पटना के बेऊर थाना प्रभारी राकेश यादव को 1.5 लाख घुस लेते निगरानी ने दबोचा

Share Button

पटना (INR)। निगरानी अन्वेषण ब्यूरो की टीम ने आज पटना में एक बड़ी कार्रवाई करते हुये पटना के बेऊर थानाध्यक्ष राकेश यादव को 1।25 लाख रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथ धर दबोचा। निगरानी की इस गोपनीय कार्रवाई के बाद पटना पुलिस में हड़कंप मच गया है।

खबर है कि बेऊर के थानाध्यक्ष राकेश यादव की शिकयत निगरानी अन्वेषण ब्यूरो को दो दिन पहले ही मिल गयी थी। एक फरियादी की शिकायत थी कि मारपीट के एक मामले में निबटारे को लोकर थानेदार द्वारा बड़ी रकम की मांग की जा रही है।

इसके बाद निगरानी टीम के अफसरों ने कार्रवाई की रणनीति तैयार एवं उसी रणनीति के तहत आज जैसे ही शिकायती रकम को लेकर थानेदार के पास वह पहुंचा, वहां पहले से ही अपनी जाल बिछा कर घात लगा बैठे निगरानी टीम ने धावा बोल दिया और रिश्वतखोर थानेदार राकेश यादव को रंगे हाथ दबोच लिया गया। निगरानी टीम का नेतृत्व डीएसपी स्तर के एक अधिकारी कर रहे थे।

बता दें कि हाल ही में प्रतिबंधित शराब के काले धंधे में संलिप्ता को लेकर एसएसपी मनु महाराज द्वारा समूचे बेऊर थाना लाइन हाजिर कर दिया गया था। उस मामले में बेउर थाने में तैनात दो पुलिस वाले को उनकी सेवा से बर्खास्त भी कर दिया गया था। ऐसे में थानेदार राकेश यादव की रिश्वतखोरी से साफ स्पष्ट होता है कि बेऊर थाना उस बड़ी कार्रवाई का भी कोई खास असर नहीं पड़ा।

निगरानी सूत्रों के अनुसार बेऊर थानेदार के खिलाफ कच्ची दरगाह के रहनेवाले अमरेंद्र कुमार ने शिकायत की थी। बेऊर में उनकी जमीन है। इस जमीन को लेकर दूसरे पक्ष से उनका विवाद चल रहा है। इस विवाद क सिलसिले में हुए बेऊर थाना में एफआइआर दर्ज कराना चाहते थे, लेकिन थानेदार एफआइआर दर्ज करने को तैयार नहीं था। तब परेशान होकर अमरेंद्र कुमार निगरानी के पास पहुंचे थे। ब्यूरो के महानिदेशक रवींद्र कुमार को पूरे मामले की जानकारी देकर कार्रवाई को अंजाम दिया गया है।

 

Share Button

Related News:

SBI बैंक में देखिये भ्रष्टाचार, मिड डे मिल का 100 करोड़ बिल्डर के एकाउंट में डाला
बिहार में शराब बंदी कानून, बहुत कठिन डगर है नालंदा पनघट की
अब ग्राम प्रधानों को मिलेगा प्रतिमाह एक हजार रुपए का मानदेय
हाथियों के झुंड का गांव पर हमला, किसान को कुचला
'मन रे गा' भ्रष्टाचार, कागज पर ही काम, लूट ली गई सरकारी राशि
सुशासन बाबू के घर आंगन में आज यूं तार-तार हो गया शिक्षा व्यवस्था
WhatsApp पर अभद्र टिप्पणी करने वाला सरकारी टीचर गया जेल
 भगवान विष्णु की मूर्ति प्रकटे, दो गांवों में भारी तनाव,ग्रामीणों का थाना पर चढ़ाई
सोशल मीडिया की ‘भारत बंद’ को नहीं भांप सका बिहार, कई जगहों पर आगजनी-हंगामा
हमारा लक्ष्य सिर्फ विकास और विकासः रघुबर दास
दहशत में महादलित, पुलिस से उठा भरोसा
सुनिए जनता की चित्कार, कब तक मरेंगे बच्चे, मेरे सरकार?
जज मानवेंद्र मिश्रा का विश्लेषणः उपेक्षित है राष्ट्रीय धरोहर ‘मनियार मठ’
मोदी मंत्रिमंडल के विस्तार के पूर्व गिरिराज, रुढ़ी समेत 6 मंत्रियों का इस्तीफा
है राजमणी देेवी का राज, लेकिन भाजपा नाराज !
नीतीश कुमार को अपने ही रिकार्ड को तोड़ने की होगी चुनौती
महापापी दलाल पत्रकार ब्रजेश ठाकुर को लेकर महिला आयोग का सामने आया दोहरा चरित्र
मां के मंदिर में मां का प्रवेश वर्जित, गलत धर्म-गलत परंपरा
सूचना के बाद भी नही चेता बिजली विभाग, करंट लगने से मवेशी की मौत 
डीएम के विम्स निरीक्षण के दौरान यूं नपे भगोड़े डॉक्टर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

loading...
Loading...