पावापुरी महोत्सव का रंगारंग अगाज, अद्भुत है नालंदा की धरती : नीतीश 

Share Button

“सीएम नीतिश कुमार ने कहा कि ऐसा काम करें जिससे सबका मंगल हो। भगवान महावीर की जन्म भूमि कोई कुण्डलपुर तो कोई लछुआड़ बताते हैं । लेकिन हमलोग महावीर की जन्म भूमि वैशाली किताबों में पढ़े हैं ।  जन्म स्थान जहाँ हो है तो बिहार में ही।”

नालंदा ( राम विलास )। मंगलवार की शाम जैन तीर्थ क्षेत्र पावापुरी में दो दिवसीय पावापुरी महोत्सव का रंगारंग  अगाज हुआ।  इस महोत्सव का उद्घाटन करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा नालंदा की धरती  अद्भुत है । यहाँ के कण-कण में विरासत है।  ज्ञान भूमि, मोक्ष भूमि  और इतिहास भूमि  बिहार  है।

उन्होंने कहा कि नालंदा में नालंदा विश्वविद्यालय की पुर्नस्थापना की गयी है । पावापुरी में मेडिकल कॉलेज की स्थापना की गयी है । इन दोनों संस्थानों का अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विकास किया जायेगा ।

मुख्यमंत्री ने कहा पहली बार पावापुरी में राजकीय महोत्सव का  आयोजन किया गया है। इस  महोत्सव का आयोजन हर साल बेहतर  किया जायेगा ।

मुख्यमंत्री ने धनतेरस, दीपावली और छठ पर्व की बधाई और शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि सभी धर्मों  के रास्ते  अलग- अलग है लेकिन मंजिल  एक ही है । प्रेम, सद्भाव, शिक्षा देने वाला ही असली धर्म है । भगवान महावीर के संदेश जीओ और जीने दो की प्रासंगिकता बताते हुए कहा कि यह बहुत बड़ी शिक्षा है । इस हर प्राणी को आत्मसात करनी चाहिए । पृथ्वी, जीव-जन्तु, पशु- पक्षी सबके लिए यह संदेश है । सबको जीने देना चाहिए ।

नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार सरकार न्याय और विकास के साथ समाज सुधार के लिए काम कर रही है । कानून से सभी काम सफल नहीं हो सकता है । कुछ काम के लिए जन चेतना एवं जन समर्थन जरूरी है ।

उन्होंने आवाह्न किया कि बाल विवाह  और दहेज प्रथा के विरुद्ध सभी  एकजुट हो। दहेज वाली शादी में नहीं शामिल होने का सुझाव मुख्यमंत्री ने दिया ।

उन्होंने कहा कि बिहार में 39 फीसदी बाल विवाह हो रहे हैं । यह सामाजिक कलंक है । बाल विवाह करने से बच्चे बौना और बीमार पैदा होता है । अपराधिक घटनाओ में बिहार का 26 वा स्थान देश में है । लेकिन दहेज  उत्पीड़न के मामले में बिहार देश में दूसरे स्थान पर है । दहेज पर नियंत्रण हो गया तो बिहार आदर्श बन जायेगा ।

कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के मंत्री कृष्ण कुमार रिसी की जुबान शुरू में ही फिसल गयी । उन्होंने पावापुरी को भगवान महावीर की जन्म स्थल  बता दिया ।

उन्होंने कहा कि सामाजिक चेतना और विकास को लेकर प्रदेश का विकास हो रहा है । नालंदा, राजगीर  और पावापुरी में  पहले से ही विश्व स्तरीय धरोहर हैं । जैन  आचार्य लोकेश मुनि ने भगवान महावीर के संदेशो की प्रासंगिकता, हिंसा, अलगावबाद,  ग्लोबल वार्मिग  और गरीबी के निदान खोजने की आवश्यकता पर जोर दिया । उन्होंने कहा कि इसकी खोज महावीर के संदेश में मिल सकता है ।

जैन आचार्य ने नीतीश कुमार के शराबबंदी, बाल विवाह  और दहेज  आन्दोलन का समर्थन किया । नीतीश कुमार को उन्होंने गृहस्थ वेश में संन्यासी बताया । ग्रामीण कार्य मंत्री शैलेश कुमार की भी जुबान फिसली उन्होंने पावापुरी को महावीर का जन्मभूमि  पर बताया । 

उन्होंने कहा कि इसी पावापुरी से तीर्थंकर महावीर ने आखिरी संदेश विश्व कल्याण के लिए दिया था भगवान महावीर के आदर्शों संदेशों को स्वीकार  करने के लिए इन्होंने प्रेरित किया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नालंदा राजगीर और पावापुरी के विकास के लिए चिंतित हैं । बिहार के शराब शराब बंदी की दुनिया में डंका बज रहा है बाल विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ आंदोलन की भागीदारी की आवश्यकता पर जोर दिया।

ग्रामीण विकास एवं संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि बिहार परिवर्तन की ओर तेजी से बढ़ रहा है बिहार की देखा-देखी दूसरे प्रांतों में भी परिवर्तन की हवा चल रही है। बिहार के शराबबंदी की तारीफ करते हुए बाल विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ एक जन आंदोलन की आवश्यकता पर जोर दिया।

नालंदा के जिलाधिकारी डॉक्टर  त्यागराजन एस एम ने  आगत अतिथियों का स्वागत किया। वहीं अपर समाहर्ता संजीव कुमार सिन्हा ने धन्यवाद ज्ञापन किया।  इस अवसर पर सांसद कौशलेंद्र कुमार साध्वी संप्रज्ञा जी महाराज,  बिहार चंद्रसेन प्रसाद, रवि ज्योति कुमार, रीना यादव,  बिहार स्टेट दिगंबर जैन श्वेतांबर भंडारकर के चेयरमैन एवं  अन्य उपस्थित थे।

Related Post

177total visits,2visits today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...