमारी सरकार करेगी। सरकारी कर्मचारियों को सेवा में रहने नही दिया जाएगा।

मुख्‍यमंत्री भ्रष्टाचार से कतई समझौता हम नहीं करेंगे। रिश्तखोरी और पद का दुरुपयोग करने वालों के खिलाफ कारवाई आगे भी जारी रहेगी।

उन्होंने कहा कि सभी को समझना होगा भ्रष्ट्राचार से अर्जित धन गलत होता है। इसका खामियाजा भुगतना भविष्य में पड़ेगा। जाति आय समेत तमाम प्रमाण पत्रों के लिये लोगों को चक्कर लगाना पड़ता था, लेकिन अब ऐसी स्थित नहीं रह गयी है।

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि घर-घर बिजली का कनेक्शन हम लोगों का लक्ष्य था जिसे हमने पूरा करने का काम किया। 7 निश्चय के तहत घर-घर बिजली देने का लक्ष्य रखा था जिसे दो महीने पहले ही पूरा कर लिया गया। हर घर नल का जल इसके लिये अगले साल तक काम पूरा कर लिया जाएगा। हमारी सरकार शौचालय निर्माण इस साल के अंत तक पूरा कर लेगी।

उन्होंने कहा कि वर्षा कम होना चिंता का विषय है। लगातार वर्षा की कमी हो रही है जिससे भू जल स्तर नीचे जा रहा है जबतक लोगों मे जागृति नही आएगी इसमें सुधार संभव नहीं।

गांधी मैदान में 15 सरकारी विभागों की झांकियां प्रस्तुत की गयी। इसमें मद्य निषेध उत्पाद एवं निबंधन विभाग‘मद्य निषेध’विषय पर, उपेन्द्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान, उद्योग विभाग ‘बिहार के उन्नत हस्तशिल्प’ विषय पर, पर्यटन निदेशालय ‘विश्वशांति स्तूप, राजगीर’ विषय पर, पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग (पशुपालन), ‘जलवायु परिवर्तन-पशुओं के ऊपर उसका प्रभाव एवं उपशमन विषय पर, कृषि विभाग ‘जल की प्रत्येक बूंद से अधिक उत्पादन’ विषय पर, जीविका ‘सामाजिक मुधों पर संघर्षरत जीविका दीदियां विषय पर, बिहार पुलिस भवन निर्माण ‘त्वरित विधि व्यवस्था एवं अनुसंधान की विशेष पहल’’ की ओर आधुनिकतम सूचना तकनीक एवं विधि विज्ञान प्रयोगशाला से लैस ‘‘संयुक्त भवन’’ विषय पर, बिहार शिक्षा परियोजना परिषद की ओर से ‘उन्नयन बिहार’ विषय पर, महिला विकास निगम (समाज कल्याण विभाग) की ओर से ‘बाल विवाह एवं दहेज उन्मूलन’ विषय पर, बिहार राज्य सहकारी बैंक ‘बिहार राज्य फसल सहायता योजना को केन्द्र में रखते हुए सहकारिता विभाग में एमआईएस योजना’ विषय पर, कला, संस्कृति एवं युवा विभाग ‘बुद्ध सम्यक् दर्शन संग्रहालय-सह-स्मृति स्तूप’ विषय पर, राज्य स्वास्थ्य समिति की ओर से ‘सीमित परिवार-खुशियां आपार’ विषय पर और इसके अलावा ऊर्जा विभाग (ब्रेडा), नगर विकास एवं आवास विभाग, बिहार, पथ निर्माण विभाग भी झांकियां निकली।

गांधी मैदान में झंडोत्‍तोलन के पहले सीएम नीतीश ने परेड का निरीक्षण किया। इस अवसर पर आसमान में रंग-बिरंगे गुब्बारे उड़ाए गये। परेड की कमान 2016 बैच के आईपीएस व पटना सदर एएसपी किरण कुमार गोरख जाधव के जिम्मे थी। इसके बाद उन्होंने राष्‍ट्रीय ध्‍वज फहराया और सलामी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.