प्रो. परमानंद पंडित बने एसयू कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य, संभाली कुर्सी

Share Button

हिलसा (चन्द्रकांत)। एसयू कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य बनाए गए डॉ परमानंद पंडित। मगध विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा जारी पत्र के हस्तगत होते ही मंगलवार को डॉ पंडित ने प्रभारी प्राचार्य का पदभार ग्रहण किया। पदभार ग्रहण करते ही कॉलेज कर्मी डॉ पंडित को फूल मालाओं से लादकर गर्मजोशी से स्वागत किया।

हाईकोर्ट के आदेश के बाद राजेश शुक्ला के प्राचार्य पद से हटते ही प्राचार्य का पद रिक्त हो गया था। विश्वविद्यालय प्रशासन स्थाई प्राचार्य की नियुक्ति तक कॉलेज के वरीय शिक्षक को प्रभारी प्राचार्य बनाए जाने का निर्णय लिया था।

एसयू कॉलेज के वरीय शिक्षक के रुप में कार्यरत डॉ एलएस ठाकुर ने प्रभारी प्राचार्य बनने से साफ तौर पर इंकार कर गए। डॉ ठाकुर के रिफ्युजल के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा राजनीतिशास्त्र के विभागाध्यक्ष पद पर तैनात डॉ परमानंद पंडित को प्रभारी प्राचार्य की जिम्मेवारी सौंप दी।

एसयू कॉलेज के 28 वें प्राचार्य हुए डॉ पंडित  वर्ष 1996 इसी कॉलेज में बतौर व्याखाता के पद पर योगदान दिए थे। सुशील एवं मधुरभाषी डॉ पंडित कॉलेज के वित्तेक्षक के अलावा एनएसएस के पदाधिकारी भी रह चुके हैं।

पदभार ग्रहण करते ही डॉ पंडित ने कहा कि कॉलेज में शिक्षा-व्यवस्था को दुरुस्त करना हमारी पहली प्राथमिता होगी। कॉलेज की खोयी गरिमा को वापस लाने का भरसक प्रयास किया जाएगा।

इधर डॉ पंडित के प्रभारी प्राचार्य के पद पर योगदान देने पर कॉलेज कर्मी अरुण प्रसाद, डॉ राजीव नयन, अमरकांत सिंह, गुलाम मोहम्मद, देवनंदन प्रसाद, प्रो राकेश राजमणि, केदारनाथ सिंह, आलोक सिंह, जितेन्द्र प्रसाद, कुमार पवन, सुरेन्द्र प्रसाद, उगन सिन्हा, जैलेन्द्र प्रसाद, उमेश चौधरी, राकेश रंजन, सुनैना रानी, सियपाति देवी, श्यामनंद किशोर, शैलेश कुमार, मधुसूदन कुमार एवं गुड्डू कुमार आदि ने हर्ष व्यक्त किया। साथ ही प्रभारी प्राचार्य से कॉलेज और कर्मचारी हित में काम करने की उम्मीद जतायी।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.