पढ़िए-देखिए… फेसबुक लाइव में क्या-क्या बोले डीजीपी

Share Button

“इस बार होली में कैसा माहौल बने? की पूरी दुनिया देखे कि ये बिहार की होली है, इस होली पर एक भी गोली ना चले, एक भी जगह कहीं विवाद ना हो, एक जगह भी कहीं उपद्रव न हो, हम सभी लोग शांति पूर्वक इस होली को मनाए…..”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज ।  फेसबुक लाइव करते हुए पटना डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने कहा कि होली हमारे सामने हैं, आगामी 21 तारीख को होली मनाई जाएगी।

उन्होंने कहा कि होली पर्व उत्तरी भारत के लिए आपसी सौहार्द का महापर्व माना जाता है और इसके लिए मैं पूरे देशवासियों और खासकर बिहार वासियों को होली की हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं और साथ ही साथ यह भी निवेदन करना चाहता हूँ।

खास करके हमारे नौजवानों से यह निवेदन करना चाहता हूं कि होली की तरह ही ईद मोहर्रम , रामनवमी यह सब उत्सव है इसमें हर जगह खुशी का माहौल होना चाहिए,हर जगह आनंद का माहौल होना चाहिए, लेकिन होली के अवसर पर बहुत लोग एक दूसरे से दुश्मनी निकालने का भी काम करते हैं।

होली के अवसर पर बहुत से लोग निजी कारणों से व्यक्तिगत स्वास्थ्य के लिए आपसी वैमनस्य भी पैदा करने की कोशिश करते हैं। आप दूसरे समुदाय के लोगों के ऊपर उसकी इच्छा के विरूद्ध अगर रंग डालेंगे तो आपसी सौहार्द बिगड़ने की आशंका बनी रहती है।

उसी तरह अगर आप अश्लील गाना बजाएंगे और किसी महिला पर उसकी इच्छा के बगैर अगर रंग डालेंगे और किसी तरह की छेड़खानी करेंगे तो गंभीर विधि व्यवस्था की समस्या उत्पन्न होगी और होली का आनंद भी खत्म हो जाएगा।

नौजवान बहुत ही भावुक होते हैं और उनके पास जीवन का अनुभव नहीं होता है ,उनके समझ में नहीं आता है कि वह क्या कर रहे हैं और इसका क्या परिणाम होगा।

उन्होंने कहा कि मैं नौजवानों को उनके अभिभावक की हैसियत से उन्हें यह सलाह देना चाहता हूं कि उनकी गर्मी के कारण उन्हें क्या नुकसान हो ये वे नहीं जानते, क्योंकि अब समय बदल गया है।

अब पुलिस का रिकॉर्ड पूरी तरह से डिजिटल हो रही है और अब किसी भी थाने के अंतर्गत कहीं भी आपका किसी केस में भी नाम आ जाता है तो पूरे बिहार के क्राइम रिकॉर्ड में आपका नाम चला जाएगा।

मुख्यालय के रिकॉर्ड से लेकर सभी क्राइम रिकॉर्ड में आपका नाम फ्लैश होगा। किसी लड़की के साथ अगर आप ने छेड़खानी कर दी। कहीं किसी पर आप ने रंग डाल दिया, कहीं कोई सड़क पर एक्सीडेंट होता है और अगर विधि व्यवस्था आप अपने हाथों में लेते हैं, रोड जाम करने लगते हैं, गाड़ी जलाने लगते हैं तो उस स्थिति में आप पर केस दर्ज हो जाएगा और वह एक केस आपके पूरे जीवन को बर्बाद कर सकता है।

अब डिजिटल रिकॉर्ड होने के कारण पूरे बिहार के थाने में आपका नाम चला जाएगा। पुलिस मुख्यालय में आप का रिकॉर्ड चला जाएगा, जिससे आपका नुकसान हो सकता है।

इसका दुष्परिणाम यह होगा कि आप किसी भी सरकारी सेवा के लिए योग्य नहीं रह जाएंगे। आप आईएस बन सकते हैं, आईपीएस बन सकते हैं, डॉक्टर बन सकते हैं, इंजीनियर बन सकते हैं। बिहार लोक सेवा आयोग की किसी प्रतियोगिता में आप शामिल हो सकते हैं।

इस प्रतियोगिता को ओपन करके अच्छी नौकरी पा सकते हैं, सिपाही बन सकते हैं ,चपरासी बन सकते हैं, सब इंस्पेक्टर बन सकते हैं। सरकारी सेवा में अगर बिहार के किसी भी थाना में कहीं भी आपका नाम रिकॉर्ड पर चढ़ गया तो हमेशा के लिए आप दागी हो जाएंगे और सरकारी सेवा के लिए अयोग्य हो जाएंगे।

नौजवानों को मैं उनके अभिभावक की हैसियत से उन्हें यह सलाह दे रहा हूं कि ऐसा कोई काम ना करें जिससे उनके कैरियर पर दाग लग जाए और वह अपना पूरा जीवन बर्बाद कर ले।

वैशाली में एसटीएफ के मुठभेड़ के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि बिहार पुलिस अब पूरी तरह से जाग चुकी है और ऐसे किसी भी सरगना गिरोह, अपराधियों का समूह को पूरी तरह से सफाया कर दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि वैशाली में एसटीएफ के द्वारा किए गए कार्रवाई में ओरिजिनल पिस्टल और भारी संख्या में कारतूस बरामद हुआ, भारी संख्या में उनके पास से कैश भी बरामद हुआ।

पूरे देश भर में यह सोना लूटने वालों का गिरोह था और ऐसे अपराधियों के गुरु जो भी है उनके विरुद्ध आप हमें सूचना देंकर हमारा सहयोग करें और कभी भी ,किसी भी परिस्थिति में जात-पात, मजहब संप्रदाय के सपोर्ट लेकर किसी भी अपराधी को समर्थन ना करें।

उन्होंने कहा कि वैशाली में एसटीएफ के द्वारा मारे गए तीन अपराधी दुर्दांत अपराधी थे और उनके पास से AK47 भी बरामद किया गया। पुलिस को देखते ही इन लोगों ने एके-47 क्या पूरा मैगजीन गोलियों की तकरार से खाली कर दिया पर हमारे जवान डटे रहे और अंततः उन अपराधियों को मार गिराया गया।

उन्होंने कहा कि मैं तमाम बिहार के बुद्धिजीवियों, असामाजिक लोगों से यह आग्रह करता हूं कि इस प्रकार के जितने लोग भी समाज में बैठे हैं, उन सभी लोगों का बहिष्कार करें और उनके खिलाफ पुलिस के सहयोग से उन्हें उनके जगह तक पहुंचाएं।

इसके लिए आप तमाम जनता बिहार पुलिस का सहयोग करें और इस होली को एक ऐतिहासिक होली के रुप में मनाए। वहीं उन्होंने साफ तौर पर पुलिस अधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि हमारे सारे पदाधिकारी और अधिकारी ध्यान से सुन ले।

यह हमेशा होता है कि होली में बहुत सारे पुलिसकर्मी भाग जाते हैं पर इस बार होली में ऐसा कुछ नहीं होगा, तमाम पुलिसकर्मी होली में ऑन ड्यूटी रहेंग। 2-2 घंटे पर सभी की हाजिरी लगेगी।

एसपी को निर्देश दिया गया है कि वह दोनों सभी जगहों पर हाजिरी ले और सुनिश्चित करें कि सभी अधिकारी और पदाधिकारी ऑन ड्यूटी हैं। वहीं कड़े शब्दों में डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने कहा कि होली के दिन चाहे वह सिपाही हो, हवलदार हो, सब इंस्पेक्टर, इंस्पेक्टर हो, थाना अध्यक्ष,एसपी हो।

यह तक की डीआईजी तक सभी को होली के अवसर पर ड्यूटी में लगे रहना है और सबसे बड़ी बात उन्होंने यह कहा कि किसी भी अधिकारी और पदाधिकारी को बिना वर्दी के नजर नहीं आएंगे,सभी लोग वर्दी में ही नजर आएंगे।

अगर कोई सादा वर्दी में दिख गया या सादा कपड़ा में कोई भी दिख गया चाहे वह अधिकारी हो या पदाधिकारी ,चाहे वह कोई भी स्तर के पदाधिकारी होंगे उन पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सिपाही से लेकर पदाधिकारी तक सभी पुलिस कर्मियों को वर्दी में दिखना है।

 

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...