पर्यवेक्षण गृह का निरीक्षण के दौरान जज मानवेंद्र मिश्र ने पर्यावरण-जल संरक्षण पर दिया बल

आज पर्यावरण-जल संरक्षण समस्या नहीं, बल्कि एक बड़ी आपदा की आहट दे रही है। इस पर समाज के हर वर्ग के लोग चिंतिंत हो उठे हैं.…”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क (बिहार शरीफ ब्यूरो)।  पर्यावरण और जल संरक्षण को लेकर किशोर न्याय परिषद के न्यायाधीश मानवेंद्र मिश्र और डीएसपी इमरान परवेज ने दीपनगर स्थित पर्यवेक्षण गृह का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने यहाँ रह रहे बाल कैदियों से बातचीत कर दी जा रही सुविधाओं की जानकारी ली।

इस अवसर पर उन्होंने बच्चों में जल और पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से वृक्षारोपण कर उसके महत्व के बारे में बताया गया।

इस वर्ष हुए भीषण गर्मी के बाद सभी सरकारी भवनों में जल संरक्षित करने का निर्देश दिया गया है। इसके लिए कार्यपालक अभियंता को लिखा गया है कि जल्द-जल्द प्राकलन तैयार कर इस दिशा में कार्य करें।

उन्होंने कहा कि आगमी 15 अगस्त को बच्चों के बीच पेंटिग, क्वीज प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा। जिसकी तैयारी करायी जा रही है। इस मौके पर बाल संरक्षण इकाई के निदेशक, किशोर न्यायालय के सदस्य मौजूद थे।

श्री मिश्र ने इसके पूर्व बच्चों से भी पर्यवेक्षण गृह में अपनी उपस्थिति में दर्जनों पौधे लगवाए और पर्यावरण सरक्षंण के तहत विधि विरुद्ध किशोर को जागरूक करने के उद्देश्य से जल सरक्षंण योजना के तहत पर्यवेक्षण गृह में सोख्ता (वाटर एब्जॉर्बर) का निर्माण की आवश्यकता जताई, ताकि पर्यवेक्षण गृह से निकलने वाले जल को सरंक्षित भी किया जा सके।

श्री मिश्र कहते हैं कि इससे बागवानी में भी मदद मिलेगी। बहुत हद तक वाटर लेवल ऊपर लाने वाले प्रयास भी सफल होंगे। विशेषकर आने वाली पीढ़ी जल ही जीवन है के महत्व को समझेगी।

उन्होंने पर्यवेक्षण गृह में शुरू किये गए मत्स्य पालन कार्यक्रम, सिलाई प्रशिक्षण कार्यक्रम आदि का भी निरीक्षण किया।

इस अवसर पर जिला बाल सरक्षण से विनोद ठाकुर, ब्रजेश मिश्र, सदर डीएसपी इमरान परवेज, सदस्य धर्मेंद्र कुमार, अभियोजन पदाधिकारी राजेश पाठक भी थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.